पाकिस्तान में हिंदुओं का हल्ला बोल, भारतीय दूतावास पर किया प्रदर्शन, ये है वजह

पाकिस्तानी हिंदुओं को आवाजा वहां सरकार और सेना दबा देती है। अब इस बीच पाकिस्तान में स्थित भारतीय उच्च दूतावास कार्यालय के बाहर वहां के हिंदुओं ने प्रदर्शन किया है।

Pakistani Hindu

पाकिस्तान में हिंदुओं का हल्ला बोल, भारतीय दूतावास पर किया प्रदर्शन, ये है वजह (फोटो: सोशल मीडिया)

 

नई दिल्ली: पाकिस्तान में हिंदुआ के खिलाफ अत्याचार के मामले आए दिए सामने आते रहते हैं। पाकिस्तानी हिंदुओं को आवाजा वहां सरकार और सेना दबा देती है। अब इस बीच पाकिस्तान में स्थित भारतीय उच्च दूतावास कार्यालय के बाहर वहां के हिंदुओं ने प्रदर्शन किया है।

हिंदुओं ने इस बार प्रदर्शन पाकिस्तान में हो रहे उनके ऊपर अत्याचार को लेकर प्रदर्शन नहीं किया, बल्कि भारत में पिछले दिनों 11 अप्रवासी हिंदुओं की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे।

गौरतलब है कि भारत में पाकिस्तान से भारत पहुंचे 11 अप्रवासी हिंदू प्रवासियों की मौत हो गई थी। हिंदु प्रवासियों की मौत राजस्थान के जोधपुर जिले में हुई थी।

यह भी पढ़ें…भारत से कांपे दुश्मन: हुआ हाईटेक मिशन में शामिल, चीन-पाकिस्तान की हालत खराब

भारतीय उच्च दूतावास के बाह प्रदर्शन

हिंदू समुदाय के लोगों ने इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्च दूतावास के बाह प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि प्रवासियों की मौत भारत के किसी सिक्रेट सर्विस के लिए काम कर रहे लोगों द्वारा जहर देने से हुई है। इन सभी प्रवासियों की मौत एक फार्महाउस में हुई थी।

Pakistan Police

प्रदर्शनकारियों ने नारे भी लगाए

भारतीय उच्च दूतावास के बाहर प्रदर्शन पर बैठे पाकिस्तान में रह रहे हिंदू प्रदर्शनकारियों ने नारे भी लगाए। उन्होंने आरोप लगाया कि अप्रवासियों की मौत रहस्मयी तरीके से हुई है। पाकिस्तान के अल्पसंख्य हिंदु समुदाय में भारत में हुई घटना को लेकर गुस्सा है। वे इस मामले में भारत सरकार से न्याय की अपील लगातार कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें…दिल्ली दंगा: चौंकाने वाला खुलासा, हिंसा में पाकिस्तान का हाथ, ये लोग थे शामिल

बता दें कि राजस्थान के जोधपुर में एक ही परिवार के 11 लोगों की संदिग्ध मौत हो गई थी। शुरुआती जांच से पता चला था कि इन सभी लोगों को 38 साल की लक्ष्मी ने जहर का इंजेक्शन देकर मौत के घाट उतारा है। सभी पाकिस्तान से लौटकर आए हिंदु शरणार्थी थे।

लक्ष्मी 75 साल बुधाराम की बेटी थी। पुलिस ने शव के पास से जहर की शीशियां और इंजेक्शन मिले थे। पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया था कि सभी लोगों को चूहे मारने की दवा का इंजेक्शन लगाया गया था। शव के पास से ही अल्प्राजोलम टेबलेट भी बरामद किए गए थे। इस टैबलेट का इस्तेमाल नींद की दवाई के तौर किया जाता है।

यह भी पढ़ें…मोदी की ललकार: UN में गरजेंगे भारतीय PM, पाकिस्तान को देंगे ऐसा जवाब

पुलिस को शक था लक्ष्मी ने ही परिवार के सभी लोगों को इंजेक्शन दिया है, क्योंकि उसे इंजेक्शन देना आता था। लक्ष्मी ने पाकिस्तान में नर्सिंग की पढ़ाई की थी। पुसिस के आशंका की वजह यह है कि मरने वाले सभी परिवार 10 के लोगों के हाथ में सूई दी गई, जबकि लक्ष्मी के पैर में इंजेक्शन लगा था।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App