चीन बुरी तरह कांपा: भारत के हाथ इनका सैनिक, अब हो गया शांत

लद्दाख के डेमचाक इलाके से सैनिक के पकड़े जाने के बाद चीनी मीडिया ने नरम रुख अपनाया है। ग्लोबल टाइम्स ने कहा है कि सैनिक की वापसी से दोनों देशों के बीच विश्वास बढ़ेगा। 

Published by Shreya Published: October 19, 2020 | 6:29 pm
Modified: October 19, 2020 | 6:31 pm
chinese army pla

चीनी सैनिक के पकड़े जाने पर ग्लोबल टाइम्स ने दिखाई नरमी (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: सोमवार सुबह भारतीय सैनिकों ने लद्दाख के डेमचाक इलाके से चीनी सेना के कॉरपोरल रैंक के एक सैनिक को हिरासत में लिया है। हिरासत में लिए गए जवान के पास से सेना ने सिविल और मिलिट्री डॉक्यूमेंट भी बरामद किए। वहीं इस घटना के बाद हमेशा भारत को धमकी देने वाले चीनी सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स (Global Times) ने बेहद नरम सुर अपनाया है। ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि भारत बॉर्डर पर खोए चीनी सैनिक को जल्द लौटा सकता है। ऐसा करने से दोनों देशों के बीच विश्वास बढ़ेगा।

सैनिक की वापसी से नए संघर्ष नहीं होंगे

हमेशा भारत के खिलाफ कड़ा रुख अपनाने वाले और गीदड़ भभकी देने वाले ग्लोबल टाइम्स ने बड़ी ही नरमी के साथ बोला है कि चीनी सैनिक को लौटाने से दोनों देशों के बीच विश्वास बढ़ेगा। यही नहीं ग्लोबल टाइम्स लिखता है कि सैनिक की वापसी से सीमावर्ती क्षेत्रों में नए संघर्ष नहीं होंगे। साथ ही द्विपक्षीय वार्ता में नई प्रगति का संकेत मिलेगा। अखबार के मुताबिक, दोनों देश इसके कई हिस्सों के साथ अलग-अलग वजहों से निर्जन सीमा साझा करते हैं। ऐसे में इंडीकेटर्स या उचित उपकरण के बिना इस इलाकों में भटक जाना आम बात है।

यह भी पढ़ें: बच्चा हुआ करोड़पति: इस 12 साले के बच्चे ने बाप को किया पीछे, हाथ लगा खजाना

india-china
(फोटो- सोशल मीडिया)

वार्ता पर नहीं पड़ेगा कोई नकारात्मक असर

चीन के सरकारी मुखपत्र ने सिंघुआ यूनिवर्सिटी में नेशनल स्ट्रेटजी इंस्टीट्यूट में रिसर्च डिपार्टमेंट के डायरेक्टर कियान फेंग के हवाले से यह दावा किया है कि भारत और चीन के खोए हुए सैनिकों से संबंधित कई घटनाएं पहले भी हो चुकी हैं। वहीं एक्सपर्ट ने उम्मीद जताई है कि इस घटना से दोनों पक्षों के बीच जारी वार्ता पर कोई भी निगेटिव असर नहीं होगा। भारत और चीन इस घटना को मिलकर सुलझाने और लापता सैनिकों को वापस भेजने के लिए काम कर रहे हैं। हालांकि दोनों के बीच सीमा विवाद अभी भी जारी है।

यह भी पढ़ें: या देवी सर्व भूतेषुः प्रवासी माँ में जीवंत, कोरोना काल में महिलाओं का योगदान

india-china army
(फोटो- सोशल मीडिया)

क्या है पूरा मामला?

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन (India China Tension) के बीच जारी तनाव के बीच भारतीय सेना ने लद्दाख में एक चीनी सैनिक को हिरासत में लिया है। उसके पास से सिविल और मिलिट्री डॉक्यूमेंट बरामद किए गए। बताया जा रहा है कि सभी औपचारिक जरूरी कार्रवाई करने के बाद चीनी सैनिक को चीन वापस भेजा दिया जाएगा।

बताया जा रहा है कि उस चीनी सैनिक से पूछताछ भी की गई। पूछताछ में यह जानने की कोशिश की गई कि आखिर वह भारतीय सीमा क्षेत्र में दाखिल क्यों हुआ था? इसके अलावा जांच एजेंसियों की ओर से जासूसी मिशन के एंगल से भी मामले की पड़ताल की गई।

यह भी पढ़ें: भूकंप ने हिलाई धरती: तेज झटकों से डरे सहमे लोग, वैज्ञानिकों की भी बढ़ी चिंता

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App