×

चीन का बड़ा एलान: अब इन जानवरों का शिकार करने पर होगी कड़ी सजा

चीन के वुहान प्रांत से कोरोना वायरस की शुरूआत हुआ, जिसने आज पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। कोरोना वायरस महामारी के शुरूआत से ही कहा जा रहा है कि यह वायरस चमगादड़ से फैला है।

Shreya
Updated on: 22 May 2020 6:43 AM GMT
चीन का बड़ा एलान: अब इन जानवरों का शिकार करने पर होगी कड़ी सजा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: चीन के वुहान प्रांत से कोरोना वायरस की शुरूआत हुआ, जिसने आज पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। कोरोना वायरस महामारी के शुरूआत से ही कहा जा रहा है कि यह वायरस चमगादड़ से फैला है। इस महामारी को लेकर चीन पर कई आरोप भी लगाए जाते रहे हैं। वहीं इस बीच चीन ने बड़ा फैसला करते हुए चमगादड़ और पेंगोलिन जैसे जंगली जानवरों के शिकार पर सख्त सजा देने का एलान किया है।

यह भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच इंडिया और साउथ अफ्रीका का हो सकता है मैच, चल रही ये तैयारी

जंगली जानवरों का व्यापार करने पर भी होगी सजा

इसके अलावा चीन ने यह भी कहा है कि जंगली जानवरों का व्यापार करने पर भी सजा दी जाएगी। चीन ने कहा है कि वुहान और शंघाई के बाजारों में जंगली जानवरों का मांस नहीं बिकेगा। कोरोना वायरस इंसानी शरीर तक पहुंचने में हमेशा से ही चमगादड़ों को कारण माना गया है, जो चीन के कुछ बाजारों में बेचे जाते हैं। हालांकि अभी इस बात की वैज्ञानिक पुष्टि नहीं हो पाई है।

CPPCC को आज संबोधित करेंगे शी जिनपिंग

चीन में सरकार की शीर्ष राजनीतिक सलाहकार संस्था चाइना पीपुल्स पॉलिटिकल कंसल्टेटिव कॉन्फ्रेंस (CPPCC) की वार्षिक बैठक का आज दूसरा दिन है। इस वार्षिक बैठक को आज राष्ट्रपति शी जिनपिंग संबोधित करेंगे। बता दें कि इससे पहले शी जिनपिंग ने आधिकारिक भोज कार्यक्रमों में Vegetarian भोजन रखने के आदेश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: पति के प्यार में कोरोना का डर भूलीं सुहागिन, वट सावित्री की पूजा कर मांगी लंबी उम्र

CPPCC के सामने जिनपिंग रखेंगे ये प्रस्ताव

चीनी सरकारी मीडिया के मुताबिक, शाकाहारी भोजन को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रपति शी जिनपिंग चाइना पीपुल्स पॉलिटिकल कंसल्टेटिव कॉन्फ्रेंस (CPPCC) के सामने एक प्रस्ताव भी रखने वाले हैं। उनका कहना है कि सरकार द्वारा रोक लगाए जाने के बावजूद भी अब भी कई आधिकारिक भोज कार्यक्रमों में जंगली जानवरों का मांस परोसा जाता है।

CPPCC प्रवक्ता गुओ विमिन ने बताया कि सरकार की इस शीर्ष राजनीतिक सलाहकार संस्था की उप समिति जंगली जानवरों को नागरिक आहार से बाहर किए जाने को लेकर काम भी कर रही है। इस बारे में CPPCC में एक प्रस्ताव भी पेश किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: लोन चुकाने की चिंता: EMI पर RBI ने दिया 3 महीने की फुर्सत, बैंक नहीं दे सकेंगे दबाव

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story