US Election 2020: गधे और हाथी में फंसी अमेरिकी जनता, जानिए क्या है इतिहास

डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टियाँ 19वीं सदी में राजनीति के मंच पर आईं। लेकिन डेमोक्रेटिक पार्टी के चुनाव निशान गधे को वर्ष 1828 में पहली बार चुनाव अभियान में देखा गया। हुआ ये कि इस चुनाव में डेमोक्रेट प्रत्याशी एंड्रयू जैक्सन चुनाव अभियान में आगे बढ़ रहे थे।

Published by SK Gautam Published: November 7, 2020 | 12:19 pm
america election

US Election 2020: गधे और हाथी में फंसी अमेरिकी जनता, जानिए क्या है इतिहास-(courtesy-social media)

नील मणि लाल

अमेरिका के नागरिक अपना राष्ट्रपति ‘गधे’ और ‘हाथी’ में से चुनती है। गधा यानी डेमोक्रेट और हाथी यानी रिपब्लिकन। ये न समझिये कि प्रत्याशी गधे या हाथी की तरह होते हैं, दरअसल ये पशु दोनों दलों के चुनाव चिन्ह हैं। डेमोक्रेटिक पार्टी का चुनाव निशान गधा है तो रिपब्लिकन पार्टी का निशान हाथी है। इन चुनाव चिन्हों के जन्मदाता अमेरिका के एक जानेमाने कार्टूनिस्ट थॉमस नैस्ट हैं। उन्होंने अपने कार्टूनों में इन पशुओं का इस्तेमाल किया था जो आगे चल कर स्थाई चुनाव चिन्ह बन गया। वैसे थॉमस नैस्ट ‘सांता क्लॉज़’ और ‘अंकल सैम’ कार्टूनों के भी जन्मदाता हैं।

200 साल पुराना इतिहास

डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टियाँ 19वीं सदी में राजनीति के मंच पर आईं। लेकिन डेमोक्रेटिक पार्टी के चुनाव निशान गधे को वर्ष 1828 में पहली बार चुनाव अभियान में देखा गया। हुआ ये कि इस चुनाव में डेमोक्रेट प्रत्याशी एंड्रयू जैक्सन चुनाव अभियान में आगे बढ़ रहे थे। इसी दौरान उनके विरोधियों ने उन्हें ‘जैकस’ यानी गधा तक कह डाला था।

america election-2

ये भी देखें:सरकार का बड़ा फैसला: रद्द कर दिए लाखों राशन कार्ड, सामने आई ये बड़ी वजह

जैक्सन को ये बुरा नहीं लगा बल्कि उन्होंने इसे हलके फुल्के ढंग से लिया। एंड्रयू जैक्सन 1812 के युद्ध में अमेरिका के हीरो बनकर उभरे थे और उन्होंने ‘गधे’ को नकारने की बजाये उसे हंसी हंसी स्वीकार कर लिया। जैक्सन ने इस चुनाव में जॉन क्विंसी एडम्स को हराया और वह अमेरिका के पहले डेमोक्रेटिक प्रेसिडेंट बने। साथ ही जैक्सन पहले ऐसे व्यक्ति बने जिन्होंने गधे के चिन्ह राष्ट्रपति चुनाव जीता।

Cartoonist thomas nest

कार्टूनिस्ट की भूमिका

अमेरिका के मशहूर राजनीतिक कार्टूनिस्‍ट थॉमस नैस्ट ने गधे और हाथी के चिन्ह को अमेरिका में लोकप्रिय बनाने में अहम भूमिका अदा की। अमेरिका में रिपब्किलन पार्टी की स्थापना 1854 में हुई थी। हाथी की जो तस्वीर पार्टी के निशान के तौर पर सामने आई वह दरअसल वह एक राजनीतिक कार्टून था जिसे सिविल वॉर के दौरान डिजाइन किया गया था। अमेरिका के गृह युद्ध के दौरान जिस हाथी को दिखाया गया था वह एक सैनिक के तौर पर था जो कि लड़ाई के मैदान में था। कार्टूनिस्ट नैस्ट ने वर्ष 1874 में हार्पर वीकली पत्रिका में छपे एक कार्टून में इसका प्रयोग किया था। जिसका शीर्षक था – ‘द थर्ड टर्म पैनिक।’

america election-3

ये भी देखें: वंदे मातरम गीत की जयंती: जानिए कब-कब गाया गया, इससे जुड़ी ये बातें नहीं जानते होंगे 

हाथी का प्रयोग रिपब्लिकन पार्टी के लिए

नैस्ट के कार्टून ने न्यूयॉर्क हेराल्ड अखबार का मजाक उड़ाया था जिसने राष्ट्रपति के तीसरे कार्यकाल को लेकर काफी विरोध किया था। बाद में कई तरह के जानवरों को आर्टिकल में छापा गया जिसमें हाथी भी था और इसे ‘द रिपब्लिकन वोट’ कहा गया। नैस्ट ने बाद में इस तरह के कई कार्टून बनाए। वर्ष 1880 में दूसरे कार्टूनिस्ट ने हाथी का प्रयोग ही रिपब्लिकन पार्टी के बारे में बताने के लिए किया। इसके बार सिलसिला चल पड़ा और रिपब्लिकन पार्टी ने भी हाथी को अपना निशान बना लिया। वैसे इन चुनाव चिन्हों का इस्तेमाल सिर्फ चुनावों के समय ही नजर आता है।

दो देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App