FATF ने सुनाया ऐसा फरमान, हिल गया पूरा पाकिस्तान, पढ़ें पूरा मामला

म्मू कश्मीर पर दुनिया भर से निराशा हाथ लगने के बाद पाकिस्तान को तगड़ा झटका लगा है। पेरिस में आयोजित फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स(एफएटीएफ) की बैठक में पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर बड़ी फटकार मिली है।

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर पर दुनिया भर से निराशा हाथ लगने के बाद पाकिस्तान को तगड़ा झटका लगा है। पेरिस में आयोजित फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स(एफएटीएफ) की बैठक में पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर बड़ी फटकार मिली है।

ये भी पढ़ें…सामने आई ये रिपोर्ट! इस मामले में भारत से आगे पाकिस्तान

एफएटीएफ ने उसे किसी भी तरह की राहत देने से इनकार किया है। उसे ग्रे लिस्ट में ही रखा गया है। पाकिस्तान से कहा गया है कि वह 27 बिंदुओं को फरवरी 2020 तक का हर हाल में पूरा कर लें। यदि वह ऐसा नहीं करता है तो है। एफएटीएफ उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए बाध्य होगा।

सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान ने आपसी मूल्यांकन पर बुरा प्रदर्शन किया है। इस बात की प्रबल संभावना है कि वह फरवरी 2020 में ब्लैकलिस्ट हो सकता है।

ये भी पढ़ें…पंजाब: भारतीय सीमा में फिर घुसे पाकिस्तानी ड्रोन, जांच में जुटी BSF

एफएटीएफ ने पाकिस्तान से कहा है कि वह फरवरी 2020 तक अपनी पूरी कार्ययोजना को तेजी से पूरा करने का एक्शन प्लान दे। यदि वह निश्चित समयावधि के अंतर्गत ठोस कदम नहीं उठाता है तो एफएटीएफ उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी।

उधर चीन, तुर्की और मलयेशिया के समर्थन के कारण पाकिस्तान ग्रे लिस्ट में ही है। अंरराष्ट्रीय संस्था के नियमों के अनुसार कोई भी देश किन्हीं तीन देशों का समर्थन हासिल करके ब्लैकलिस्ट होने से बच सकता है।

इस मामले पर पाकिस्तान को चीन, तुर्की और मलयेशिया का समर्थन मिला जिसके कारण वह फिलहाल ग्रे लिस्ट में ही रहेगा।

ये भी पढ़ें…हाई अलर्ट पर सेना: पाकिस्तान घाटी में रच रहा बड़े हमले की साजिश

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App