Top

कोरोना पर सबसे बड़ी चेतावनी: करोड़ों लोगों की होगी मौत! दोहरा सकता है ये इतिहास

कोरोना वायरस पूरी दुनिया में बढ़ता ही जा रहा है। इस जानलेवा महामारी ने पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। अब इस बीच अमेरिका के बड़े संक्रामक रोग वैज्ञानिक डॉ. एंथोनी फॉसी ने कोरोना को लेकर चेतावनी दी है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 16 July 2020 4:43 PM GMT

कोरोना पर सबसे बड़ी चेतावनी: करोड़ों लोगों की होगी मौत! दोहरा सकता है ये इतिहास
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना वायरस पूरी दुनिया में बढ़ता ही जा रहा है। इस जानलेवा महामारी ने पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। अब इस बीच अमेरिका के बड़े संक्रामक रोग वैज्ञानिक डॉ. एंथोनी फॉसी ने कोरोना को लेकर चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि अगर दुनिया भर के देश सही तरीके नहीं अपनाते हैं तो कोरोना वायरस 1918 में फैली महामारी की तरह गंभीर रूप धारण कर लेगा।

डॉ. एंथोनी फॉसी ने ये बातें जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी में आयोजित ग्लोबल हेल्थ इनीशिएटिव वेबिनार में कहीं। डॉ. फॉसी का कहना है कि 1918 में फैली स्पैनिश फ्लू महामारी के कारण 5 से 10 करोड़ लोग मारे गए थे। यह दुनिया की सबसे भयावह महामारी थी। उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि ऐसी स्थिति कोरोना के साथ न आए, लेकिन ये शुरुआत कर चुका है।

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि दुनियाभर के देशों की लापरवाही और इंसानी आदतें इस बीमारी को और गंभीर बना रही है, लेकिन उन्होंने यह उम्मीद जताई है कि एक दिन वे दवाएं इस बीमारी को रोकने में कामयाब होंगी जिनका अभी ट्रायल हो रहा है।

यह भी पढ़ें...इस फेमस शख्स को हुआ कोरोना, नामचीन हस्तियों ने सरकार से की थी रिहाई की मांग

डॉ. एंथोनी फॉसी के साथ वेबीनार में सेंटर फॉर डिजीस कंट्रोल (सीडीसी) के डायरेक्टर डॉ. रॉबर्ट रेडफील्ड भी शामिल हुए। डॉ. रॉबर्ट रेडफील्ड ने कहा कि अमेरिका में 34 लाख से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हैं। ये संख्या और ज्यादा हो सकती है, क्योंकि सभी लोगों की जांच नहीं हो रही है।

यह भी पढ़ें...कोरोना वैक्सीन का सफल परीक्षण! जानिए कहां लगेगा इंजेक्शन, दुनिया में खुशी की लहर

डॉ. रेडफील्ड ने जर्नल ऑफ द अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के हवाले से कहा कि अगर कोई दवा सफल नहीं हुई तो कोरोनावायरस से जूझने में हमें 2 से 3 साल लगेंगे, लेकिन इससे ज्यादा खतरनाक ये है कि साल 2021 के शुरुआती चार महीने लोगों के लिए बेहद कठिन जाने वाले हैं।

यह भी पढ़ें...कोरोना का कहर: तहसीलकर्मी और पुलिसकर्मी समेत 46 नए केस, यहां लगा लाॅकडाउन

जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के मुताबिक इस समय पूरी दुनिया में 1.35 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना की चपेट में हैं। सबसे ज्यादा 34.95 लाख संक्रमित लोग अमेरिका में हैं। अमेरिका में ही सबसे ज्यादा लोगों की जान गई है। यहां पर 1.37 लाख लोगों की मौत हुई है।

सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि कई देशों को पिछाड़कर भारत सबसे ज्यादा बीमार लोगों की सूची में तीसरे स्थान पर जा पहुंचा है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story