ताबड़तोड़ धमाकों से कांपा देश: बिछ गईं लाशें ही लाशें, चारों तरफ मचा कोहराम

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में शनिवार को सिलसिलेवार धमाके हुए हैं। धमाके में काबुल शहर के घनी आबादी वाले इलाके को निशाना बनाया गया है। 

Blast

ब्लास्ट (सांकेतिक फोटो- सोशल मीडिया)

काबुल: अफगानिस्तान की राजधानी काबुल (Kabul Blast) एक बार फिर से धमाकों की आवाज से गूंज उठी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यहां पर शनिवार को सिलसिलेवार धमाके हुए हैं। बताया जा रहा है कि काबुल शहर के घनी आबादी वाले इलाके को निशाना बनाया गया है। यह धमाके शहर के बीचों बीच स्थित घनी आबादी वाले ग्रीन जोन और उत्तरी इलाके में हुए हैं। हादसे में कई लोगों के घायल होने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि अभी संख्या की पुष्ट रिपोर्ट सामने नहीं आई है।

सिलसिलेवार धमाके से दहशत का माहौल

काबुल में हुए सिलसिलेवार धमाके से लोगों में दहशत का माहौल पैदा हो गया। लगातार हुए धमाकों से ऐसा लग रहा था कि एक के बाद एक लगातार रॉकेट दागे जा रहे हैं। फिलहाल इस संबंध में अधिकारियों की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। हालांकि आतंरिक मंत्रालय ने कहा कि शनिवार सुबह छोटे स्टिकी बॉम्ब से धमाके किए गए थे। इनमें से एक ने पुलिस की कार को निशाना बनाया, जिससे एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई और करीब तीन घायल हो गए।

यह भी पढ़ें: मॉल में ताबड़तोड़ फायरिंग: हमले से कांपे लोग, जान बचाने के लिए मची भगदड़

इस बड़ी बैठक से हुए धमाके

वहीं काबुल में सिलसिलेवार धमाके से संबंधित कुछ फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। जिसमें साफ नजर आ रहा है कि रॉकेट ने भवनों में छेद कर दिए हैं। हालांकि अभी इन तस्वीरों की सत्यता की जांच नहीं हो सकी है। वहीं किसी संगठन की ओर से इन धमाकों की जिम्मेदारी नहीं ली गई है। बता दें कि ये धमाके अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो और तालिबान व कतर के खाड़ी राज्य की अफगान सरकार की बैठक से पहले किए गए हैं।

यह भी पढ़ें:G-20 शिखर सम्मेलन में छाया रहेगा ये मुद्दा, PM मोदी के संबोधन पर टिकी नजर

bomb blast
फोटो- सोशल मीडिया

बीते छह महीनों में 53 फिदायीन हमले

बता दें कि ये पहली बार नहीं है जब काबुल में ऐसे बम धमाके की घटना हुई हो। इससे पहले भी कई बार काबुल शहर बम धमाकों से दहल चुका है। आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता तारिक आरियान ने इस हफ्ते ही बताया था कि बीते छह महीनों में तालिबान ने 53 फिदायीन हमले और 1250 धमाके किए हैं। इन हमलों में कुल 1210 आम नागरिकों की मौत हुई है, जबकि 2500 घायल हो चुके हैं।

यह भी पढ़ें: आतंकियों में दहशत: अल-कायदा चीफ अल-जवाहिरी की मौत, किया गया दावा

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App