Top

भूखों मरेगा पाकिस्तान: अब भारत के सामने गिड़गिड़ाएगा, इमरान का बुरा हाल

 पाकिस्तान में  बढ़ती महंगाई ने लोगों के मुहं से निवाला छिन लिया है।  महंगाई की मार से  स्थिति ये हैं कि अब गेहूं का दाम बढ गया है और गेंहू रिकॉर्ड को तोड़  उछाल आया है। 

Suman

SumanBy Suman

Published on 7 Oct 2020 5:40 AM GMT

भूखों मरेगा पाकिस्तान: अब भारत के सामने गिड़गिड़ाएगा, इमरान का बुरा हाल
X
देशवासियों को महंगाई की मार को झेलने पर मजबूर कर दिए  हैं। पाकिस्‍तान में तो महंगाई दर आने वाले समय में 20 फीसदी का भी आंकड़ा छू सकती है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : कमरतोड़ महंगाई ने पाकिस्‍तान के लोगों का जीना दुभर कर दिया है। देश में महंगाई दर अब 14.56 फीसद तक जा पहुंची है। इसकी वजह से हर रोज लोगों की मुश्किलें बढ़ने लगी है। दूध, रोटी, नान, ब्रेड, मक्‍खन, मटन, चिकन, फल और सब्‍जी के दामों में जबरदस्‍त उछाल आया है। ऐसे में लोग क्या खाएं क्या ना खाएं। सोच पड़ गए है।

पाकिस्तान की इमरान सरकार महंगाई पर काबू पाने में पूरी तरह विफल रही है। पाएम बनने के बाद इमरान खान महंगाई को लेकर हर रोज एक नया रिकार्ड बना रहे है। देशवासियों को महंगाई की मार को झेलने पर मजबूर कर दिए हैं। पाकिस्‍तान में तो महंगाई दर आने वाले समय में 20 फीसदी का भी आंकड़ा छू सकती है।

यह पढ़ें...औरेया: दुकान में लगी भीषण आग, सो रहे व्यापारी की दर्दनाक मौत

रोटी के पड़े लाले

पाकिस्तान में बढ़ती महंगाई ने लोगों के मुहं से निवाला छिन लिया है। महंगाई की मार से स्थिति ये हैं कि अब गेहूं का दाम बढ गया है और गेंहू रिकॉर्ड को तोड़ उछाल आया है। दाम 60 रुपये प्रति किलो तक गेंहू बिक रहा है। जो अबतक का सबसे ज्यादा है।। इमरान सरकार हर कोशिश के बाद नाकाम है। गेंहू का दाम 2400 रुपये प्रति 40 किलो से नीचे नहीं रख पाई है।

imran khan सोशल मीडिया से

हालात काबू के आसार नहीं

खबरों के मुताबिक पिछले साल दिसंबर में महंगाई को लेकर भी ऐसे ही हालात थे। जब गेहूं के लिए काफी मुश्किलें पैदा हो रही थीं। अब फिर इस साल अक्टूबर में यही हाल हो गया है, रिपोर्ट में दावा है कि दिसंबर तक हालात और बिगड़ेेगे। दाम में बढ़ोतरी के बाद पाकिस्तान में अनाज एसोसिएशन ने सरकार से गुजारिश की है कि उन्हें फंड दिया जाए, जिससे समय रहते फसल पैदा हो सके और दाम में कटौती आए। लेकिन ना तो केंद्र सरकार और ना ही किसी प्रांत की सरकार की ओर से फंड देने की बात पर मुहर लगी है।

यह पढ़ें...आप विधायक पर योगी सरकार का कड़ा एक्‍शन, हाथरस में दर्ज हुआ मुकदमा

रुस से मांगा गेंहू, दाम को फिक्स का प्रस्ताव

इमरान सरकार ने रूस से गेहूं मंगाई है। पाकिस्तान में रूस से आ रहा अनाज इस महीने करीब 2 लाख मीट्रिक टन तक आएगा। इसके बाद प्रस्ताव भेजा जाएगा कि रोटी की तरह ही गेहूं, चीनी और चिकन के दाम को फिक्स किया जाए। दूसरी ओर पाकिस्तान में बीज को लेकर भी हाहाकार है। किसानों और बीज कॉर्पोरेशन ने सरकार से 24 घंटे के अंदर दाम तय करने की मांग की है। पिछले साल से तुलना में पाकिस्तान में महंगाई की दर कम है लेकिन बढ़ने की आशंका पूरी है।

gehu pakistan सोशल मीडिया से

दिवालियापन के कगार पर खड़ा पाकिस्तान

जब से महंगाई ने देश में दस्तक दी है, पाकिस्‍तान पर कर्ज बढ़ता जा रहा है। महंगाई और कर्ज में डूबे पाकिस्‍तान जनता को नया पाकिस्‍तान बनाने का सुनहरा ख्‍वाब दिखाया था। लेकिन दो वर्ष बाद इस ख्‍वाब की हकीकत यहां के लोगों के चेहरे पर साफ दिखाई दे रही है।

बता दें कि पाकिस्‍तान लगातार आर्थिकतौर पर दिवालिया होने की तरफ बढ़ रहा है सके बावजूद भी पाकिस्‍तान की आर्थिक स्थिति लगातार बद से बदत्‍तर होती जा रही है। बीते पांच वर्षों की तुलना करें तो वर्तमान में हर चीज के रेट पाकिस्‍तान में 2-3 गुणा तक बढ़ चुके हैं। पाकिस्‍तान में आर्थिक बदहाली की सबसे बड़ी वजह इमरान सरकार की खराब नीतियां रही हैं।

Suman

Suman

Next Story