×

कोरोना: शरीर के इन अंगों को बुरी तरह प्रभावित कर रहा वायरस, नए अध्‍ययन में सामने आई बात

आये दिन कोरोना डॉक्टरों और वैज्ञानिकों के सामने नया चैलेंज ले कर आ रहा है। कभी बिना लक्षण वाले मरीज, तो कभी कोरोना के अलग-अलग लक्षण सामने आने से वैज्ञानिकों के भी हाथ पांव फूलने लगें हैं।

Ashiki
Published on: 15 May 2020 3:08 AM GMT
कोरोना: शरीर के इन अंगों को बुरी तरह प्रभावित कर रहा वायरस, नए अध्‍ययन में सामने आई बात
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्‍ली: दुनियाभर में तबाही मचा रहे कोरोना वायरस की जड़ की पकड़ पाने में तमाम बड़े वैज्ञानिक भी असफल नजर आ रहे हैं। आये दिन कोरोना डॉक्टरों और वैज्ञानिकों के सामने नया चैलेंज ले कर आ रहा है। कभी बिना लक्षण वाले मरीज, तो कभी कोरोना के अलग-अलग लक्षण सामने आने से वैज्ञानिकों के भी हाथ पांव फूलने लगें हैं। अभी हाल में कोरोना मरीजों पर हुए एक नए अध्ययन के मुताबिक पता चला है कि यह वायरस शरीर के कई अंगों पर भी असर डाल सकता है।

ये भी पढ़ें: होंगे धनवान या करेंगे संघर्ष, जानिए जातक की उंगलियों में बने शंख का रहस्य

युवाओं में स्ट्रोक का कारण

अध्‍ययन में सामने आया है कि यह आंतों, गुर्दे और शरीर के कई अन्य अंगों को बुरी तरह संक्रमित कर सकता है। इस अध्‍ययन से मिले रिजल्ट्स के आधार पर पता चला है कि कोरोनो वायरस रोगियों में रक्त के थक्कों सहित कुछ अस्पष्ट लक्षण भी दिखें हैं, जो युवाओं में स्ट्रोक का कारण बनते हैं। इतना ही नहीं ये सिरदर्द और गुर्दे के फेल होने के लिए भी जिम्‍मेदार हैं।

दुनियाभर में कोरोना को लेकर भ्रम

हालांकि दुनिया भर में कोरोना वायरस फ़ैल चूका है और सभी देशों सरकारें इसके प्रसार को रोकने के लिए तमाम उपाय कर रही हैं। इसलिए अभी भी कोरोना वायरस को लेकर बहुत भ्रम है कि यह वायरस वास्‍तव में लोगों के शरीर में क्या करता है। एक अध्ययन के मुताबिक हांगकांग के विश्वविद्यालय में जी झोउ और उनके सहयोगियों ने मिलकर चमगादड़ और इंसानों के आंतों के ऑर्गनॉयड को अंगों के लैब डिश संस्करणों में बढ़ाया। रिजल्ट में उन्होंने पाया कि वायरस न केवल इन ऑर्गेनोइड्स में रहता था, बल्कि इनको दोहराता भी था।

ये भी पढ़ें: UP में मां, पिता, बहन और पत्नी की हत्या, बेटे ने सिर्फ इसलिए सबको मार डाला

इसके आलावा जर्मनी में यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर हैम्बर्ग-एपपॉर्फेन की एक टीम ने कोरोना से मरने वाले 27 रोगियों पर परीक्षण किया।इस संबंध में उन्होंने एक पत्र में लिखा है कि SARS-CoV-2 रोगियों के गुर्दे में पाया गया था जो कोरोनो वायरस रोगियों के विशिष्ट अंग को ज्‍यादा डेमेज करता है।

ये भी पढ़ें: दिल पर पत्थर रखकर पत्नी के कफन को सिलता रहा पति, तमाशबीन बनी रही पुलिस

यूपी के उद्यमियों की मुश्किल हुई आसान, सीएम योगी ने दी ये बड़ी राहत

अब रेल मंत्री का ममता सरकार पर बड़ा हमला, मजदूरों के मुद्दे पर लगाया ये आरोप

Ashiki

Ashiki

Next Story