×

इमरान पर आई मुसीबत! आजादी मार्च ने इस्लामाबाद की ओर किया रुख

पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार के खिलाफ विपक्ष पार्टी आजादी मार्च निकाल रहा है। इस आजादी मार्च का नेतृत्व जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (जेयूआई-एफ) के अध्यक्ष मौलाना फजलुर रहमान कर रहे हैं।

Shreya
Updated on: 1 Nov 2019 6:53 AM GMT
इमरान पर आई मुसीबत! आजादी मार्च ने इस्लामाबाद की ओर किया रुख
X
पाकिस्तान की चाल बदली: आखिर क्यों भारत के सामने फैला रहा हाथ
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार के खिलाफ विपक्ष पार्टी आजादी मार्च निकाल रहा है। इस आजादी मार्च का नेतृत्व जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (जेयूआई-एफ) के अध्यक्ष मौलाना फजलुर रहमान कर रहे हैं। विपक्षियों के आजादी मार्च का ये कारवां राजधानी इस्लामाबाद तक जा पहुंचा है, इस्लामाबाद की रैली शुक्रवार की नमाज के बाद शुरु होगी। बता दें कि इस मार्च की शुरुआत 27 अक्टूबर को कराची के सोहराब गोथ से हुई थी।

यह भी पढ़ें: राष्ट्रपति भवन में जर्मन चांसलर का स्वागत, जानें राष्ट्रगान के दौरान क्यों बैठीं रहीं

मार्च में कई विपक्षी पार्टियों ने लिया हिस्सा

इस आजादी मार्च में कई विपक्षी पार्टियां हिस्सा ले रही हैं। इस मार्च में पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन), पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी और अवामी नेशनल पार्टी भी शामिल हैं। सरकार विरोधी प्रदर्शन के तहत पहले से नियोजित की गई रैली शुक्रवार को होगी। इस बात की पुष्टि जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (जेयूआई-एफ) के नेता और रहमान के प्रवक्ता अकरम खान दुर्रानी ने की है। दुर्रानी ने इससे पहले बताया था कि पूरे देश की यात्रा करने वाला ये आजादी मार्च रात को राजधानी में रुकेगा।

मार्च से घबरायी इमरान सरकार

विपक्षी पार्टियों के इस आजादी मार्च से इमरान खान की कुर्सी खतरे में नजर आ रही है। क्योंकि सरकार ने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए सेना को तैनात किया है। वहीं सेना ने प्रदर्शनकारियों को इस्लामाबाद जाने से रोकने के लिए हाईवे पर शिपिंग कंटेनर बिछा दिए हैं। लोगों का मानना है कि, एक साल पहले सत्ता में आई सरकार के खिलाफ इतना बड़ा आंदोलन अप्रत्याशित है।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान में मौत की ट्रेन: 73 जलकर खाक, 30 से अधिक घायल

इमरान खान पर धोखाधड़ी का लगाया आरोप

सरकार के खिलाफ ये रैली पहले गुरुवार को होने वाली थी, लेकिन लाहौर रेल घटना के चलते इस रैली को एक दिन के लिए रोक दिया गया। इस त्रासदी में कम से कम 74 लोगों की मौत हो गई। बता दें कि जेयूआई-एफ के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान ने इमरान खान पर 2018 के आम चुनावों में धोखाधड़ी करने का आरोप लगाते हुए, उनके इस्तीफे की मांग की है। इसके अलावा रहमान ने इमरान खान पर आर्थिक कुप्रबंधन, अकुशल एवं खराब शासन की वजह से आम जनता की कठिनाइयों को बढ़ाने का भी आरोप लगाया है।

शुक्रवार की नमाज के बाद शुरु होगी रैली

जेयूआई-एफ के वरिष्ठ नेता अकरम खान दुर्रानी ने कहा कि, इस्लामाबाद की रैली अब शुक्रवार की नमाज के बाद शुरु होगी, इस रैली को विपक्षी दलों के वरिष्ठ नेता संबोधित करेंगे। पीएमएल-एन के नेता अहसान इकबाल ने कहा कि विपक्षी दलों ने रेल त्रासदी को मद्देनजर रखते हुए इस्लामाबाद रैली को स्थगित करने का फैसला किया है।

यह भी पढ़ें: शाह से सिद्धू की मुलाकात को लेकर सियासी हलचल हुई तेज, कांग्रेस ने कही ये बात

Shreya

Shreya

Next Story