केजरीवाल का ऐलान: इस विधानसभा क्षेत्र से लड़ेंगे चुनाव

दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीख का ऐलान हो चुका है। आठ फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होगी, वहीं 11 फरवरी को चुनाव नतीजे आ जायेंगे।

केजरीवाल का ऐलान: इस विधानसभा क्षेत्र से लड़ेंगे चुनाव

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीख का ऐलान हो चुका है। आठ फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होगी, वहीं 11 फरवरी को चुनाव नतीजे आ जायेंगे। दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस ली है। अब खबरें हैं कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र से चुनावी मैदान में उतरेंगे।

गौरतलब है कि, केजरीवाल ने 2015 में हुए विधानसभा चुनावों में इसी सीट से जीत दर्ज की थी। वहीं विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस नेता अशोक कुमार अग्रवाल ने आप पार्टी को ज्वाइन कर लिया है। खबरों के मुताबिक, लंबे अरसे से ये चर्चाएं थी कि अशोक कुमार जल्द ही आप का दामन थाम सकते हैं।

यह भी पढ़ें: जल्लाद की ऐसी कहानी: दादा ने इंदिरा के हत्यारे को दी फांसी, तो पोता रचेगा इतिहास

फरवरी में खत्म हो रहा विधानसभा का कार्यकाल:

गौरतलब है कि फरवरी में दिल्ली विधानसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा है। 2015 में हुए दिल्ली विधानसभा चुनावों के दौरान आम आदमी पार्टी ने रिकॉर्ड तोड़ जीत हासिल की थी। दिल्ली की 70 में से 67 विधानसभा सीटों पर आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी जीते थे, लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावों में आप को जनता ने झटका दिया और आप एक भी सीट पर कांग्रेस या भाजपा से आगे नहीं रही।

8 फरवरी को होगी वोटिंग, 11 को आएंगे नतीजे

8 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होगी, वहीं 11 फरवरी को चुनाव परिणाम आ जायेंगे। इसके अलावा 21 जनवरी को उम्मीदवार नामांकन दाखिल कर सकेंगे। इसी के साथ दिल्ली में अचार संहिता लागू हो गयी है।

विधानसभा चुनाव की सभी 70 सीटों के लिए चुनाव होगा। राज्य  में 2,689 जगहों पर मतदान होंगे। दिल्लीु में कुल 1.46 करोड़ मतदाता हैं। बुजुर्ग मतदाता पोस्टवल बैलेट से मतदान में हिस्सां ले सकेंगे।

यह भी पढ़ें: ईरान के इस नेता ने कहा, अमेरिका हमारा जानी दुश्मन, जाने क्यों

हमने काम किया है तो वोट दें, नहीं तो न दें- केजरीवाल

वहीं चुनावों की तारीख आने के बाद सीएम केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों से काम के आधार पर वोट मांग रहे हैं। उनका कहना है कि, अगर हमने काम किया है तो लोग वोट दें, अगर नहीं किया तो न दें। केजरीवाल ने ये सारी बातें रविवार को एक प्रेस वार्ता के दौरान कहीं।

उन्होंने कहा कि, मैंने दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर काम किया है। सभी के बच्चे अच्छे स्कूलों में पढ़ते हैं। हमने पानी पहुंचाया तो ये नहीं सोचा कि किसके घर पहुंचाया। उन्होंने कहा कि, हम बीजेपी वालों के घर भी जाकर कहेंगे कि 70 सालों में पहली बार हमने पानी पहुंचाया।

यह भी पढ़ें: ये 5 तरीकें: महिलाओं की ऐसी परेशानियों को झटके में करते हैं दूर

बीजेपी और कांग्रेस के लिए बेहद ख़ास है ये चुनाव

भारत में साल 2020 में दो विधानसभा चुनाव होने है। इसमें दिल्ली विधानसभा चुनाव देश की दो बड़ी राष्ट्रीय पार्टियों बीजेपी और कांग्रेस के लिए बेहद ख़ास है। ऐसे में चुनाव की तारीखों के ऐलान से पहले ही भाजपा ने चुनावी रणनीति बनानी शुरू कर दी और इसका आगाज कर दिया। वहीं आज चुनाव आयोग के तारीखों का ऐलान कर दिया है।

वहीं बीजेपी के लिए भी ये दिल्ली विधानसभा चुनाव में जीत बेहद अहम होने वाली है। क्योंकि बीजेपी दिल्ली की सत्ता से सालों से से दूर है। भाजपा को रिकॉर्ड तोड़ते हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव जीत कर अपनी पकड़ को मजबूत करना है और सीएम की कुर्सी पर भी काबिज होना है। वहीं कांग्रेस विधानसभा चुनाव के जरिये ही दिल्ली में वापसी कर सकती है। कांग्रेस को आम आदमी पार्टी ने सत्ता से बाहर निकाल फेंका था लेकिन अब खुद आप के लिए दिल्ली की सत्ता पर अपनी पकड़ बनाये रखना मुश्किल हो गया है।

यह भी पढ़ें: साल 2020 का सबसे सस्ता फोन लांच, फीचर्स में इन बड़ी कम्पनियों को पछाड़ा