जॉन एफ केनेडी का परिवार अस्वाभाविक मौतों के लिए अभिशप्त

जॉन एफ केनेडी का परिवार अस्वाभाविक मौतों के लिए अभिशप्त

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी के परिवार को देश के प्रमुख राजनीतिक परिवारों में गिना जाता है। यह परिवार अमेरिका के सबसे रईस परिवारों में भी शामिल है और इसे शाही परिवार जैसा दर्जा हासिल है मगर यह परिवार अस्वाभाविक मौतों के लिए अभिशप्त रहा है। यह सिलसिला अभी खत्म नहीं हुआ है। अब इस परिवार एक युवती की अस्वाभाविक मौत हो गई है। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी के भाई रॉबर्ट एफ केनेडी की पोती साओर्स केनेडी हिल (22) की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। बताया जा रहा है कि उनकी मौत दवाओं के ओवरडोज के कारण हुई है।

यह भी पढ़ें : आर्टिकल 370 पर देश का साथ नहीं दे रही पाकिस्तान की ये बेटी, पढ़ें ये रिपोर्ट

अंधाधुंध फायरिंग में मारे गए थे जॉन एफ केनेडी
साओर्स की मौत के बाद केनेडी परिवार में अस्वाभाविक मौतों का सिलसिला जारी रहने की बात सबके जेहन में जिंदा हो गई है। केनेडी परिवार में पिछले 75 साल में 13 अस्वाभाविक मौतें हो चुकी हैं। इतनी अस्वाभाविक मौतों के कारण ही बहुत से लोग केनेडी परिवार को अभिशप्त परिवार मानते हैं। अमेरिका में इस परिवार के प्रति लोगों का काफी स्नेह है। अमेरिकी लोगों ने राजनीति में कदम रखने वाले इस परिवार के प्रत्येक सदस्य को सिर-आंखों पर बैठाकर रखा।
पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी की मौत भी अस्वाभाविक ढंग से हुई थी। एक सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान डलास में उनकी अंधाधुंध गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गई थी। जॉन एफ केनेडी की गिनती अमेरिका के सबसे लोकप्रिय राजनेताओं में होती है। उनके भाई रॉबर्ट एफ केनेडी भी न्यूयॉर्क के सीनेटर और अमेरिका के अटॉर्नी जनरल रह चुके थे। आज भी अमेरिकी राजनीति में केनेडी परिवार का काफी प्रभाव माना जाता है।

यह भी पढ़ें : नागासाकी दिवस: आज ही के दिन इस बम से मरे थे 80 हजार लोग, जानिये पूरी कहानी

धनी व्यापारी थे परिवार के मुखिया
केनेडी परिवार के मुखिया जोसफ केनेडी आयरिश मूल के प्रभावशाली और धनी व्यापारी थे। 1938 में उन्हें यूके में अमेरिका का राजदूत बनाया गया था। वह अपने बच्चों को बुलंदियों पर पहुंचाना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने अपने रसूख और पैसों का भरपूर इस्तेमाल किया था। जोसफ ने अपने परिवार को अमेरिका के सबसे प्रमुख परिवार में शामिल करने का सपना देखा था, जिसमें वह कामयाब भी रहे। जोसफ केनेडी और रोज केनेडी के नौ बच्चे थे। इनमें सबसे बड़े बेटे का नाम था जोसफ केनेडी जूनियर। वहअमेरिकी वायुसेना में पायलट थे। जोसफ केनेडी जूनियर की असमय मौत के बाद उनके पिता ने अपने दूसरे बेटे जॉन एफ केनेडी को राजनीति में लाने की तैयारी शुरू की। इस काम में उन्हें कामयाबी भी मिली। केनेडी न केवल अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव जीतने में कामयाब हुए बल्कि वे आगे चलकर अमेरिका के सबसे पसंदीदा राष्ट्रपति बने मगर वे अपना कार्यकाल नहीं पूरा कर सके और उनकी हत्या कर दी गई।

दूसरे विश्व युद्ध से शुरू हुआ अस्वाभाविक मौतों का सिलसिला

12 अगस्त 1944: दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जोसफ केनेडी जूनियर यूरोप में एक सीक्रेट मिशन पर थे। इसी दौरान उनके प्लेन में आग लग गई और उनकी मौत हो गई थी।
13 मई 1948 :  जोसफ केनेडी की एक बेटीकैथलीन केनेडी (29) की फ्रांस में हुई एक विमान दुर्घटना में मौत हो गई।
22 नवंबर 1963:  अमेरिकी राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी (46) की डलास शहर में एक सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान गोलियां बरसा कर हत्या कर दी गईं।
05 जून 1968:  जॉन एफ केनेडी की मौत के बाद उनके भाई रॉबर्ट एफ केनेडी (42) डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति प्रत्याशी बनने की होड़ में थे। वह कैलिफोर्निया में हुआ प्राइमरी चुनाव जीत भी चुके थे। इसी दौरान लॉस एंजिल्स में उनकी हत्या कर दी गई। वह अपने माता-पिता की सातवीं संतान थे।
25 अप्रैल 1984:  रॉबर्ट एफ केनेडी के चौथे बेटे डेविड ए केनेडी (29) की मौत ड्रग ओवरडोज से हुई थी।
31 दिसंबर 1997: रॉबर्ट एफ केनेडी की छठी संतान माइकल केनेडी (39) की कोलराडो में एक हादसे में मौत हो गई थी।
16 जुलाई 1999:  अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी और उनकी पत्नी जैकलीन की दूसरी संतान जॉन केनेडी जूनियर की एक विमान हादसे में मौत हो गई। इस हादसे में जॉन केनेडी जूनियर की पत्नी और साली की भी मौत हो गई थी। पिता की हत्या के समय केनेडी जूनियर केवल तीन साल के थे।
वर्ष 2005:  पूर्व राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी की बहन रोजमेरी केनेडी को दिमागी बीमारी थी। धीरे-धीरे उनके चलने-फिरने और बोलने की शक्ति पूरी तरह खत्म हो गई। वर्ष 2005 में उनकी मौत हो गई।
वर्ष 2009: नौ भाई-बहनों में सबसे छोटे भाई टेड केनेडी की एक बड़े हादसे में जान बची थी। इस हादसे में दो लोग मारे गए थे। डेमोक्रेटिक पार्टी से जुड़े टेड केनेडी 50 साल तक सीनेटर रहे। वर्ष 2009 में ब्रेन कैंसर से उनकी मौत हो गई थी।
16 सितंबर 2011: टेड केनेडी की बेटी कारा केनेडी (51) की एक हेल्थ क्लब में वर्क आउट के दौरान हार्ट अटैक से मौत हो गई थी।
16 मई 2012: रॉबर्ट एफ केनेडी जूनियर की पत्नी मैरी रिचर्डसन केनेडी संदिग्ध अवस्था में अपनी संपत्ति पर बने खलिहान के पीछे संदिग्ध अवस्था में मृत मिलीं। कुछ लोग इसे आत्महत्या भी मानते हैं।
01 अगस्त 2019: रॉबर्ट एफ केनेडी की पोती साओर्स केनेडी (22) की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत। बताया जा रहा है कि दवाइयों के ओवरडेज की वजह से साओर्स की मौत हुई।