Top

कोरोना संकट: PM इमरान खान का होगा तख्ता पलट! पाक सेना ने लिया ये बड़ा फैसला

कोरोना महामारी को रोकने में नाकाम पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की कुर्सी खतरे में पड़ गई है। अब कोरोना संकट की वजह से इमरान खान सरकार पर तख्ता पलट का खतरा मंडरा रहा है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 28 April 2020 4:39 AM GMT

कोरोना संकट: PM इमरान खान का होगा तख्ता पलट! पाक सेना ने लिया ये बड़ा फैसला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना महामारी को रोकने में नाकाम पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की कुर्सी खतरे में पड़ गई है। अब कोरोना संकट की वजह से इमरान खान सरकार पर तख्ता पलट का खतरा मंडरा रहा है।

बता दें कि कोरोना महामारी से निपटने में इमरान सरकार बुरी तरह फेल हो चुकी है। अब इमरान खान की सरकार पर पाकिस्तान सेना के हावी होने का मौका मिल गया है जिससे वहां तख्ता पलट की आशंका ने जन्म ले लिया है।

यह भी पढ़ें...गलत काम में फंसा ये भाजपा नेता: पार्टी ने लिया एक्शन, किया बर्खास्त

इमरान खान ने पाकिस्तान की आर्थिक हालत खराब होने की वजह से देश में लॉकडाउन नहीं करने का निर्णय लिया था। इसके बाद वहां कोरोना मरीजों की संख्या 12500 तक हो गई है, तो वहीं 250 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। नाकामी के बाद पाकिस्तान सेना इमरान खान की एक भी नहीं चलने दे रही है।

इमरान ने पाकिस्तान में लॉकडाउन नहीं करने का फैसला लिया था, लेकिन पाकिस्तानी सेना ने सरकार के इस फैसले को पलट दिया है। सरकार के फैसले के सिर्फ 24 घंटे बाद ही सेना ने पाकिस्तान में लॉकडाउन का एलान कर दिया है।

यह भी पढ़ें...दुनिया में 9 दिसंबर तक खत्म होगा कोरोना, जानिए भारत पर वैज्ञानिकों का दावा

इमरान खान ने लॉकडाउन नहीं करने के फैसले पर कहा था कि इससे लाखों लोग अपनी नौकरी खो देंगे और वो परिवार ज्यादा प्रभावित होंगे जो पहले से ही गरीबी रेखा के नीचे जीने को मजबूर हैं।

पाकिस्तान में सेना के लॉकडाउन की घोषणा के तुरंत बाद पूरे देश में फोर्स तैनात कर दी गई है। इतना ही नहीं अब पाकिस्तान में कोरोना वायरस से लड़ने की जिम्मेदारी सेना की राष्ट्रीय कोर समिति के पास है जो समय-समय पर दिशा-निर्देश जारी कर रही है।

यह भी पढ़ें...कोरोना: चीन ने दुनिया को फिर दिखाए तेवर, कहा- कुछ भी हो जाए, नहीं करवाएंगे जांच

कोरोना वायरस के नाम पर सेना ने इस तरह राजनीतिक फैसले लिया है जिसके बाद एक बार फिर वहां सवाल खड़ा हो गया है कि आखिरकार पाकिस्तान में शासक चुनी हुई सरकार है या फिर सेना। गौरतलब है कि इमरान खान साल 2018 में सेना की मदद से ही चुनकर सत्ता में आए थे। पाकिस्तान का विपक्ष भी यही आरोप लगाता है कि इमरान कठपुतली प्रधानमंत्री हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story