Top

धमाके में उड़ी फैक्ट्री: 8 लोगों की बिखर गई लाशें, घायलों को बचाने में जुटी टीम

कराची में कोल्ड स्टोरेज फैक्ट्री में जोरदार विस्फोट होने की वजह से 8 लोगों की मौके पर मौत हो गई। जबकि 16 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। बता दें, ये घटना पाकिस्तान के सिंध प्रांत के कराची में हुई। ऐसे में बताया जा रहा कि ये घटना मंगलवार को हुई।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 23 Dec 2020 9:59 AM GMT

धमाके में उड़ी फैक्ट्री: 8 लोगों की बिखर गई लाशें, घायलों को बचाने में जुटी टीम
X
कराची में कोल्ड स्टोरेज फैक्ट्री में जोरदार विस्फोट होने की वजह से 8 लोगों की मौके पर मौत हो गई। जबकि 16 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। बता दें, ये घटना पाकिस्तान के सिंध प्रांत के कराची में हुई।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कराची। बुधवार को अचानक से भयानक धमाका हुआ। कोल्ड स्टोरेज फैक्ट्री में जोरदार विस्फोट होने की वजह से 8 लोगों की मौके पर मौत हो गई। जबकि 16 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। बता दें, ये घटना पाकिस्तान के सिंध प्रांत के कराची में हुई। ऐसे में बताया जा रहा कि ये घटना मंगलवार को हुई। फैक्ट्री में हुए इस विस्फोट में 8 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। इस विस्फोट में एक बिल्डिंग पूरी तरह से टूट कर गिर गई। साथ ही फैक्ट्री के आसपास भी काफी क्षति हुई। वहीं इस फैक्ट्री के मलबे के नीचे लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है। फिलहाल रेसक्यू ऑपरेशन अभी जारी है।

ये भी पढ़ें...BJP विधायक के साथ हादसा: वाराणसी में स्कॉर्पियो ने मारी टक्कर, ऐसी है हालत

8 लोगों की मौत

राजधानी कराची में एक कोल्ड स्टोरेज फैक्ट्री में जोरदार विस्फोट की वजह से अफरा-तफरी मच गई। इस धमाके में 8 लोगों की मौत हो गई। जबकि घायल हुए लोगों को अस्पतालों में भर्ती कराया जा रहा है।

blast pakistan फोटो-सोशल मीडिया

इससे पहले मंगलवार की शाम को झारखंड के चक्रधरपुर रेल मंडल के बीमलगढ़ रेलवे यार्ड में लगभग 7 बजे एक मालगाड़ी के चार डिब्बे पटरी से उतर गए। बताया जा रहा कि ये मालगाड़ी आयरन अयस्क लेकर रेलवे यार्ड से निकल कर राउरकेला की ओर आ रहा थी।

इस बीच एकदम से मालगाड़ी पीछे की तरफ रोल हो जाने की वजह उसके चार डिब्बे बेपटरी हो गए। ऐसे में इस घटना की खबर मिलते ही राहतकार्य के लिए बंडामुंडा रेलवे यार्ड से क्रेन के अलावा अधिकारियों व इंजीनियरों की टीम बिमलगढ़ के लिए निकल गई।

इसके बाद ये मालगाड़ी बरसुआ रेलवे स्टेशन पर खड़ी थी, जब अचानक से ट्रेन रोल होना शुरू हुई। फिर रोल होने के बाद ट्रेन पीछे की तरफ चलते हुए बिमलगढ़ रेलवे स्टेशन की तरफ बढ़ने लगी। तभी इस बीच ट्रेन करीब 100 की गति पर दौड़ने लगी थी।

ये भी पढ़ें...झांसी में भीषण हादसा: चार लोगों की मौत, लोगों में मचा कोहराम

छह रेलवे क्रॉसिंग को पार कर गई

वहीं ट्रेन बरसुआ से बिमलगढ़ रेलवे स्टेशन तक रोल होकर जाने के दौरान लगभग छह रेलवे क्रॉसिंग को पार कर गई। और ट्रेन के आने की सूचना नहीं मिलने के कारण सभी रेलवे क्रॉसिंग खुले हुए थे।

फिर मालगाड़ी जब रोल होने लगी तो ट्रेन के इंजन में टोकन पोर्टर थे। और जब ट्रेन की रफ्तार बढ़ती गई तो पोर्टर इंजन के सहारे किसी तरह 24 किलोमीटर तक झूलता हुआ बिमलगढ़ पंहुचा। जिसके बीच पोर्टर के शरीर में कई जगहों पर चोटे आईं।

वहीं हादसे के दौरान बरसुआ रेलवे यार्ड पर ड्यूटी में तैनात शंटर चटर्जी बुरी तरह घायल हो गया है। हालाकिं घटना के बाद शंटर और पोर्टर दोनों को ही बिमलगढ़ रेलवे अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें...बीच सड़क जिंदा जले लोग: यमुना एक्सप्रेसवे पर भयानक हादसा, 5 की मौत से कोहराम

Newstrack

Newstrack

Next Story