नेपाल नहीं मानेगा: ओली ने फिर दोहराया असली अयोध्या दावा, दिया ये आदेश

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन के बाद नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली ने एक बार फिर नेपाल में असली अयोध्या होने का विचित्र दावा किया है।

नेपाल नहीं मानेगा: ओली ने फिर दोहराया असली अयोध्या दावा, दिया ये आदेश

नेपाल नहीं मानेगा: ओली ने फिर दोहराया असली अयोध्या दावा, दिया ये आदेश

काठमांडू: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन के बाद नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली ने एक बार फिर नेपाल में असली अयोध्या होने का विचित्र दावा किया है। ओली ने नेपाल की अयोध्यापुरी में भगवान राम की मूर्ति बनवाने और इसे भगवान राम की जन्मस्थली के रूप में लोगों के बीच प्रचारित करने का आदेश भी दिया है। उन्होंने अफसरों को यहां पर खुदाई कराने का भी आदेश दिया है।

ये भी पढ़ें:आई महातबाही: भूस्खलन से बढ़ी मरने वालों की संख्या, अभी भी कई लापता

  नेपाल नहीं मानेगा: ओली ने फिर दोहराया असली अयोध्या दावा, दिया ये आदेश

अयोध्यापुरी के पक्ष में सबूतों का दावा

नेपाल के प्रमुख अखबार हिमालयन टाइम्स के मुताबिक चितवन जिले के स्थानीय अफसरों से फोन पर बातचीत के दौरान ओली ने दावा किया कि सभी सबूतों से यह पता चलता है कि भगवान राम का जन्म भारत में नहीं बल्कि नेपाल की अयोध्यापुरी में हुआ था। उन्होंने और सबूत जुटाने के लिए अयोध्यापुरी में खुदाई कराने का भी आदेश दिया। अखबार के मुताबिक ओली लोगों को यह विश्वास दिलाने में जुटे हुए हैं कि भगवान राम का जन्म स्थान चितवन के मादी नगर निगम एरिया में स्थित अयोध्यापुरी है।

इलाके को संरक्षित करने का आदेश

नेपाल के प्रधानमंत्री ने मेयर ठाकुर प्रसाद धकल और मादीनगर वार्ड 9 के अध्यक्ष शिवाहरी सुबेदी से बातचीत में अपने विचित्र दावे को फिर दोहराया। सुबेदी ने बताया कि पीएम ने प्रतिनिधिमंडल से कहा कि उन्हें इस बात का पूरा भरोसा है कि भगवान राम का जन्म नेपाल की अयोध्यापुरी में ही हुआ था।

ओली ने स्थानीय अधिकारियों से कहा कि अयोध्यापुरी के बारे में सही जानकारी का प्रचार-प्रसार करें और ऐतिहासिक साक्ष्यों का संरक्षण करें। चितवन जिले से नेशनल असेंबली के सदस्य दिल कुमारी रावल ने बताया कि ओली ने अयोध्यापुरी के आसपास के इलाकों को संरक्षित करने का भी आदेश दिया है।

खुदाई कराकर और सबूत जुटाएं

रावल ने बताया कि पीएम ओली ने कहा कि अयोध्यापुरी के आसपास खुदाई कराकर और सबूत जुटाए जाएं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार अयोध्यापुरी को ऐतिहासिक व धार्मिक स्थान के रूप में विकसित करेगी और इसके लिए सरकार की ओर से जमीन भी दी जाएगी। स्थानीय प्रतिनिधियों से बातचीत के दौरान ओली ने अयोध्यापुरी इलाके में भगवान राम, सीता और लक्ष्मण की मूर्तियां बनाने को भी कहा।

नेपाल के नेता भी ओली के दावे के खिलाफ

हिमालयन टाइम्स अखबार का कहना है कि ऐसे समय में जब नेपाल में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं, पीएम ओली लोगों को भगवान राम के जन्म स्थान के अयोध्यापुरी में होने के बारे में विश्वास दिलाने में जुटे हुए हैं। ओली ने कुछ समय पूर्व भी अपने इस दावे से सबको चौंका दिया था कि भगवान का राम का जन्म स्थान नेपाल में है। हालांकि ओली के इस बयान की तीखी निंदा की गई थी। खुद उनकी ही पार्टी के कई नेताओं ने ओली से ओछी बयानबाजी से बाज आने को कहा था। नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के कई नेताओं ने भी कहा था कि ओली को बिना किसी सबूत के इस तरह के बेबुनियाद दावे नहीं करनी चाहिए।

नेपाल नहीं मानेगा: ओली ने फिर दोहराया असली अयोध्या दावा, दिया ये आदेश

ये भी पढ़ें:कांपा मुख्तार अंसारी: पुलिस ने चलाई ताबड़तोड़ गोलियां, नहीं रहा इसका शूटर

भूमिपूजन के बाद ओली का दावा

ओली ने एक बार फिर अपने इस दावे को ऐसे समय में दोहराया है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन कर चुके हैं। अयोध्या में 5 अगस्त को भूमि पूजन के बाद भव्य राम मंदिर निर्माण की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं और उम्मीद है कि साढ़े तीन साल के भीतर अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App