Top

पाकिस्तान युद्ध को तैयार: खरीद रहा ये खतरनाक हथियार, अलर्ट हुआ भारत

पाकिस्तान अपनी नौसेना की ताकत को बढ़ाने के लिए चीनी डिजाइन पर आधारित टाइप 039 बी युआन क्लास की पनडुब्बी खरीद रहा है। डीजल इलेक्ट्रिक चीन की यह पनडुब्बी पाकिस्तान की नौसैनिक ताकत में इजाफा करने में सक्षम है। जिसमें एंटी शिप क्रूज मिसाइल लगी होती हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 25 Oct 2020 11:41 AM GMT

पाकिस्तान युद्ध को तैयार: खरीद रहा ये खतरनाक हथियार, अलर्ट हुआ भारत
X
पाकिस्तान युद्ध को तैयार: खरीद रहा ये खतरनाक हथियार, अलर्ट हुआ भारत
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत के दोनों पड़ोसी देश पाकिस्तान और चीन अपनी सैनिक गतिविधियों को बढ़ाने का प्रयास करते रहते हैं। पाकिस्तानी नौसेना अपनी सामरिक ताकत को बढ़ाने का काम कर रही है। तुर्की सरकार की कंपनी पाकिस्तानी नौसेना के लिए कराची में मैग्नम क्लास की कॉर्वेट का निर्माण कर रही है। बता दें कि जहाज के ढांचे को पानी में डालने की सेरेमनी में मुख्त अतिथि के रूप में तुर्की के रक्षा मंत्री हुलुसी अकार भी शामिल हुए। इस युद्धपोत को 2023 में पाकिस्तानी नौसेना में शामिल किया जा सकता है।

एंटी सबमरीन वॉरफेयर जैसे मिशन को देगी अंजाम

बताया जा रहा है कि तुर्की ने मध्यम श्रेणी के मैग्नम क्लास की कॉर्वेट का निर्माण शुरू में अपनी नौसेना के लिए किया था। बाद में पाकिस्तान के साथ हुई डील में इसे कराची में बनाया जा रहा है। मैग्नम क्लास की परियोजना के जरिए बहुउद्देशीय कॉर्वेट और फ्रिगेट बनाए जा रहे हैं। यह युद्धपोत टोही, सर्विलांस, अर्ली वॉर्निंग, एंटी सबमरीन वॉरफेयर जैसे मिशन को अंजाम दे सकती है। इसमें सतह से सतह और सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें भी तैनात होती हैं। इस परियोजना के तहत तुर्की पाकिस्तान की नौसेना के लिए चार जिन्ना-श्रेणी के फ्रिगेट भी बना रहा है।

pakistan-turky-2

ये भी देखें: मन की बात में मोदी ने किया बाराबंकी की तारीफ, सराहा ग्रामीण महिला के प्रयासों को

चीन के सहयोग से हेंगर पनडुब्बी परियोजना चला रहा पाकिस्तान

पाकिस्तानी नौसेना के पूर्व चीफ एडमिरल जफर महमूद अब्बासी ने कुछ दिन पहले ही अपने विदाई भाषण में कहा था कि हम अगले कुछ वर्षों में चार चीनी फ्रिगेट्स और 2023 से 2025 के बीच में तुर्की में बने हुए मध्यम श्रेणी के कई जहाजों को शामिल करेंगे। उन्होंने यह भी कहा था कि चीन के सहयोग के चल रही हेंगर पनडुब्बी परियोजना अपनी योजना के अनुसार आगे बढ़ रही है। इससे प्रोजक्ट के जरिए पाकिस्तान और चीन के लिए चार-चार पनडुब्बियों का निर्माण किया जा रहा है।

पाकिस्तान चीन से खरीद रहा 8 पनडुब्बी

मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तान अपनी नौसेना की ताकत को बढ़ाने के लिए चीनी डिजाइन पर आधारित टाइप 039 बी युआन क्लास की पनडुब्बी खरीद रहा है। डीजल इलेक्ट्रिक चीन की यह पनडुब्बी पाकिस्तान की नौसैनिक ताकत में इजाफा करने में सक्षम है। जिसमें एंटी शिप क्रूज मिसाइल लगी होती हैं। यह पनडुब्बी एयर इंडिपैंडेंट प्रपल्शन सिस्टम के कारण कम आवाज पैदा करती है। जिससे इसे पानी के नीचे पता लगाना बहुत मुश्किल होता है।

pakistan-turky-3

ये भी देखें: शाहरुख का बुर्का वाला किस्सा: सुन सभी रह गए दंग, गौरी से जुड़ी ये कहानी

सबसे शक्तिशाली और आधुनिक हैं अगोस्टा क्लास की पनडुब्बियां

वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान, फ्रांस में बने हुए अगोस्टा-19 बी टाइप की पांच पनडुब्बियों को संचालित करता है। इनमें से तीन एयर इंडिपेंडेंट पॉवर के साथ अपग्रेड की गई हैं। ये पनडुब्बियां पाकिस्तानी नौसेना के के शस्त्रागार में सबसे शक्तिशाली और आधुनिक है। इन पनडुब्बियों को आधुनिक लड़ाकू सिस्टम और AS-39 एक्सोसेट एंटी-शिप मिसाइल से लैस किया गया है। इसके अलावा इस क्लास की पनडुब्बियां परमाणु मिसाइल बाबर-3 को लॉन्च करने में सक्षम हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story