×

अमेरिका अब साइकिल पर: सबसे ताकतवर देश का बदला रूप, ये बना वजह

अमेरिका में साइकिल की बिक्री का ये आलम है कि दुकानदारों के पास साइकिल का स्टॉक नहीं बचा है। दुकानों पर साईकिल कम पड़ गईं हैं।

Aradhya Tripathi
Updated on: 21 May 2020 8:31 AM GMT
अमेरिका अब साइकिल पर: सबसे ताकतवर देश का बदला रूप, ये बना वजह
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

पिछले कुछ महिनों से पूरी दुनिया में कोरोना वायरस ने तबाही मचा रखी है। इस वायरस ने लोगों की पूरी जिंदगी को बदल कर रख दिया है। ऐसा ही कुछ नजारा देखने को मिला अमेरिका में। अमेरिका में कोरोना वायरस ने जमकर कहर बरपाया है। जो अभी भी जारी ही है। ऐसे में इस वायरस से बचने के लिए लोग सार्वजनिक वाहनों का इस्तेमाल करने से बाख रहे हैं। जिसके चलते अमेरिका में साइकिल की बिक्री बढ़ गई है। क्योंकि लोगों ने सार्वजनिक वाहनों का इस्तेमाल करने की बजाय साइकिल पर ज्यादा भरोसा जताना शुरू कर दिया है।

अमेरिका में बढ़ी साइकिल की बिक्री

कोरोना वायरस ने लोगों को जिंदगी में बहुत बदलाव लाया है। जैसे मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग पालन करना जैसे कई बदलाव हमेशा के लिए लोगों ने अपना लिए हैं। ऐसे में सबसे शक्तिशाली देश में अमेरिका में लोगों ने इस वायरस से खुद को बचाव के लिए अब साइकिल खरीदना और उससे चलना शुरू कर दिया है। अमेरिका में साइकिल की बिक्री का ये आलम है कि दुकानदारों के पास साइकिल का स्टॉक नहीं बचा है। दुकानों पर साईकिल कम पड़ गईं हैं। दो महीने पहले जिन दुकानों में साइकिल का स्टॉक भरा था

ये भी पढ़ें- ये नम्बर पाकिस्तान का है, गौर से देख लें, कभी भी आ सकती है जासूसी के लिए कॉल

वहां अब साइकिल मिलना मुश्किल हो रहा है। डिमांड बढ़ने से अमेरिका साइकिलों की गंभीर कमी से जूझ रहा है और इसके चलते ग्लोबल सप्लाई चेन पर भी असर पड़ा है। अमेरिका में साइकिल की ये बिक्री बढ़ने का कारण देश में कोरोना वायरस के द्वारा मची तबाही है। कोरोना वायरस के इस हाहाकार ने लोगों की जिंदगी को पूरी तरह से अस्त-व्यस्त कर दिया है। अब लोगों में ये कोरोना वायरस का ही खौफ है जो लोग लक्जरी गाड़ियों और सार्वजनिक वाहनों को छोड़ कर साइकिल का इस्तेमाल कर रहे हैं। लोगों का मानना है कि वो इससे खुद को फिट भी रखेंगे और कोरोना के संक्रमण से भी सुरक्षित रह सकेंगे।

अमेरिका सहित ब्रिटेन और फ्रांस में भी बढ़ी साइकिल की मांग

अंग्रेजी मीडिया के मुताबिक ब्रुकलिन में तो साइकिलों की बिक्री 600% तक बढ़ गई है. ज्यादातर दुकानदार तीन गुना से ज्यादा साइकिले बेच चुके हैं। लेकिन अब भी साइकिल की मांग कम नहीं हो रही है। जानकी दुकानदारों के पास स्टॉक कम पड़ गया है। फिनिक्स, सिएटल में बिक्री तीन गुना बढ़ी है। वॉशिंगटन डीसी के एक दुकानदार का कहना है कि अप्रैल तक स्टोर की सभी साइकिलें बिक चुकी थीं। मार्केट रिसर्च फर्म एनपीडी ग्रुप का कहना है कि कोरोना वायरस के चलते मार्च में साइकिल की बिक्री बढ़ गई है साथ ही साथ रिपेयरिंग और इक्विपमेंट की खरीद भी दोगुना हो गई है।

ये भी पढ़ें- मिलेंगे 7500-7500 रुपये: सरकार ने किया ये ऐलान, हाथों-हाथ मिल रही पहली किश्त

बजार में लेजर बाइक्स की बिक्री 121%, इलेक्ट्रिक बाइक्स की बिक्री 85%, फिटनेस बाइक की बिक्री 66%, तो वहीं बच्चों की साइकिल की बिक्री 59% तक बढ़ गई है। सिर्फ अमेरिका ही नहीं ब्रिटेन और फ्रांस में भी साइकिलों की बिक्री इजाफा हुआ है। कई वर्षों के बाद आज फिर साइकिल की मांग और अहमियत इतनी ज्यादा बढ़ गई है। न्यूयॉर्क ने 322 किमी सड़कें सिर्फ पैदल और साइकिल यात्रियों के लिए रखी हैं।

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story