×

PM से 3 घंटे चली पूछताछ: आ सकते हैं जांच के दायरे में, ये है वजह

इटली में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों और मरीजों की मौतों पर लोगों ने सरकार की नाकामी पर सवाल उठा दिए। मामले में इटली के प्रधानमंत्री गिउसेप्पे कोन्टे से करीब 3 घंटे पूछताछ की गई।

Shivani Awasthi
Updated on: 14 Jun 2020 6:47 AM GMT
PM से 3 घंटे चली पूछताछ: आ सकते हैं जांच के दायरे में, ये है वजह
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: कोरोना संकट से दुनिया के तमाम देश परेशान है। ऐसे में संक्रमण की रोकथाम न किये जाने का आरोप स्थानीय स्तर पर सरकारों पर लग रहा है। इस कड़ी में एक देश के प्रधानमंत्री तो कोरोना की रोकथाम में नाकामी को लेकर पूछताछ के दायरे में आ गए। उनसे कई घंटों तक पूछताछ की गयी।

इटली के पीएम गिउसेप्पे कोन्टे से कोरोना संक्रमण रोकने में नाकामी पर पूछताछ

मामला इटली का है, यहां कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों और मरीजों की मौतों पर लोगों ने सरकार की नाकामी पर सवाल उठा दिए। मामले में इटली के प्रधानमंत्री गिउसेप्पे कोन्टे से करीब 3 घंटे पूछताछ की गई।

इटली में 2.36 लाख से अधिक लोग कोरोना संक्रमित, 34 हजार मौतें

दरअसल, लगभग 6 करोड़ की आबादी वाले देश इटली में कोरोना वायरस बेकाबू हो गया। यहां 2.36 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो गए। इतना ही नहीं देश में 34 हजार से अधिक लोगों की महामारी से मौत हो गयी। इटली के जो शहर सबसे ज्यादा कोरोना से प्रभावित हुए उनमे बर्गामो शामिल हैं। बर्गामो इटली के लॉम्बार्डी क्षेत्र में स्थित है, जहां गिउसेप्पे कोन्टे की विरोधी 'लीग पार्टी' सत्ता में है।

ये भी पढेंः लाशें ही लाशें: नहीं मिल रही दफनाने की जगह, कब्रों से निकाली जा रही हड्डियां

लॉकडाउन लागू करने में देरी से कोरोना फैलने का आरोप

बर्गामो के लोगो ने सरकार पर आरोप लगाया कि लॉकडाउन लागू करने में देरी के कारण देश में कोरोना के मामले बढ़े। सरकार के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गया। बर्गामो के प्रदर्शनकारियों ने मामले में पीएम गिउसेप्पे कोन्टे से पूछताछ की। वह इस बात का पता लगाने में लगे हैं कि लॉकडाउन लागू करने में इतना समय क्यों लगाया गया।

पीएम से तीन घंटे की गयी पूछताछ

एक रिपोर्ट के मुताबिक़, पीएम ने रोम स्थित अपने कार्यालय से बतौर गवाह जांचकर्ताओं के सवालों के जवाब दिए। बताया जा रहा है कि पीएम के खिलाफ कोई आपराधिक जाँच शुरू नहीं हुई है। बस पूछताछ की गयी।

ये भी पढेंः कोरोना काल में मोदी सरकार ने किया ये बड़ा काम, 21 लाख लोगों को मिलेगा फायदा

पीएम के अलावा इन मंत्रियों से भी हुई पूछताछ

पीएम के अलावा इटली के स्वास्थ्य मंत्री रॉबर्टो स्परंजा और इंटेरिअर मिनिस्टर लुसिआना लमोर्गीज से भी पूछताछ की गयी। बता दें कि पीएम ने एक पहले ही जांचकर्ताओं को इस मामले में जानकारी उपलब्ध कराने की इच्छा जाहिर की थी। उन्होंने कहा था कि उन्हें जांच के दायरे में आने की चिंता नहीं हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story