×

वैज्ञानिकों ने किया आगाह, मानसून में शुरु हो सकती है कोरोना की दूसरी लहर

वैज्ञानिकों ने आगाह किया है कि भारत में मानसून के दौरान कोरोना वायरस की दूसरी लहर यानि Second Wave आ सकती है। वैज्ञानिकों का मानना है कि जुलाई के अंत में या फिर अगस्त महीने में कोरोना वायरस की दूसरी लहर आ सकती है।

Shreya
Updated on: 25 April 2020 6:44 AM GMT
वैज्ञानिकों ने किया आगाह, मानसून में शुरु हो सकती है कोरोना की दूसरी लहर
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। हर दिन सैकड़ों की तादाद में मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन की अवधि को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। ऐसे में ये उम्मीद की जा रही है कि मई आते-आते कोरोना के मामले आने की गति में कमी आएगी। इस बीच वैज्ञानिकों ने आगाह किया है कि भारत में मानसून के दौरान कोरोना वायरस की दूसरी लहर यानि Second Wave आ सकती है।

यह भी पढ़ें: गर्भवती महिला की उपचार के दौरान मौत, परिजनों ने लगाया चिकित्सकों पर आरोप

मानसून के दौरान आएगी कोरोना वायरस की दूसरी लहर

वैज्ञानिकों का मानना है कि देश में मानसून के दौरान यानि जुलाई के अंत में या फिर अगस्त महीने में कोरोना वायरस की दूसरी लहर आ सकती है। इस दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या अचानक काफी तेजी से बढ़ सकती हैं।

इन हालातों पर निर्भर करेगा कोरोना का फैलना

वैज्ञानिकों ने राय दी है कि कोरोना वायरस के संक्रमण का फैलना इस बात पर डिपेंड करेगा कि सोशल डिस्टेंसिंग का कैसे पालन किया जाता है। साथ ही यह भी देखना जरुरी होगा कि लॉकडाउन खत्म होने या फिर इसमें ढील देने के बाद किस स्पीड से कोरोना के मामले सामने आते हैं।

यह भी पढ़ें: प्रदेश में चार दिनों तक बदला रहेगा मौसम का मिजाज, चलेगा आंधी-पानी का दौर

अचानक से एक बार फिर बढ़ सकते हैं संक्रमण के मामले

शिव नादर यूनिवर्सिटी के गणित विभाग (Math Department) में एसोसिएट प्रोफेसर समित भट्टाचार्य के मुताबिक, फिलहाल कोरोना के नए मामले सामने आने का ग्राफ एक स्तर पर स्थिर है। वह धीरे-धीरे नीचे आएगा। ग्राफ को नीचे गिरने में कुछ हफ्ते या महीने भी लग सकते हैं। इसके बावजूद अचानक से एक बार फिर संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि यही संक्रमण का दूसरा दौर होगा।

लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी जारी रखने होंगे कुछ प्रतिबंध

IISC और TIFR के शोधकर्ताओं की ओर से किए गए अध्ययन में सिफारिश की गई है कि लॉकडाउन खत्म होने पर भी कुछ प्रतिबंध जारी रखी जाए। बता दें कि देश में COVID​​- 19 की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 775 हो गई जबकि कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों की आंकड़ा 24 हजार को पार कर चुका है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, कोविड-19 के 17,610 मरीजों का अभी भी इलाज चल रहा है, जबकि 4,748 लोग ठीक हो चुके हैं और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी मिल चुकी है।

यह भी पढ़ें: UP में एक ही परिवार के 19 लोग हुए कोरोना संक्रमित, प्रशासन में मचा हड़कंप

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story