विमान क्रैश: कहीं गलती तो नहीं कर रहा ईरान, इस देश ने भी कर दिया था ऐसा

बालाकोट में भारत की ओर से की गई स्ट्राइक के बाद 27 फरवरी 2019 को पाकिस्तानी लड़ाकू विमान भारत में घुस आए थे।जवाबी कार्रवाई करने के दौरान भारतीय वायुसेना ने गलती से अपने ही एक हेलिकॉप्टर पर मिसाइल दाग दिया था।

नई दिल्ली: अमेरिका द्वारा ईरान के जनरल कासिम सुलेमानी को मारने के कारण इरान और अमेरिका के बीच काफी तनाव चल रहा है। इस तनाव में ईरान की ओर से इराक में अमेरिकी ठिकानों पर मिसाइल अटैक के कुछ घंटे बाद ही एक बोइंग प्लेन ईरान में क्रैश कर गया। बता दें कि इस क्रैश को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं।

ये भी देखें : ट्रांसजेंडर वेलफेयर बोर्ड की स्थापना जल्द : अजीत पवार

कहीं इरान ने खुद ही अपना प्लेन तो नहीं मार गिराया

ईरान में न्यूज़ एजेंसियों की ओर से जारी किए गए वीडियो में यह साफ़ दिखाई पड़ता है कि क्रैश से पहले विमान में आग लग गई थी। जिसके कारन इस सवाल उठ रहा है कि क्या ईरान ने खुद गलती से अपने ही यात्रियों को ले जा रहे प्लेन को तो नहीं मार गिराया।एक रिपोर्ट में कहा है कि हादसे के बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि तनाव के बीच गलती से तो विमान पर अटैक नहीं कर दिया गया।

एविएशन सेफ्टी एनालिस्ट टोड कर्टिस ने कहा है- ‘प्लेन बुरी तरह टुकड़ों में बंट गया था। इसका मतलब है कि या तो हवा में या जमीन पर विमान की भयंकर टक्कर हुई। इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि हवा में एयरक्राफ्ट की टक्कर किसी बाहरी चीज से नहीं हुई होगी।

ऐसा समझा जा रहा है कि अमेरिकी ठिकानों पर अटैक के बाद ईरान अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित है।उसे अमेरिका की ओर से हमला किए जाने का डर है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या उसने गलती से बोइंग विमान पर तो अटैक नहीं कर दिया।

ये भी देखें : केजरीवाल का ऐलान: इस विधानसभा क्षेत्र से लड़ेंगे चुनाव

जब भारतीय वायुसेना अपने ही हेलिकॉप्टर पर दागा था मिसाइल

बता दें कि बालाकोट में भारत की ओर से की गई स्ट्राइक के बाद 27 फरवरी 2019 को पाकिस्तानी लड़ाकू विमान भारत में घुस आए थे।जवाबी कार्रवाई करने के दौरान भारतीय वायुसेना ने गलती से अपने ही एक हेलिकॉप्टर पर मिसाइल दाग दिया था।हेलिकॉप्टर क्रैश में भारतीय वायुसेना के कई अधिकारियों की मौत हो गई थी।

वहीं, बुधवार की सुबह ईरान में क्रैश हुए बोइंग विमान में 176 लोग सवार थे।सभी लोगों की मौत हो गई है। यूक्रेन इंटरनेशनल एयरलाइन्स के विमान में सवार यात्रियों में सबसे अधिक (82) ईरान के ही थे। ईरान के 82 लोगों के साथ 63 कनाडाई, यूक्रेन के 11, स्वीडन के 10, अफनागिस्तान के 4, जर्मनी के 3 और यूके के 3 लोग सवार थे।

फ्लाइट रडार24 के मुताबिक, यूक्रेन इंटरनेशनल एयरलाइन की फ्लाइट ने सुबह 6.12 बजे यूक्रेन की राजधानी कीव के लिए उड़ान भरी थी।इसके कुछ देर बाद ही विमान क्रैश हो गया। प्लेन 4 साल से भी कम पुराना था और 2 दिन पहले ही इसकी सुरक्षा जांच की गई थी।

ये भी देखें : ईरान को मिला 20 करोड़ शिया का साथ, तो क्या ट्रंप को ये जंग पड़ेगी महंगी…

ईरान की राजधानी तेहरान से उड़ान भरने के कुछ ही मिनट बाद कीव जा रहा विमान क्रैश हो गया था।फिलहाल तेहरान में मौजूद यूक्रेन एम्बैसी की ओर से कहा गया है कि शुरुआती जांच में पता चला है कि इंजन में खराबी की वजह से हादसा हुआ।एम्बैसी ने क्रैश के पीछे हमले की आशंका को आधिकारिक तौर से खारिज किया है।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App