यहां आसमान से गिराए गये घातक बम, पल भर में बिछ गई लाशें, बने युद्ध जैसे हालात

अमेरिका और तुर्की के बीच तल्खी कम होने का नाम नहीं ले रही है। बताया जा रहा है कि अमेरिका ने अभी इस तल्खी को कम करने के लिए कदम बढ़ाया ही था कि तुर्की ने फिर ऐसी हरकत कर दी थी दोनों देशों के बीच एक बार फिर से युद्ध जैसे हालात बन गये है।

Published by Aditya Mishra Published: October 10, 2019 | 4:48 pm
Modified: October 10, 2019 | 4:52 pm

नई दिल्ली: अमेरिका और तुर्की के बीच तल्खी कम होने का नाम नहीं ले रही है। बताया जा रहा है कि अमेरिका ने अभी इस तल्खी को कम करने के लिए कदम बढ़ाया ही था कि तुर्की ने फिर ऐसी हरकत कर दी थी दोनों देशों के बीच एक बार फिर से युद्ध जैसे हालात बन गये है।

आपको बता दे कि बीतें दिनों अमेरिका ने तुर्की की सीमा से अपने सैनिकों को हटाने का निर्णय किया था। बुधवार को तुर्की ने अमेरिकी सेना के हटते ही सीरिया में कुर्दिश लड़ाकों पर बम गिराने का काम शुरू कर दिया।

ये भी पढ़ें…अमेरिका ने लगाई पाक की क्लास! कहा- आतंक के खिलाफ उठाना पड़ेगा कदम

शुरूआती जानकारी के मुताबिक इस हमले में सात स्थानीय नागरिकों की जान हो चली गई। तुर्की के राष्ट्रपति तैय्यप एद्रोगन ने ट्विटर पर हमले की घोषणा की थी। उन्होंने इसे ‘ऑपरेशन पीस स्प्रिंग’ करार दिया था।

उधर सेना हटाने के कुछ समय के बाद ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नाटो के सहयोगी तुर्की को चेतावनी दी थी कि यदि उसने सीरिया के खिलाफ कार्रवाई की तो उसकी अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर देंगे। अमेरिका के कदम से आईएस के खिलाफ लड़ाई में उसके मुख्य सहयोगी कुर्द अकेले पड़ गए थे।

वहीं, तुर्की के इस कदम पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का मानना है कि तुर्की तर्कसंगत कार्य करेगा। तुर्की की अर्थव्यवस्था के खिलाफ चेतावनी देते हुए ट्रंप ने कहा कि अगर उत्तरी सीरिया में अंकारा ने अपने ऑपरेशन को यथासंभव मानवीय रूप से नहीं किया तो वह प्रतिबंधों के कहीं अधिक सख्त कदम उठाने पर विचार करेंगे।

ये भी पढ़ें…चीन का खतरनाक हथियार: कुछ ही सेंकेंड में तबाह हो जाएगा अमेरिका