×

करतारपुर कॉरिडोर: पाकिस्तान ने जारी किया 4200 तीर्थयात्रियों का वीज़ा

इमरान खान ने ट्वीट में लिखा है कि, गुरु नानक जी के 550वीं जयंती पर्व के लिए करतारपुर को तय समय में तैयार करने के लिए मैं अपनी सरकार को बधाई देता हूं।

Shivakant Shukla
Updated on: 4 Nov 2019 12:46 PM GMT
करतारपुर कॉरिडोर: पाकिस्तान ने जारी किया 4200 तीर्थयात्रियों का वीज़ा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने गुरु नानक देव जी के 550 जयंती के अवसर पर अब तक 4200 भारतीय सिख तीर्थयात्रियों को वीज़ा जारी किया है। ये तीर्थयात्री 5 नवंबर से 14 नवंबर के बीच करतारपुर कॉरीडोर का दर्शन करने जा सकेंगे। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे।

इसके पहले रविवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने करतारपुर परिसर और गुरुद्वारा दरबार साहिब की कुछ बेहतरीन तस्वीरें साझा की हैं। इमरान खान ने कहा था कि आस्था का यह केंद्र सिख श्रद्धालुओं का गुरुनानक देव की 550वीं जयंती पर स्वागत करने के लिए तैयार है।

इमरान खान ने शेयर की तस्वीरें

इमरान खान ने अपने ट्वीटर पर ये तस्वीरें ट्वीट करके श्रद्धालुओं की उत्सुकता और बढ़ा दी है। वैसे भी करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन का सभी श्रद्धालुओं को बेसब्री से इंतजार है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा था कि सिख श्रद्धालुओं का स्वागत करने के लिए करतारपुर तैयार है। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने अपनी सरकार को निर्माणकार्य समय पर पूरा करने के लिए बधाई दी।

यह भी पढ़ें: भगवान इंद्र को करें खुश! इस मंत्री ने कहा प्रदूषण दूर करने के लिए करें यज्ञ

इमरान खान ने ट्वीट में लिखा है कि, गुरु नानक जी के 550वीं जयंती पर्व के लिए करतारपुर को तय समय में तैयार करने के लिए मैं अपनी सरकार को बधाई देता हूं।

सेवा शुल्क को भी हटाया गया

ऐसा माना जा रहा है कि ऐसा करके पीएम इमरान खान धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इससे पहले इमरान खान ने करतारपुर आने के लिए इच्छुक सिख श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट की शर्त को खत्म कर दिया था। इसके अलावा करतारपुर गलियारे के उद्घाटन और गुरुनानक देव की 550वीं जयंती के दिन पाकिस्तान द्वाया सेवा शुल्क के तौर पर लगाया जाने वाला 20 अमेरिकी डालर (करीब 1400 रुपये) का शुल्क भी नहीं लगाया जाएगा।

बता दें कि करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन ऐसे वक्त में होने वाला है जब पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में हजारों का संख्या में प्रदर्शनकारी मौजूद हैं। ये सभी प्रदर्शनकारी इमरान खान के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: WhatsApp हैकर्स कुछ नहीं बिगाड़ पाएंगे आपका, अगर अपनाएंगे ये टिप्स

बता दें कि श्रद्धालुओं को दर्शन करके उसी दिन वापस आना होगा। इस पर एलपीआई प्रमुख ने बताया कि 5 हजार श्रद्धालु हर दिन गुरुद्वारा जा सकते हैं और उनको उसी दिन वापस आना होगा। मोहन ने कहा कि श्रद्धालुओं को भारतीय सीमा पार करने वाले दिन ही करतारपुर कॉरिडोर का दर्शन करके वापस आना होगा।

बता दें कि करतारपुर साहिब गुरुद्वारा पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नारोवाल जिले में स्थित है। जो कि लाहौर से करीब 125 किलोमीटर दूर पर है। इस गुरुद्वारे का सिखों के लिए काफी महत्व है क्योंकि गुरुनानक देव ने अपने जिंदगी के 18 साल और अंतिम समय यहीं पर बिताया था।

यह भी पढ़ें: हाय रे प्रदूषण: जीना कर दिया मोहाल,ऐसे रखें अपना और बच्चों का ख्याल

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story