रो पड़ा भगौड़ा माल्या: हाथ जोड़ कर बैंक से कहा ऐसा, देखते रह गए सभी

बहुत से बैंकों का पैसा लेकर लंदन भाग चुके शराब कारोबारी विजय माल्या 13 फरवरी गुरुवार को ब्रिटिश हाईकोर्ट में रो पड़ा।

Published by Roshni Khan Published: February 14, 2020 | 11:59 am
Modified: February 14, 2020 | 12:01 pm

लंदन: बहुत से बैंकों का पैसा लेकर लंदन भाग चुके शराब कारोबारी विजय माल्या 13 फरवरी गुरुवार को ब्रिटिश हाईकोर्ट में रो पड़ा। भगोड़े माल्या ने कोर्ट में हाथ जोड़कर कहा कि भारतीय बैंक तुरंत पैसे वापस ले ले। रॉयल कोर्ट ऑफ जस्टिस के बाहर माल्या ने कहा, ‘मैं मूल रकम का 100 फीसदी वापस करने को तैयार हूं। सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय मेरे साथ जो कर रहे हैं, वह किसी भी तरह से ठीक नहीं है।’ विजय माल्या पर भारत के बैंकों के 9 हजार करोड़ की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। इस मामले की जांच प्रवर्तन निदेशालय (ED) और केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के हाथ में है।

ये भी पढ़ें:वैलेंटाइन्स डे पर कपल्स को झटका! नहीं कर पाएंगे ताज का दीदार

उसने कहा, ‘बैंकों की इस शिकायत पर कि मैं भुगतान नहीं कर रहा हूं, ईडी ने मेरी संपत्तियां जब्त कर लीं। मैंने पीएमएलए (मनी लान्ड्रिंग निरोधक कानून) के तहत कोई अपराध नहीं किया है कि ईडी मेरी संपत्तियां अपने आप जब्त कर ले।’

वकील बोले- गलत जानकारी दी

भारत सरकार की ओर से पेश क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस (CPA) ने माल्या के वकील के उस दावे को गलत ठहराया, जिसमें माल्या के खिलाफ भारत में धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के चार्जेस को अनुचित बताया गया था। माल्या के खिलाफ सुनवाई में प्रॉसिक्यूशन की ओर से सुबूत पेश किए गए और बताया गया कि वह बैंकों से कर्ज के रूप में लिए 9 हजार करोड़ रुपये चुकाने से बचने के लिए ब्रिटेन आया है।

प्रॉसिक्यूशन ने ये भी कहा कि माल्या के खिलाफ 32 हजार पेज के सबूत पेश किए जा चुके हैं। भारत में बैंकों ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा रखा है, जिसमें पेशी के लिए भारतीय एजेंसियों (CBI-ED) को माल्या की जरूरत है।

माल्या ने कहा कि किंगर फिशर एयरलाइन आर्थिक दुर्भाग्य का शिकार हुई है, जैसे अन्य भारतीय एयरलाइनें हुई हैं। दो जजों की बेंच कर रही सुनवाई इस मामलें की सुनवाई दो जजों की बेंच कर रही है। लार्ड जस्टिस स्टेफन ईरविन और जस्टिस इलिसाबेथ लाइंग ने कहा कि वे इस बहुत ही जटिल मामले पर विचार करने के बाद किसी ओर तारीख को फैसला देंगे।

Vijay Mallya

ये भी पढ़ें:एंड्रॉयड यूज़र्स हो जाइए सावधान! ये खतरनाक ऐप्स करते हैं यूजर्स का नुकसान

जमानत पर है माल्या

विजय माल्या प्रत्यर्पण वारंट को लेकर जमानत पर है। उसके लिए ये जरूरी नहीं है कि वो सुनवाई में हिस्सा ले, लेकिन वो अदालत आ रहे है। आपको बता दें कि विजय माल्या ने पिछले साल फरवरी में तत्कालीन ब्रिटिश गृह सचिव साजिद जाविद द्वारा प्रत्यर्पण आदेश को मंजूर किए जाने के खिलाफ अपील करने की इजाजत हासिल की थी।