×

पाकिस्तान में हिंदू लड़की लापता, अब सामने आई चौंकाने वाली सच्चाई

पाकिस्तान में एक और हिंदू युवती लापता हो गई है। अब इस मामले में बड़ा खुलासा हुआ है और जानकारी सामने आई है कि युवती ने अपनी इच्छा से इस्लाम धर्म अपना ली है। यह घटना भी जबरन धर्म परिवर्तन के लिए बदनाम सिंध प्रांत के घोटकी जिले में घटी है।

Dharmendra kumar
Updated on: 19 Dec 2019 6:43 AM GMT
पाकिस्तान में हिंदू लड़की लापता, अब सामने आई चौंकाने वाली सच्चाई
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कराची: पाकिस्तान में एक और हिंदू युवती लापता हो गई है। अब इस मामले में बड़ा खुलासा हुआ है और जानकारी सामने आई है कि युवती ने अपनी इच्छा से इस्लाम धर्म अपना ली है। यह घटना भी जबरन धर्म परिवर्तन के लिए बदनाम सिंध प्रांत के घोटकी जिले में घटी है।

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 22 वर्षीय महक केसवानी कराची की डिफेंस हाउसिंग अथॉरिटी से बीते शुक्रवार को लापता हो गई थी। बताया जा रहा है कि उसने इस्लाम धर्म स्वीकार कर लिया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि एक वीडियो में महक को इस्लाम स्वीकार करने के लिए कलमा पढ़ते देखा जा सकता है।

यह भी पढ़ें..राष्ट्रपति डोलान्ड ट्रंप को लगा तगड़ा झटका, अब जानिए क्या होगा उनका भविष्य

इस वीडियो में लड़की कह रही है कि वह किसी के दबाव में नहीं है, न ही उसे किसी ने बंधक बनाया, वह स्वेच्छा से इस्लाम कबूल कर रही है। यह वीडियो सिंधी और उर्दू भाषा में है।

उसने इसमें कहा है कि उसका नया नाम महक फातिमा है। वह घोटकी जिले के धराकी में स्थित दरगाह भरचूंदी शरीफ गई जहां मियां जावेद नाम के व्यक्ति ने उसे इस्लाम धर्म में शामिल करने की रस्में पूरी कीं। इस दरगाह का पीर मियां मिट्ठू है जो हिंदू लड़कियों के धर्म परिवर्तन के लिए कुख्यात है। वह मियां जावेद का मामा है।



मियां मिट्ठू ने कहा कि महक, मोहम्मद अशर नाम के एक स्थानीय युवक के साथ रविवार को उसके गांव आई। मियां मिट्ठू ने बताया कि वह अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन किया, किसी ने उसे इसके लिए बाध्य नहीं किया। दंपति अब पंजाब चले गए हैं। मुझे अभी पता चला है कि दोनों सहपाठी हैं। दोनों, लड़का और लड़की बुद्धिमान हैं।

यह भी पढ़ें...GST पर टूट गई बड़ी परंपरा, पहली बार करना पड़ा ऐसा काम

उसने बताया कि जो कोई भी अपनी इच्छा से धर्म परिवर्तन के लिए उसके घर पहुंचता है तो वह और उसके घरवाले इस काम में मदद करते हैं। महक के घरवालों ने 13 दिसंबर को कराची के डिफेंस पुलिस स्टेशन में उसकी गुमशुदगी का केस दर्ज कराया था।

यह भी पढ़ें...निर्भया रेप केस: डेथ वॉरंट पर टली सुनवाई, दोषियों को फांसी में देरी

महक के मामा डॉक्टर श्रीचंद का कहना बै कि वह कुछ दिन हमारे साथ रही थी। पुलिस ने तत्परता नहीं दिखाई। हमें नहीं पता कि वह कहां है। उसे अगवा किया गया है लेकिन हमें अभी तक कोई फोन काल नहीं आई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि श्रीचंद ने इस बात को माना कि महक और अशर दोस्त है। उन्होंने कहा कि दोनों सहपाठी हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story