Top

पाकिस्तान की दरिंदगी: 12 साल की मासूम का किया रेप, धर्मांतरण के बाद करवाई शादी

फैसलाबाद में मात्र 12 साल की एक ईसाई बच्ची का जबरन धर्म परिवर्तन करवा कर उसे शादी के लिए मजबूर किया गया। इसके लिए आरोपियों ने बच्ची को किडनैप तक कर लिया और उसके साथ कई बार रेप किया।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 15 March 2021 11:28 AM GMT

पाकिस्तान की दरिंदगी: 12 साल की मासूम का किया रेप, धर्मांतरण के बाद करवाई शादी
X
पाकिस्तान की दरिंदगी: 12 साल की मासूम का किया रेप, धर्मांतरण के बाद करवाई शादी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

फैसलाबाद: पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर होते आत्याचारों से पूरी दुनिया परिचित है। आए दिन पड़ोसी मुल्क में हिंदू और ईसाई लड़कियों के साथ दरिंदगी, उनका धर्मांतरण करवाकर उनसे जबरन शादी करने की खबरें आती रहती हैं। लेकिन पाकिस्तान ऐसे गुनाहों को काबू करने में बहुत पीछे है। पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की सुरक्षा की जिम्मेदारी इमरान खान सरकार से संभाली नहीं जा रही।

12 साल की बच्ची से दरिंदगी

इस बीच पाकिस्तान के फैसलाबाद से मानवता को शर्मसार करने वाली एक खबर सामने आई है। दरअसल, मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, फैसलाबाद में मात्र 12 साल की एक ईसाई बच्ची का जबरन धर्म परिवर्तन करवा कर उसे शादी के लिए मजबूर किया गया। इसके लिए आरोपियों ने बच्ची को किडनैप तक कर लिया और उसके साथ कई बार रेप किया। ये घटना बीते साल 25 जून की है।

यह भी पढ़ें: गायब हुए 300 लोग: धूल और रेत में गुम हुआ बीजिंग, तूफान के कहर से कांपा चीन

जानें क्या है पूरा मामला?

रिपोर्ट के मुताबिक, 25 जून को 12 साल की मासूम बच्ची फराह अपने दादा के साथ फैसलाबाद में अपने घर में थी। तभी अचानक किसी ने दरवाजा खटखटाया। जैसी ही उसने दरवाजा खोला तीन लोग उसे वैन में डालकर फरार हो गए। उस वक्त फराह के पिता अपने काम पर गए हुए थे। बच्ची के परिजनों के मुताबिक, आरोपियों ने धमकी दी थी कि अगर उन्होंने उसे छुड़ाने की कोशिश की तो बहुत बुरा अंजाम होगा।

pakistan a 12 year girl raped (सांकेतिक फोटो- सोशल मीडिया)

बच्ची के अगवा हो जाने के बाद फराह के पिता ने नजदीकी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई और फराह के दादा ने अपराधियों के नाम बी बताए। परिवार का आरोप है कि उस वक्त पुलिस ने इस मामले में कोई एक्शन नहीं लिया। उल्टा अधिकारियों ने उन्हें गालियां दीं और थाने में धक्का दे दिया। आरोपी फराह को 110 किलोमीटर दूर हाफिजाबाद लेते गए थे, जहां पर उसे बेड़ियों से बांधकर रखा गया था।

यह भी पढ़ें: अनोखा आदमीः जिसके शरीर मे ऐसी एंटीबॉडी, कोरोना को कर दें फेल

रस्सियों और जंजीरों से बांधकर रखा फराह को

आरोपियों ने उसके साथ कई बार रेप भी किया। फराह ने बताया कि उसे उन लोगों ने रस्सियों और जंजीरों से बांधकर रखा था और घर के सभी काम करवाते थे। फराह ने बताया कि उसे धर्मांतरण कर मुस्लिम धर्म अपनाने पर मजबूर किया गया और इसके बाद एक अपहरणकर्ता से शादी करवा दी गई।

पाकिस्तान में लीगल हैं ऐसी शादियां

बता दें कि पाकिस्तान में शरिया कानून के मुताबिक, अगर लड़का और लड़की 16 साल से कम हैं तो भी उनकी शादी लीगल होती है। पाकिस्तान की बीती जनगणना के मुताबिक, वहां पर ईसाईयों की कुल आबादी एक फीसदी यानी करीब 20 लाख है। पाक के मानवाधिकार संगठनों के मुताबिक, वहां पर सालाना हजारों हिंदू, सिख और ईसाई लड़कियों को इन घटनाओं का सामना करना पड़ता है।

यह भी पढ़ें: आसमान से गिरी मौत: स्काईडाइविंग के दौरान हादसा, पैराशूट बना काल

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story