पानी ने बनाया रईस: अलीबाबा को छोड़ा पीछे, अब चीन का सबसे अमीर शख्स है ये

झोंग शान्शान नाम के इस शख्स ने अलीबाबा के संस्थापक जैकमा को पीछे छोड़ कर चीन में पहला स्थान हासिल किया है।

Published by suman Published: September 26, 2020 | 10:36 am
Modified: September 26, 2020 | 10:39 am
richest-person

पानी की बोतल का व्यवसाय

नई दिल्ली : पानी बेचकर भी किसी देश का सबसे अमीर व्यक्ति बना जा सकता है ऐसा कोई सोच नहीं सकता है लेकिन चीन के एक व्यक्ति ने इसे सच साबित कर दिया है।आमतौर पर आधुनिक तकनीकी वाले लोग दुनिया के अमीर लोगों की सूची में रहते हैं। हाल ही में चीन के सबसे अमीर आदमी  की सूची के शीर्ष पर ऐसा नाम आया है जो पानी बेचता है।

इस समय जो चीन के सबसे अमीर व्यक्ति हैं वो किसी इलेक्ट्रॉनिक वस्तु या टेक्नोलॉजी का व्यवसाय नहीं करते बल्कि वे पानी का कारोबार करके अपने देश के सबसे अमीर व्यक्ति बने हैं। झोंग शान्शान (Zhong Shanshan) नाम के व्यक्ति ने अलीबाबा के संस्थापक जैकमा (Jack Ma) को पीछे छोड़ चीन में सबसे अमीर व्यक्ति के स्थान पर कब्जा किया।

यह पढ़ें….देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 85362 नए मामले सामने आए, 1089 मरीजों की मौत

पानी की कंपनी

झोंग शान्शान चीन के जेजियांग प्रांत के होंगजोऊ से आते हैं। पहले उन्होंने एक निर्माण कंपनी में वर्कर की तरह काम किया फिर एक अखबार में रिपोर्टर रहे और उसके बाद उन्होंने व्यापार में कदम रखा और पानी का कारोबार शुरू किया जिसके बलबूते आज वे अपने देश में सबसे अमीर व्यक्ति बन गये हैं।

 

water

इस तरह आए बिजनेस में

झोंग शान्शान वो शख्स है जो इलेक्ट्रॉनिक तकनीक से जुड़ा व्यवसाय नहीं करते हैं उन्होंने साल 1996 में नोंगफू स्प्रिंग नाम की पानी की एक कंपनी शुरू की थी  जिसका आज मूल्य 5.7 अरब डॉलर हो गया है।  फिलहाल वे ब्लूमबर्ग बिलियर्स इंडेक्स  के अनुसार दुनिया के 17वें सबसे अमीर आदमी हो गए हैं। झोंग शान्शान अब जैकमा से आगे निकल गए हैं। फिलहाल जैक मा का संपत्ति 567 अरब डॉलर है। झोंग शान्शान चीन के जेजियांग प्रांत के होंगजोऊ से आएं हैं।

 

ncb
सोशल मीडिया से फोटो

 

चीनी उद्योगपति की संपत्ति में बेतहाशा

हाल के महीनों में चीनी उद्योगपति की संपत्ति में बेतहाशा इजाफा हुआ है। जब से उन्होंने एक फार्मास्यूटिकल कंपनी बीजिंग वानताई बायोलॉजिकल फार्मेसी एंटरप्राइज में अपनी हिस्सादारी बढ़ाई है। यह कंपनी अप्रैल माह में ही शंघाई में लिस्टेड हुई थी।

इस समय कंपनी कोविड-19 वैक्सीन पर काम कर रही है. ऐसा नहीं है कि झोंग की केवल यही एक कंपनी लिस्टेड है। यह उनकी दूसरी कंपनी है जो इस साल लिस्ट हुई है। नोंगफू स्प्रिंग चीन का सबसे बड़ा पीने के पानी की बोतलों का ब्रांड है. यह कंपनी इसी महीने ही हॉन्गकॉन्ग में पब्लिक लिस्ट हुई है जहां पहले दिन की ट्रेडिंग में ही उसके शेयर 54 प्रतिशत चढ़ गए थे।

इन उपलब्धियों के बाद भी झोंग अपना पहला स्थान लंबे समय तक कायम नहीं रख सकेंगे। जैक मा की अलीबाबा कंपनी समर्थित एंट ग्रुप  का पहला पब्लिक इश्यू (IPO) अगले महीने के शुरू में ही मार्केट में आ रहा है। माना जा राह है कि इस टेक कंपनी के इस आईपीओ की सबसे बड़ी लिस्टिंग होगी।

 

यह पढ़ें..बेहद गरीब अनिल अंबानी: वकीलों को देने के लिए पैसे नहीं, गहनें बेचकर दे रहे फीस

 

richest-person
सोशल मीडिया से फोटो

तकनीकी उद्योग से तेजी से प्रतिस्पर्धा

 

चीन के अधिकतर अरबपति तकनीकी उद्योग से आते हैं, लेकिन चीन और अमेरिका के बीच हुआवे, टिकटॉक और वीचैट को लेकर बढ़ते तनाव के बाद चीनी तकनीकी स्टॉक की कीमतों में फर्क दिखाई देने लगा है। वहीं सबसे अमीर लोगों को पैदा करने के मामले में चीन की खाद्य और किराना क्षेत्र तकनीकी उद्योग से तेजी से प्रतिस्पर्धा कर रहा है।

झोंग को उनके निकनेम लोनवोल्फ के नाम से भी जाना जाता है। जहां वे चीन के पहले और दुनिया के 17वें सबसे अमीर व्यक्ति हैं एशिया में उनका स्थान भारत की रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुकेश अंबानी के बाद दूसरा है। इस समय दुनिया के अमीर लोगों की सूची में आमतौर पर आधुनिक तकनीकी वाले लोग ही पाए जाते हैं लेकिन इस अमीर व्यक्ति के चर्चा में रहने का सबसे विशेष कारण यह है कि ये इलेक्ट्रॉनिक तकनीक से जुड़ा कारोबार नहीं करते हैं बल्कि पानी का व्यवसाय करते हैं।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App