Top

चीन ने किया हमला: अमेरिका से इस तरह ले रहा बदला, बन रहे जंग के हालात

कोरोना के संकटग्रस्त हालातों के चलते अमेरिका और चीन के बीच टकराव थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। ऐसे में अमेरिकी कार्रवाई का जवाब देते हुए चीन अब 11 अमेरिकी सांसदों और नागरिकों पर रोक लगाने जा रहा है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 10 Aug 2020 12:33 PM GMT

चीन ने किया हमला: अमेरिका से इस तरह ले रहा बदला, बन रहे जंग के हालात
X
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की फाइल फोटो
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। कोरोना के संकटग्रस्त हालातों के चलते अमेरिका और चीन के बीच टकराव थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। ऐसे में अमेरिकी कार्रवाई का जवाब देते हुए चीन अब 11 अमेरिकी सांसदों और नागरिकों पर रोक लगाने जा रहा है। बता दें, इससे पहले अमेरिका ने बीते शुक्रवार को हॉन्गकॉन्ग के मुद्दे को लेकर 11 चीनी अधिकारियों पर रोक लगा दी थी। जिसका चीन सूतसमेत बदला ले रहा है।

ये भी पढ़ें... राजस्थानः BJP और RLP विधायकों की 11 अगस्त को बैठक, शामिल नहीं होंगी वसुंधरा राजे

अमेरिकी सांसदों का आचरण बिल्कुल गलत

ऐसे में अमेरिका की इस कार्यवाही का जवाब देते हुए चीन ने सोमवार यानी आज टेड क्रूज और मैक्रो रुबियो सहित 11 अमेरिकी सांसदों और नागरिकों पर प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है।

जिसके चलते चीन ने कहा है कि हॉन्ग कॉन्ग के मुद्दे पर कुछ अमेरिकी सांसदों का आचरण बिल्कुल गलत था जिसकी वजह से उन पर प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं।

साथ ही चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजिआन ने कहा, अमेरिका हालात को समझने की कोशिश करे और चीन के आंतरिक मामले में दखल देना बंद करे। आगे झाओ ने कहा कि अमेरिका के इस कदम से अंतरराष्ट्रीय कानून का गंभीर रूप से उल्लंघन हुआ है।

ये भी पढ़ें...जम्मू कश्मीर IAS शाह फैजल ने राजनीति से लिया संन्यास

चीन-अमेरिका

कई देश बढ़-चढ़कर विरोध कर रहे

इसके अलावा अमेरिका ने शुक्रवार को हॉन्ग कॉन्ग चीफ एग्जेक्यूटिव कैरी लैम की अमेरिकी संपत्तियों को भी जब्त करने का ऐलान किया था। चीन ने हॉन्ग कॉन्ग पर अपना नियंत्रण बढ़ाने के लिए नया सुरक्षा कानून लागू किया है जिसका अमेरिका समेत कई देश बढ़-चढ़कर विरोध कर रहे हैं।

जानकारी के लिए बता दें, कि हॉन्गकॉन्ग के मुद्दे पर चीन पूरी दुनिया में बुरी तरह घिरा हुआ है। ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन भी हॉन्ग कॉन्ग की स्थिति को लेकर चिंता व्यक्त कर चुके हैं।

वहीं ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने कहा था कि वह हॉन्ग कॉन्ग के नागरिकों का अपने देश में स्वागत करने के प्रस्ताव पर विचार कर सकती है। लेकिन चीन ने ऑस्ट्रेलिया को भी चेतावनी देते हुए कहा था कि वह गलत रास्ते पर आगे ना बढ़े। ऐसे में देशों के बीच टकरार लगातार बढ़ती ही जा रही है।

ये भी पढ़ें...सियासी हड़कंप: इस कांग्रेसी विधायक ने CM योगी को बताया अपना राजनैतिक गुरू

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story