Top

दुनिया की GDP ग्रोथ पर कोरोना वायरस की पड़ेगी मार, यहां जानें कैसे

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने कहा है कि कोरोना वायरस से फैली महामारी के कारण दुनिया की अर्थव्यवस्था की रफ्तार सुस्त पड़ जाएगी। IMF ने कहा है कि इससे वैश्विक जीडीपी की ग्रोथ रेट में 0.1 से 0.2 प्रतिशत तक की गिरावट आ सकती है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 17 Feb 2020 4:02 PM GMT

दुनिया की GDP ग्रोथ पर कोरोना वायरस की पड़ेगी मार, यहां जानें कैसे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने कहा है कि कोरोना वायरस से फैली महामारी के कारण दुनिया की अर्थव्यवस्था की रफ्तार सुस्त पड़ जाएगी। IMF ने कहा है कि इससे वैश्विक जीडीपी की ग्रोथ रेट में 0.1 से 0.2 प्रतिशत तक की गिरावट आ सकती है।

IMF की प्रबंध निदेशक क्रिस्टलिना जॉर्जीवा ने कहा कि इस वर्ष कोरोना वायरस से फैली महामारी वैश्विक आर्थिक वृद्धि को क्षति पहुंचा सकती है। किन्तु इसके बाद तेजी से आर्थिक सुधार देखने को मिल सकता है।

IMF की प्रबंध निदेशक ने दुबई में 'ग्लोबल वीमेंस फोरम' में रविवार को बताया है कि ग्लोबल इकॉनमी के विकास दर में गिरावट आ सकती है। हमारा अनुमान है कि यह गिरावट 0.1-0.2 प्रतिशत के लगभग होगी।' उल्लेखनीय है कि रेटिंग एजेंसी मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने वर्ष 2020 के लिए भारत और चीन के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) ग्रोथ अनुमान को कम किया है।

मूडीज ने कहा कि नोवेल कोरोना वायरस के कहर की वजह से अन्तर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में जो सुस्ती आई है, उसकी वजह से भारत के जीडीपी ग्रोथ की रफ्तार कम हो सकती है। उसने कहा है कि भारत में अब किसी भी किस्म के आर्थिक सुधार को उम्मीद से कम ही माना जाना चाहिए।

ये भी पढ़ें...खुलासा: चीन की इस लैब से फैला कोरोना वायरस, कर रहा था ये खतरनाक काम

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story