रूस, उत्तर कोरिया और मुस्लिम देशों में बलात्कारियों को दी जाती है ये खौफनाक सजा

निर्भया गैंगरेप केस में दोषियों को फांसी की सजा दिए जाने की घोषणा की गई है, लेकिन अब एक बार फिर उनकी फांसी टल गई है। दोषियों को 22 जनवरी को फांसी होनी थी। भारत में रेप के रेयर ऑफ रेयरेस्ट केस में फांसी की सजा का प्रावधान है।

नई दिल्ली: निर्भया गैंगरेप केस में दोषियों को फांसी की सजा दिए जाने की घोषणा की गई है, लेकिन अब एक बार फिर उनकी फांसी टल गई है। दोषियों को 22 जनवरी को फांसी होनी थी। भारत में रेप के रेयर ऑफ रेयरेस्ट केस में फांसी की सजा का प्रावधान है, लेकिन दुनिया के अधिकतर देशों में भी रेप को लेकर जीरो टॉलरेंस है। आइए बताते हैं दुनिया के तमाम देशों में बलात्कारियों के लिए किस तरह की सजा का प्रावधान है।

अमेरिका का फेडेरल लॉ “बलात्कार” या रेप शब्द का प्रयोग नहीं करता है। अमेरिका का कानून बिना सहमति के यौन संबंध बनाने का अपराध मानता है। ये वहां के कानून अमेरिका कोड (18 यूएससी। 2241-224) के चैप्टर 109 ए के तहत समूहीकृत किया है। फेडरल लॉ में इस अपराध की सजा जुर्माना से लेकर उम्रकैद हो सकती है।

क्रिमिनल कोड ऑफ रूस के अनुच्छेद 131 के मुताबिक बलात्कार को हिंसा या हिंसा की धमकी का इस्तेमाल कर विषमलैंगिक योनि संभोग के रूप में परिभाषित करता है। रूस में रेप जैसे जुर्म के लिए अधिकतम सजा 30 साल तक की है। अपराध कितना संगीन है यह उस पर निर्भर करता है।

यह भी पढ़ें…विदेश से जुड़े हैं नागरिकता कानून विरोध के तार

पाकिस्तान में रेप को एक जघन्य अपराध माना जाता है। यहां बलात्कारी को सजा-ए-मौत से लेकर कठोरतम कारावास दी जाती है। पाकिस्तान में हुदूद अध्यादेश में ज़िनाह अल-जब्र (बलात्कार) कानून के मुताबिक गैंग रेप के अपराधी को विशेष रूप से मौत की सजा दी जाती है। इसके अलावा शारीरिक दंड के साथ बलात्कारियों को जेल की सजा का भी एक विकल्प है।

यह भी पढ़ें…दिल्ली चुनाव: बीजेपी-कांग्रेस पर सबकी निगाहें, उम्मीदवारों के नामों का ऐलान आज

उत्तर कोरिया में रेप के दोषी को कठोर से कठोर सजा देने का प्रावधान है। यहां रेपिस्ट को सरेआम सिर में कई गोलियां मारी जाती हैं। संयुक्त अरब अमीरत में भी बलात्कारी को सीधे मौत की सजा दी जाती है। यूएई में कानुन के मुताबिक बलात्कारी को एक हफ्ते के भीतर ही फांसी दे दी जाती है।

यह भी पढ़ें…एक झटके में बनी 20 हजार गर्लफ्रेंड, अब एक जाएगी चांद पर

ज्यादातर इस्लामिक देशों में बलात्कर पर कड़ी सजा का प्रावधान है। जैसे इराक में भी बलात्कारी को सजा-ए-मौत मिलती है। वो भी बेहद कठोर तरीके से रेपिस्ट को पत्थर मारकर मौत की सजा दी जाती है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App