पाकिस्तान और तुर्की में शुरू हुई जंग! इमरान की हालत खराब, ये कंपनी बनी वजह

पुलिस की छापेमारी के बाद अल्बायर्क एंड ओज्पैक ग्रुप के प्रोजेक्ट मैनेजर केग्री ओजेल ने पाकिस्तान सरकार को पत्र लिखा है और माफी मांगने की बात कही है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर माफी नहीं मांगी गई तो कंपनी किसी भी नीलामी में शामिल नहीं होगी।

Published by Dharmendra kumar Published: December 25, 2020 | 7:03 pm
Turkey vs Pakistan

पाकिस्तान और तुर्की में शुरू हुई जंग! इमरान की हालत खराब, ये कंपनी बनी वजह (फोटो: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: पाकिस्तान और तुर्की आपस में भिड़ गए हैं। अभी तक दोनों देश खास दोस्त थे। तुर्की हर मौके पर पाकिस्तान के सुर में सुर मिला रहा था। पाकिस्तान और तुर्की के बीच दुश्मनी की वजह एक कंपनी है। अब देखना है कि दोनों देशों में शुरू हुई जंग आगे भी जारी रहती है या इमरान खान तुर्की से माफी मांग कर मामले को खत्म कर देते हैं।

दरअसल पाकिस्तान में तुर्की की एक कंपनी पर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। इसके बाद बवाल मच गया है। तुर्की की कंपनी ने इमरान सरकार से तुरंत माफी मांगने की मांग की है। पुलिस ने लाहौर में स्थित अल्बायर्क एंड ओज्पैक ग्रुप कंपनी के दफ्तर पर छापा मारा था। कंपनी ने आरोप लगाया है कि इस दौरान पुलिस ने उसके कर्मचारियों को जबरदस्ती हिरासत लिया और मारपीट की।

कंपनी ने दी चेतावनी

पुलिस की छापेमारी के बाद अल्बायर्क एंड ओज्पैक ग्रुप के प्रोजेक्ट मैनेजर केग्री ओजेल ने पाकिस्तान सरकार को पत्र लिखा है और माफी मांगने की बात कही है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर माफी नहीं मांगी गई तो कंपनी किसी भी नीलामी में शामिल नहीं होगी। तुर्की की इस कंपनी के पास लाहौर में कचरा प्रबंधन की जिम्मेदारी है।

turkey-pakistan

ये भी पढ़ें…सबसे अमीर डांसर: 735 करोड़ रुपये का इनका घर, मरने के बाद अब बिक गया

कर्मचारियों के साथ मारपीट

कंपनी ने आरोप लगाया है कि लाहौर की दंगा पुलिस ने उसके छह गेराज पर छापेमारी की। इस दौरान पुलिस ने कंपनी के कर्मचारियों और अधिकारियों को सड़क भगा दिया और उनको कई घंटे खुली सड़क पर रहने को मजबूर किया। इसके अलावा कई कर्मचारियों के साथ मारपीट की गई। यह भी आरोप लगाया है कि तुर्की के कर्मचारियों को उनका सामान नहीं तक लेने दिया।

ये भी पढ़ें…लें 93 डेज का हॉलिडे: खूब मजे करें ऐसे, तो जानें कैसे कर सकते हैं अप्लाई

दोनों देशों के बीच बढ़ सकती है दुश्मनी

जानकारों का कहना है कि इस विवाद की वजह से तुर्की और पाकिस्तान के रिश्तों में दरार पड़ सकती है। यह कंपनी तुर्की के राष्ट्रपति रेचप तैयप एर्दोगन की करीबी है। अगर पाकिस्तान में इस कंपनी के साथ दुर्व्यवहार होता है तो तुर्की के राष्ट्रपति का नाराज होना तय माना जा रहा है। लेकिन तुर्की के राष्ट्रपति मुस्लिमों देशों का खलीफा बनना चाहते हैं। तो इसलिए इसकी संभावना कम है कि तुर्की पाकिस्तान के खिलाफ कोई कार्रवाई करे।

ये भी पढ़ें…आ रही महा तबाही: साल 2021 में बिछ जाएंगी लाशें, नए साल में आएंगी ऐसी आपदाएं

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App