अभी-अभी भीषण विस्फोट: सैकड़ों लोगों की जान खतरे में, चल रहा रेस्क्यू

गौरतलब है कि न्‍यूजीलैंड के दो मुख्‍य आइलैंडों में एक नॉर्थ आइलैंड है और इससे उत्‍तर पूर्व में व्‍हाइट आइलैंड है। पुलिस द्वारा लोगों से नॉर्थ आइलैंड के उन इलाकों से एहतियात बरतने को कहा जा रहा था। इन इलाकों में मुरीवाइ ड्राइव व व्‍हाकटाने हेड्स शामिल हैं।

न्‍यूजीलैंड: यहां के व्‍हाइट आइलैंड पर सोमवार को ज्‍वालामुखी फटने की खबर सामने आ रही है। यहां ज्‍वालामुखी फटने से कई लोग जख्‍मी हैं और कई लोगों के लापता होने की सूचना है। जानकारी के अनुसार इस आइलैंड पर हमेशा पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है। अचानक ज्‍वालामुखी फटने से कई फंसे गए हैं।

प्रधानमंत्री जेसिका आर्डन ने बताया कि दोपहर को हुई इस दुर्घटना के वक्‍त करीब 100 पर्यटक वहां मौजूद थे। घायलों को सुरक्षित स्‍थान पर ले जाया जा रहा है। पीडि़तों के प्रति हमारी सहानुभूति है। इस हादसे के बाद रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है।

ये भी पढ़ें—नागरिकता बिल पर लोकसभा में संग्राम, अमित शाह ने कहा- ये संविधान के खिलाफ नहीं

न्‍यूजीलैंड के स्थानीय मेयर ने अपने बयान में बताया कि ज्वालामुखी दोपहर 2.10 पर फटा। उन्होंने बताया कि जहां पर ये ज्वालामुखी फटा वह स्थान न्‍यूजीलैंड से 50 किमी की दूरी पर यह आइलैंड है। इस विस्‍फोट के बाद सवाल यह खड़ा हो रहा है कि जब वैज्ञानिकों ने अपने पूर्वानुमान में जता दिया था कि यहां ज्‍वालामुखी फट सकता है तब भी पर्यटक यहां कैसे पहुंच रहे थे।

गौरतलब है कि न्‍यूजीलैंड के दो मुख्‍य आइलैंडों में एक नॉर्थ आइलैंड है और इससे उत्‍तर पूर्व में व्‍हाइट आइलैंड है। पुलिस द्वारा लोगों से नॉर्थ आइलैंड के उन इलाकों से एहतियात बरतने को कहा जा रहा था। इन इलाकों में मुरीवाइ ड्राइव व व्‍हाकटाने हेड्स शामिल हैं।

इसके पहले भी हो चुका है हादसा

जानकारी के अनुसार न्‍यूजीलैंड के सर्वा‍धिक सक्रिय कोन ज्‍वालामुखी और करीब 70 फीसद ज्‍वालामुखी समुद्र के अंदर है। यहां वर्ष 1914 में सल्‍फर के खनन के दौरान 12 लोग मारे गए थे। यह आइलैंड 1953 में अपने खूबसूरती के कारण आम लोगों के लिए प्राइवेट बना और यहां के ज्‍वालामुखी को देखने 10,000 से अधिक लोग आते हैं। इस आइलैंड को वकारी के नाम से भी जाना जाता है।