×

अद्भुत नजारा: समुद्र की लहरों में निकली रौशनी, 60 साल में पहली बार हुआ ऐसा

ऐसे में मैक्सिको के समुद्र में एक अनोखा दृश्य देखने को मिला। यहां लहरों से अचानक लाइट निकलने लगी। जिसको देख कर हर कोई हैरान हो गया।

Aradhya Tripathi
Updated on: 25 April 2020 7:14 AM GMT
अद्भुत नजारा: समुद्र की लहरों में निकली रौशनी, 60 साल में पहली बार हुआ ऐसा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार जारी है। इस खतरनाक वायरस के चलते दुनिया के कई देश पूर्णतया लॉकडाउन हैं। वैसे तो कोरोना वायरस की वजह से कई तरह की समस्याएं लोगों के सामने आ रहीं हैं। लेकिन कोरोना वायरस से एक फायदा भी है। दुनिया में भीड़भाड़ कम होने की वजह से दुनिया के कई देशों में प्रदूषण का स्टार ककाफी कम हो गया है। ऐसे में मैक्सिको के समुद्र में एक अनोखा दृश्य देखने को मिला। यहां लहरों से अचानक लाइट निकलने लगी।

समुद्र की लहरों से निकली रौशनी

मैक्सिको में समुद्र में एक अद्भुत नजारा देखा गया। जिसे देख कर हर कोई हैरान हो गया। असल में मैक्सिको के अकापुल्को के बीच पर समुद्र की लहरों से अचानक नीले रंग की रौशनी निकलने लगी। ये नजारा वाकई में अद्भुत था। जिसे देख कर हर कोई हैरान हो गया। कोरोना लॉकडाउन के चलते लोगों का घरों से बाहर निकलना कम ही है।

ये भी पढ़ें- लॉकडाउन में इस बैंक ने ग्राहकों के लिए किया बड़ा एलान, अब मिलेगी ये सुविधा

इस लिए समुद्र और बीच वगैरह पर भी कोई भीड़ भाड़ नहीं होती है। ऐसे में समुद्र में जीवों में एक अनोखी घाटना देखने को मिली। इस घटना को साइंटिफिक भाषा में Bioluminescent कहते हैं। जिसका मतलब होता है किसी जीव के शरीर से रोशनी निकलना। जो कि मैक्सिको के इस बीच पर हुआ।

60 सालों में पहली बार हुई ऐसी घटना

ये भी पढ़ें- Jio का धिन-चक प्लान: करेंगे दूसरों का रिचार्ज, कैशबैक से चमकेगा एकाउंट

जानकारी करने पर पता चला कि यह घटना सोमवार की है। जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसी घटना पानी में माइक्रोऑर्गेज्म के बायोकेमिकल रिएक्शन की वजह से होती है। ऐसी घटना की जानकारी लगते ही देश में लॉकडाउन जारी होने के बाद भी कई लोग लहरों से निकलती रंगीन रौशनी का अद्भुत नजारा अपने फ़ोन में कैद करने के लिए बीच पर पहुंच गए। जिससे बीच पर भीड़ भी एकत्र हो गई है। एक रिपोर्ट में ऐसा दावा किया गया कि बीते 60 सालों में पहली बार ऐसी घटना देखी गई।

ये भी पढ़ें- वैज्ञानिकों ने किया आगाह, मानसून में शुरु हो सकती है कोरोना की दूसरी लहर

मैक्सिको के अकापुल्को टूरिज्म बोर्ड का कहना है कि Puerto Marqués बीच की ये घटना माइक्रोऑर्गेनिज्म की वजह से हुए बायोकेमिकल रिएक्शन का बाइप्रोडक्ट है। वहीं कुछ लोग इस घटना का कारण बीच पर लोगों की कम मौजूदगी को बता रहे हैं। लेकिन मैरिन बायोलॉजिस्ट एनरिक अयाला डुवाल ने इस तथ्य को खारिज करते हुए कहा कि प्रोटीन, ऑक्सीजन, एडेनोसिन ट्राइफॉस्फेट और अन्य चीजों के रिएक्शन की वजह से ऐसी रोशनी निकलती है।

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story