भयानक आतंकी हमला: 36 लोगों की मौत से हिल गया देश, अब आर-पार के मूड में सेना

गौरतलब है कि बुर्किना फासो के पड़ोसी देश माली और नाइजर हैं जहां अक्सर आतंकी हमले होते रहते हैं। इस पूरे इलाके में 2015 के आसपास आतंकी घटनाओं में इजाफा देखा गया।

नई दिल्ली: देश दुनिया पिछले कुछ सालों से आतंकवादी हमलों से परेशान है। पूरे विश्व में आतंकियों ने कोहराम मचाया हुआ है। अफ्रीकी देश बुर्किना फासो के उत्तरी गांवों में सोमवार को आतंकवादी हमले में 36 लोगों की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार सरकार ने मंगलवार को यह जानकारी देते हुए स्थानीय लोगों से जिहादियों के खिलाफ लड़ाई में सहयोग करने की अपील की है।

सरकार ने बनाया आर-पार का मूड

सरकार ने बताया, ‘‘आतंकवादी समूह’’ ने नागराओगो गांव के बाजार में हमला किया और 32 लोगों की हत्या कर दी। इससे पहले अलमाउ गांव में उन्होंने चार लोगों की हत्या की थी। इसमें बताया गया कि हमलों में तीन अन्य लोग घायल भी हुए हैं। स्थानीय नागरिकों पर लगातार हो रहे हमलों को ध्यान में रखकर सरकार ने लोगों से आत्म रक्षा एवं सुरक्षा बलों के साथ सहयोग करने की अपील की है।

ये भी पढें—इमरान का कश्मीर राग: डोनाल्ड ट्रंप ने फिर दिया मदद का भरोसा

बताते चलें कि बुर्किना फासो की संसद ने मंगलवार को सर्वसम्मति से एक कानून भी पारित किया, जिसमें जिहादियों के खिलाफ लड़ाई में स्थानीय स्वयंसेवकों की भर्ती करने की अनुमति दी गई है। इन लोगों को लड़ाई के लिए हथियार मुहैया कराए जाएंगे। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल साहेल क्षेत्र के तीन देशों में हुए जिहादी हमलों में करीब 4,000 लोग मारे गए थे।

इससे पहले हमले में 35 लोग मारे गए थे

बता दें कि इससे पहले क्रिसमस के दिन भी बुर्किना फासो में 35 लोग एक आतंकवादी हमले में मारे गए थे। हालांकि यहा सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 80 आतंकवादी भी मारे गए हैं। जानकारी के अनुसार मृतकों में ज्यादातर महिलाएं थी। वहीं इस आतंकी हमले में 7 जवान मारे गए थे। इस हमले के बाद राष्ट्रपति ने देश में 48 घंटे के लिए राष्ट्रीय शोक की घोषणा की थी।

ये भी पढें—आलिया की मां सोनी राजदान को लोगों ने कहा-‘शर्म आती है तुम पर’ जानिए पूरी बात

गौरतलब है कि बुर्किना फासो के पड़ोसी देश माली और नाइजर हैं जहां अक्सर आतंकी हमले होते रहते हैं। इस पूरे इलाके में 2015 के आसपास आतंकी घटनाओं में इजाफा देखा गया है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App