×

अब इमरान सरकार ने पाक में आई इस त्रासदी के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार

डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब के प्रांतीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (पीडीएमए) ने सोमवार को भारत द्वारा नदी में पानी छोड़े जाने के बाद सतलज में बढ़ते जलस्तर के कारण बाढ़ का अलर्ट जारी किया है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 20 Aug 2019 1:20 PM GMT

अब इमरान सरकार ने पाक में आई इस त्रासदी के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

इस्लामाबाद: पाकिस्तान आए दिन हर बात के लिए भारत को जिम्मेदार ठहरा देता है। पिछले कुछ दिनों से अपनी जनता का ध्यान लगातार बढ़ती महंगाई और मुल्म की खस्ता हालत से भटकाने के लिए इमरान खान की सरकार कश्मीर राग अलाप रही है।

हालात ये हैं कि सरकार के सभी मंत्रियों ने रोजमर्रा के कामकाज छोड़ हर जगह कश्मीर का मुद्दा उठाया हुआ है।

शायद इसी वजह से अब पाकिस्तान के पूर्वी हिस्से यानी पाकिस्तानी पंजाब की नदियों में पहाड़ों पर हो रही बारिश की वजह से लगातार बढ़ते जलस्तर की तरफ उसका ध्यान ही नहीं गया।

ये भी पढ़ें...सलमान खान पर लटकी बैन की तलवार, जानिए क्या है ये पूरा मामला

अब जब नदियां उफान पर हैं, ऐसे में तो पाकिस्तान इसका कसूरवार भी भारत को ठहरा रहा है।

पाकिस्तान के पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा प्रांतों के अधिकारियों ने सतलज और अलची बांध में पानी छोड़े जाने के बाद बाढ़ से संबंधित अलर्ट जारी किया है।

क्या कहती है डान की रिपोर्ट

डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब के प्रांतीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (पीडीएमए) ने सोमवार को भारत द्वारा नदी में पानी छोड़े जाने के बाद सतलज में बढ़ते जलस्तर के कारण बाढ़ का अलर्ट जारी किया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, पंजाब के पीडीएमए ने सोमवार को जिले के गंडा सिंह वाला गांव में 125,000 और 175,000 क्यूसेक के बीच बाढ़ का पानी पहुंचने की संभावना जताई है।

इसके अलावा, संबंधित एजेंसियों को सुरक्षात्मक उपाय करने के लिए निर्देश भी दिए गए हैं। पीडीएमए खैबर पख्तूनख्वा के महानिदेशक ने रविवार को कहा कि भारत की ओर से अचानक अलची बांध में पानी छोड़ा गया है, जिससे सिंधु नदी में बाढ़ की स्थिति पैदा हो सकती है।

ये भी पढ़ें...लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर हैं अरुण जेटली, जानिए कैसे करता है काम

उन्होंने विभिन्न प्रांतीय उपायुक्तों को एक चेतावनी जारी करते हुए एक पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि पानी को तारबेला बांध तक पहुंचने के लिए 12 घंटे लगेंगे, जबकि डेरा इस्माइल खान तक पानी पहुंचने में लगभग 15 से 18 घंटे का समय लगेगा।

अधिकारी ने प्रांतीय अधिकारियों को किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए सिंधु नदी के पास निगरानी करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही एहतियात के तौर पर नावों और तैराक का इंतजाम करने को भी कहा गया है।

अनुच्छेद 370 हटने के बाद से पाक कर रहा अनर्गल बयानबाजी

जम्मू-कश्मीर के विशेषाधिकारों से जुड़े अनुच्छेद 370 में बदलाव के बाद से ही पाकिस्तान भारत के खिलाफ जमकर बयानबाजी कर रहा है।

कश्मीर मसले पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का समर्थन नहीं मिलने से हताश पाकिस्तान ने हड़बड़ी में भारत के साथ कूटनीतिक संबंधों में कमी लाने और व्यापारिक संबंध खत्म करने जैसे आत्मघाती कदम भी उठाए हैं।

बता दें कि सिंधु जल समझौते के तहत दोनों देश आपस में रावी, सतलज और ब्यास नदी के बहाव को लेकर एक-दूसरे के साथ जानकारी साझा करते हैं।

ये भी पढ़ें...अनुच्छेद 370: इमरान की पूर्व पत्नी ने खोली पाक पीएम की पोल, कही ये बड़ी बात

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story