×

कोरोना का होगा खात्मा: इस देश को मिली बड़ी कामयाबी, बना ली दो वैक्सीन

कोरोना वायरस दुनिया में तबाही मचा रहा है। अब इस बीच रूस कोरोना वायरस से जंग जीतता दिखाई दे रहा है। रूस का कहना है कि उसने कोरोना वायरस की दूसरी नई वैक्सीन बना ली है।

Newstrack
Updated on: 23 Aug 2020 5:54 AM GMT
कोरोना का होगा खात्मा: इस देश को मिली बड़ी कामयाबी, बना ली दो वैक्सीन
X
कोरोना का होगा खात्मा: इस देश को मिली बड़ी कामयाबी, बना ली दो वैक्सीन
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: कोरोना वायरस दुनिया में तबाही मचा रहा है। अब इस बीच रूस कोरोना वायरस से जंग जीतता दिखाई दे रहा है। रूस का कहना है कि उसने कोरोना वायरस की दूसरी नई वैक्सीन बना ली है।

इससे पहले 11 अगस्त को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने एलान किया था कि रूस ने कोरोना वायरस की सफल वैक्सीन बना ली है। वैक्सीन बनाने वाला रूस पहला देश बन गया था। रूस ने पहली कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की अनुमति दे दी थी।

अब रूस ने दूसरी वैक्सीन तैयार करने का दावा किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रूस ने कहा है कि पहली वैक्सीन के जो साइड इफेक्ट सामने आए थे, वह नई वैक्सीन लगाने पर नहीं होंगे।

यह भी पढ़ें...ऐसा क्या हुआ, थरूर गुस्से में बोले- सत्ता में है टुकड़े-टुकडे़ गैंग, जानें पूरा मामला

रूस की पहली वैक्सीन का नाम Sputnik5 था, तो वहीं रूस ने दूसरी वैक्सीन को EpiVacCorona नाम दिया है। रूस ने EpiVacCorona वैक्सीन को निर्माण साइबेरिया के वर्ल्ड क्लास वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट (वेक्टर स्टेट रिसर्च सेंटर ऑफ वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी) में बनाया है। पहले यह इंस्टीट्यूट टॉप सीक्रेट बायोलॉजिकल वेपन रिसर्च प्लांट था।

Covid-19 Vaccine

यह भी पढ़ें...कोरोना ने तोड़ा रिकार्ड, 24 घंटे में आए इतने ज्यादा केस, ये राज्य सबसे ज्यादा प्रभावित

रूसी वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि EpiVacCorona वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल सितंबर में पूरा जाएगा। कंपनी ने 57 वॉलेंटियर्स को टीका लगाया है उनमें से किसी को भी किसी प्रकार का साइड इफेक्ट नहीं हुआ है। सभी वॉलेंटियर स्वस्थ हैं।

यह भी पढ़ें...भारत के लिए खुशखबरी: इतने दिनों में आ जाएगी कोरोना वैक्सीन, मुफ्त में लगेगा टीका

EpiVacCorona की भी दो खुराकें दी जाएंगी। पहली खुराक के 14 से 21 दिन के बाद दूसरी खुराक लोगों को दी जाएगी। रूस ने उम्मीद जताई है कि अक्टूबर तक इस वैक्सीन को रजिस्टर कर लिया जाएगा और नवंबर से इसका उत्पादन शुरू किया जाएगा।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story