जब सभी मस्जिदों को तोड़कर बना दिया चर्च, फिर मुस्लिमों के साथ हुआ ऐसा काम

2 जनवरी 1492 को स्पेन के सबसे ताकतवर मुस्लिम साम्राज्य ग्रेनाडा शासन समाप्त हो गया। 500 से ज्यादा मस्जिदों को तोड़ चर्च बना दिया गया। यह वह मस्जिदें थीं जिन्हें चर्च तोड़कर बनाया गया था। इसके साथ ही देश के सभी मुसलमानों का धर्म बदलकर उन्हें ईसाई बना दिया गया।

नई दिल्ली: 2 जनवरी 1492 को स्पेन के सबसे ताकतवर मुस्लिम साम्राज्य ग्रेनाडा शासन समाप्त हो गया। 500 से ज्यादा मस्जिदों को तोड़ चर्च बना दिया गया। यह वह मस्जिदें थीं जिन्हें चर्च तोड़कर बनाया गया था। इसके साथ ही देश के सभी मुसलमानों का धर्म बदलकर उन्हें ईसाई बना दिया गया।

इसके साथ ही स्पेन में अंतिम मुसलमान शासकों के ग्रेनाडा साम्राज्य समाप्त हो गया और पूरे देश में फिर से ईसाई शासकों की सत्ता स्थापित हो गई। किंग फेर्डिनांड पंचम और रानी ईसाबेला प्रथम की ईसाई सेनाओं के सामने ग्रेनाडा के मूर शासक नतमस्तक हो गए। ग्रेनाडा के हाथ से निकलने के साथ ही स्पेन में मुसलमान मूर शाहों का साम्राज्य समाप्त हो गया।

दक्षिणी स्पेन में दारो और गेनिल नदियों के संगम पर बसा ग्रेनाडा शहर मूर शासकों का गढ़ था। 11वीं शताब्दी में सुल्तान आल्मोराविद के शासनकाल में ग्रेनाडा शक्ति और प्रभाव के मामले में चरम पर था। 1238 में स्पेन के कई हिस्सों पर ईसाई सेनाओं ने मूर शासकों को हराना शुरू कर दिया। इसके साथ ही वहां कब्जा करने का सिलसिला शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें…नए साल पर किसानों को तोहफा: PM मोदी खाते में डालेंगे इतना पैसा

इस वजह देश के दूसरे हिस्सों से ज्यादातर मुसलमान दक्षिणी स्पेन के ग्रेनाडा के इलाकों में रहने लगे। धीरे धीरे ग्रेनाडा का साम्राज्य मूरिश सभ्यता का इकलौता सबसे बड़ा गढ़ बन गया। यहां बड़ी संख्या में मुसलमान रहते थे। इस राज्य को काफी ताकतवर माना जाता था।

दो सौ सालों की अवधि में ग्रेनाडा का खूब सांस्कृतिक और आर्थिक विकास हुआ। 15वीं शताब्दी के आखिर में स्पेन में ईसाई राजा फेर्डिनांड और ईसाबेला की राजशाही काफी ताकतवर बन गई। उन्होंने इस मुस्लिम साम्राज्य का हमेशा हमेशा के लिए खात्मा कर दिया। उसके बाद से फिर कभी स्पेन में मुस्लिम शासन नहीं रहा।

यह भी पढ़ें…मोदी के 3 बड़े फैसले! 2020 में मचाएंगे धमाल, तीसरे से विपक्षियों को लगेगी मिर्ची

2 जनवरी 1492 को ग्रेनाडा के अंतिम मूर शासक राजा बोआब्दिल ने उसे स्पेनी सेनाओं को दे दिया। इसके बाद 1502 में स्पेनी सरकार ने सभी मुसलमानों को जबरदस्ती ईसाई बनाने का फरमान सुना दिया। हालांकि बहुत से मूर वंश के लोगों ने इस्लाम धर्म नहीं छोड़ा, ऐसे लोगों को स्पेन से देश निकाला दे दिया गया।

यह भी पढ़ें…अभी-अभी अयोध्या से बड़ी खबर: इस तारीख से शुरू होगा राम मंदिर का निर्माण

बताया जाता है कि ग्रेनाडा का अंतिम शासक ‘अबू-अब्दुल्लाह’ पहाड़ी पर बने अपने किले में खड़ा बच्चों की तरह रो रहा था। उसने अपने शासन के दौरान इतनी गलतियां की थीं कि उसकी सत्ता का सूर्यास्त होने गया।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App