ट्रंप के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी, इस देश ने दिया आदेश, ये है वजह

ईरान अपने शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेना चाहता है। इसके लिए डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।

नई दिल्ली: ईरानी जनरल कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत के बाद से ईरान और अमेरिका के बीच का तनाव बेहद बढ़ गया। हाल ही में कासिम सुलेमानी की जासूसी करने वाले अमेरिकी एजेंट को ईरान ने मौत की सजा सुनाई थी, तो वहीं अब ईरान ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की गिरफ्तारी को लेकर वारंट जारी किया है।

तेहरान के अभियोजक ने दिए अमेरिकी राष्ट्रपति के गिरफ्तारी के आदेश

ईरान अपने शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेना चाहता है। मिली जानकारी के मुताबिक, इसके लिए तेहरान के अभियोजक अली अलकासीमहर ने डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया। वहीं कासिम सुलेमानी की हत्या का आरोप लगाते हुए ट्रम्प के साथ ही 35 लोगों के खिलाफ इंटरपोल से मदद मांगी है।

ईरानी कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या में आरोपी

बता दें कि अमेरिका ने इसी साल जनवरी में बगदाद में एयरस्ट्राइक कर ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड के कमांडर कासिम सुलेमानी पर हमला कर दिया था। इस हमले में उनकी मौत हो गयी थी। इस बारे में अमेरिका का आरोप था कि सुलेमानी मध्य-पूर्व क्षेत्र में अमेरिकी सेना पर हुए हमलों का मास्टरमाइंड है।

ये भी पढ़ें- रुस ने अमेरिकी सैनिकों की हत्या पर रखा इनाम! राष्ट्रपति ट्रंप ने दिया ये बयान

ट्रंप के साथ अन्य 35 लोगों पर हत्या में शामिल होने का आरोप

इस मामले तेहरान के अभियोजक अली अलकासीमहर ने ट्रंप और 35 अन्य लोगों के शामिल होने का आरोप लगाया है। अली अलकासीमहर ने कहा, ‘ऐसे 36 लोगों की पहचान की गई है, जो कासिम की हत्या या इसका आदेश जारी करने में शामिल थे। जिसमें अमेरिका और अन्य सरकारों के राजनीतिक और सैन्य अधिकारी शामिल हैं। न्यायपालिका के अधिकारियों ने इनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है और इंटरपोल के जरिए इनके लिए रेड अलर्ट भी घोषित किया गया है।’

कासिम सुमेलानी की जासूसी करने वालों मिल चुकी फांसी की सजा

बता दें कि कासिम की हत्या हुए छह महीनों हो गए हैं। ईरान ने छह महीनों के बाद कासिम की हत्या को लेकर ट्रम्प के खिलाफ वारंट जारी किया। इसके पहले जून के पहले हफ्ते में कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या में शामिल एजेंट को फांसी की सजा सुनाई है। आरोपी ईरान का ही नागरिक है, जो अमेरीका और इजराइल की ख़ुफ़िया एजेंसियों के लिए जासूसी करता था। उसने ही सुलेमानी के बारे में यूएस को जानकारी दी थी।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App