ये पुलिसकर्मी बना आतंकी, अपने ही साथी पुलिसकर्मियों की बिछा दी लाशें

आए दिन बड़े-बड़े हादसों की खबरें आती रहती है। हर जगह आरोपी अपने बुरे कामों को अंजाम दे रहे हैं। दुनिया ने ऐसा कोई देश नहीं है जहां हत्या, लूट या बम ब्लास्ट न हो।

नई दिल्ली: आए दिन बड़े-बड़े हादसों की खबरें आती रहती है। हर जगह आरोपी अपने बुरे कामों को अंजाम दे रहे हैं। दुनिया ने ऐसा कोई देश नहीं है जहां हत्या, लूट या बम ब्लास्ट न हो। ऐसा ही कुछ भारत के पड़ोसी देश अफगानिस्तान में देखने को मिला। वहां के कुंदूज प्रांत में आतंकवादी संगठन तालिबान से जुड़े एक पुलिसकर्मी ने अपने साथियों पर अंधाधुंध गोलियां चला दी जिसमें 06 पुलिसकर्मियों की मौत हो गयी।

ये भी पढ़ें:इन विद्रोहियों ने सेना को दिया झटका: मार गिराया ये लड़ाकू विमान

ऐसा बताया जा रहा है कि ये हमला गुरुवार को इमाम साहब जिले में एक सुरक्षा चौकी पर हुआ। ऐसा बताया कि तालिबानी आतंकवादियों के साथ जुड़ने से पहले उसने ये हमला किया।

पहले भी हो चुके हैं ऐसे हमले

पूर्वी अफगानिस्तान में तालिबान द्वारा किए गए एक कार बम विस्फोट में कम से कम 14 लोगों की जान चली गई और करीब 150 लोग घायल हुए थे। यह हमला ऐसे समय में हुआ है जब तालिबान के प्रतिनिधि अमेरिकी वार्ताकारों और अफगान प्रतिनिधियों के साथ, अफगानिस्तान में पिछले 18 साल से जारी हिंसा को समाप्त करने के लिए दोहा में शांति वार्ता कर रहे हैं।

आत्मघाती हमले का निशाना खुफिया इकाई का परिसर था

जानकारी के अनुसार, गजनी के प्रांतीय गवर्नर के प्रवक्ता अरेफ नूरी ने बताया कि पूर्वी शहर गजनी में रविवार को हुए आत्मघाती हमले का निशाना गजनी स्थित खुफिया इकाई का परिसर था। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वाहिदुल्ला मयर ने बताया कि हमले में 12 लोगों की मौत हुई थी।

ये भी पढ़ेंब्रह्माजी के 5 सिर थे, जानिए भगवान शिव ने एक सिर को क्यों काट दिया था…

एक व्हाट्सएप संदेश में तालिबान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। आपको बता दें कि तालिबान-अमेरिका वार्ता के सातवें चरण के सफल रहने पर अमेरिका विभिन्न शर्तों पर अफगानिस्तान से अपने सैनिक वापस बुला सकता है।