अमेरिका में पाकिस्तानी डॉक्टर गिरफ्तार, ISIS की कर रहा था मदद

अमेरिका में आईएसआईएस की मदद करने की कोशिश और अमेरिका में हमले की इच्छा व्यक्त करने के मामले में एक पाकिस्तान चिकित्सक को गिरफ्तार किया गया है।

अमेरिका में आईएसआईएस की मदद करने की कोशिश और अमेरिका में हमले की इच्छा व्यक्त करने के मामले में एक पाकिस्तान चिकित्सक को गिरफ्तार किया गया है। अमेरिका के मिनेसोटा जिला अटॉर्नी एरिका मैक्डोनल्ड और राष्ट्रीय सुरक्षा सहायक अटॉर्नी जनरल जॉन डेमर्स ने जानकारी दी कि मोहम्मद मसूद (28) आईएसआईएस के प्रति वफादार है।

आरोपी ने आतंकी हमले की भी जताई थी आशंका

अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि मसूद ने जनवरी और मार्च के बीच कई बयान दिए और आतंकवादी समूह के लिए लड़ने के लिए सीरिया जाने की भी इच्छा जताई। अधिकारियों ने बताया कि मसूद ने अमेरिका में ‘अकेले हमलावर द्वारा’ (लोन वोल्फ) आतंकवादी हमले करने की भी मंशा जताई।

ये भी पढ़ें-  दुखद खबर: नहीं रहे पूर्व भारतीय कप्तान, खेल जगत में छाई शोक की लहर

मसूद को मिनियापोलिस-सेंट पॉल इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर गिरफ्तार किया गया है। वहीं मिनियापोलिया की एक अदालत ने मसूद को 24 मार्च से शुरू होने वाली आधिकारिक सुनवाई तक हिरासत में रखे जाने का आदेश दिया है।

जाना चाहता था सीरिया

मसूद पाकिस्तान का एक लाइसेंसधारी चिकित्सक है और वह एच1 बी वीजा के तहत मिनेसोटा में एक चिकित्सकीय क्लीनिक के लिए अनुसंधान समन्वयक के तौर पर भी काम कर चुका है। शिकायत के अनुसार, मसूद जॉर्डन जाने की तैयारी में था, इसके लिए उसने शिकागो से विमान का टिकट लिया था। यहां से वह सीरिया जाने वाला था।

ये भी पढ़ें-   जम्मू में बड़े हमले की साजिश, घुसपैठ की फिराक में 40-50 आतंकी

कोरोना वायरस की वजह से नहीं जा पाया

ये भी पढ़ें-   कनिका के साथ थे इन दिग्गज नेता समेत 400 लोग, कोरोना पॉजिटिव हैं सिंगर

लेकिन कोरोना वायरस के कारण जॉर्डन ने अपनी सीमाएं बंद कर दी थीं। जिसकी वजह से मसूद को अपनी योजना बदलनी पड़ी। शिकायत के मुताबिक मसूद ने मिनियापोलिस से लॉस एंजिलिस जाने की योजना बनाई। यहां वह एक ऐसे व्यक्ति से मिलने वाला था जो एक कार्गो जहाज के जरिए उसे सीरिया ले जाने में मदद करने वाला था।