×

PM जॉनसन का एलान, ब्रिटेन में 1 जून तक बढ़ा लाॅकडाउन, रखीं ये शर्तें

कोरोना वायरस का कहर अभी थमा नहीं है। इसे रोकने के लिए दुनियाभर के देशों को लॉकडाउन किया गया है। हालांकि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए हर देश अब कुछ छूट देने लगे हैं। जिससे लोगों की परेशानियों को कम   किया जा सके।

suman
Updated on: 11 May 2020 5:53 AM GMT
PM जॉनसन का एलान, ब्रिटेन में 1 जून तक बढ़ा लाॅकडाउन, रखीं ये शर्तें
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लंदन कोरोना वायरस का कहर अभी थमा नहीं है। इसे रोकने के लिए दुनियाभर के देशों को लॉकडाउन किया गया है। हालांकि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए हर देश अब कुछ छूट देने लगे हैं। जिससे लोगों की परेशानियों को कम किया जा सके। दुनिया के 212 देशों में फैल चुके कोरोना वायरस से सबसे अधिक मौतें अमेरिका में हुई है। वहीं इंग्लैंड दुनिया का ऐसा देश बन गया है जहां कोरोना ने सबसे अधिक लोगों की जान ली है।

यह पढ़ें...लॉकडाउन की जमकर उड़ाई गई धज्जियां, यहां से 100 प्रवासी मजदूर गिरफ्तार

इसी को ध्यान में रखकर यूके के पीएम बोरिस जॉनसन ने 1 जून तक लॉकडाउन बढ़ाने का एलान कर दिया है। बोरिस जॉनसन ने रविवार को कहा कि इस हफ्ते लॉकडाउन नहीं खोला जा सकता है। देश के नाम जारी संदेश में बोरिस जॉनसन ने कहा कि कुछ प्राइमरी स्कूल और दुकानें 1 जून से खुल सकेंगे। उन्होंने यह भी कहा है कि 1 जुलाई से कुछ पब्लिक प्लेस फिर से खुल सकेंगे। हालांकि, इस दौरान सभी को मास्क पहनना जरूरी होगा।

जॉनसन ने कहा कि सरकार लॉकडाउन से बाहर आने की रणनीति बनाने के दबाव में है। ब्रिटेन में ही कोरोना के चलते 32 हजार मौते हो चुकी हैं। मौतों के मामले में ब्रिटेन अब सिर्फ अमेरिका से पीछे है और यूरोप में सबसे ज्यादा है। इसी को लेकर बोरिस जॉनसन ने कहा कि अभी लॉकडाउन में जनता ने जो त्याग किया है, उसे बर्बाद कर देना एक पागलपन होगा।

उन्होंने यह भी बताया कि संसद की ओर से सोमवार को एक कंडीशनल प्लान और उसकी जानकारी शेयर किया जाएगा। जॉनसन ने कहा, 'ब्रिटेन पूरे समय लेवल चार पर रहा है। सावधानीपूर्वक कदम उठाने के बाद हम लेवल तीन पर पहुंच सकते हैं।' जॉनसन ने साफ संकेत दिया है कि अगर केस बढ़े तो पाबंदियां बढ़ाई जा सकती हैं। इसी के साथ यहां सार्वजनिक स्थानों को खोलने के लिए जुलाई के पहले हफ्ते की समयसीमा रखी गई है। यानी सार्वजनिक स्थान जून के आखिर तक बंद रहेंगे। हालांकि बोरिस ने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कई महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं। उन्होंने कहा कि जो लोग घर से काम कर सकते हैं वो करें लेकिन जिन्हें बाहर जाकर काम करने की जरुरत है, वो घर से बाहर निकलकर काम कर सकते हैं।

यह पढ़ें...अहमदाबाद में कोरोना का कहर, 343 सुपर स्प्रेडर मिले संक्रमित, मचा हड़कंप

दिशा-निर्देश

*स्थानीय पार्क में सूरज के नीचे बैठ सकते है, किसी दूसरी जगह जा सकते हैं, खेल सकते हैं लेकिन सिर्फ अपने परिवार के लोगों के साथ।

*काम पर लौटने वाले लोग सार्वजनिक वाहनों का कम से कम इस्तेमाल करें।

*देश में आने वाले व्यक्ति को तुरंत क्वारंटीन होना पड़ेगा।

*बायोसिक्योरिटी सेंटर द्वारा नया अलर्ट सिस्टम लगाया जाएगा।

*प्राइमरी स्कूल्स एक जून से खुल सकेंगे, लेकिन उसका फैसला परिस्थिति को देखकर होगा।

*एक जुलाई से अधिक दुकानें और होटल खुल पाएंगे।

suman

suman

Next Story