पीएम मोदी का दूसरा चुनावी दौरा: तेजस्वी पर हमला, मगर चिराग पर फिर साधी चुप्पी

पीएम मोदी ने महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित किए गए तेजस्वी यादव पर तो बिना नाम लिए हमला जरूर किया मगर लोजपा के अध्यक्ष चिराग पासवान पर बोलने से परहेज किया।

pm modi bihar election

पीएम मोदी का दूसरा चुनावी दौरा: तेजस्वी पर हमला, मगर चिराग पर फिर साधी चुप्पी-(courtesy-social media)

अंशुमान तिवारी 

पटना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बिहार में एनडीए प्रत्याशियों के समर्थन में दूसरे दौर की जनसभाएं कीं। बिहार में दूसरे चरण के चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी ने दरभंगा, मुजफ्फरपुर और अंत में पटना में जनसभाओं को संबोधित किया।

इस दौरान पीएम मोदी ने महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित किए गए तेजस्वी यादव पर तो बिना नाम लिए हमला जरूर किया मगर लोजपा के अध्यक्ष चिराग पासवान पर बोलने से परहेज किया। प्रधानमंत्री इससे पहले 23 अक्टूबर को बिहार दौरे पर पहुंचे थे और उस दौरान भी उन्होंने चिराग पासवान पर कोई भी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर हमला नहीं किया था।

मोदी की तीन रैलियां मगर चिराग का कोई जिक्र नहीं

बिहार विधानसभा चुनाव के सिलसिले में प्रधानमंत्री की बिहार में 12 रैलियों का कार्यक्रम तय किया गया है और इनमें से छह रैलियों को प्रधानमंत्री अब तक संबोधित कर चुके हैं।

अपनी सभी रैलियों में मोदी ने सरकार की ओर से किए जा रहे विकास के विभिन्न कामों को गिनाने के साथ ही नीतीश कुमार को एक बार फिर बिहार की कमान सौंपने की अपील की मगर नीतीश पर लगातार हमला कर रहे चिराग पासवान पर एक भी शब्द नहीं बोला।

राज्य स्तरीय नेताओं का हमला मगर मोदी की चुप्पी

लोजपा पहले एनडीए गठबंधन का ही हिस्सा थी मगर सीट शेयरिंग पर बात बिगड़ जाने के कारण आखिरकार लोजपा ने अलग रास्ता चुन लिया। वह एनडीए गठबंधन से बाहर जाकर स्वतंत्र रूप से चुनाव मैदान में उतरी है।

बिहार भाजपा के नेताओं सहित कई राष्ट्रीय नेताओं ने भी लोजपा के एनडीए गठबंधन से बाहर जाने पर चिराग और लोजपा दोनों पर हमला बोला है और और कहा है कि एनडीए का अब लोजपा से कोई लेना-देना नहीं है।

ऐसे में हर किसी की नजर इस बात पर टिकी थी कि आखिर पीएम मोदी इस संबंध में क्या बोलते हैं। मोदी ने 23 अक्टूबर के बाद बुधवार की अपनी तीनों रैलियों में भी चिराग पासवान पर बोलने से परहेज किया।

ये भी देखें:  ताबड़तोड़ छापेमारी: दवा की दुकानों से लिए गए सेंपल, बाजार में मचा हड़कंप

chirag paswan

चिराग खुद को बता रहे मोदी का हनुमान

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान नीतीश कुमार पर जितना हमला कर रहे हैं, उतनी ही पीएम मोदी की प्रशंसा करने से भी नहीं चूक रहे हैं। पिछले दिनों उन्होंने खुद को पीएम मोदी का हनुमान बताया था और यहां तक कहा था कि मेरा सीना अगर चीरकर देख लिया जाए तो इसमें पीएम मोदी ही निकलेंगे।

यही कारण है कि हर कोई यह सुनना चाहता था कि पीएम मोदी चिराग के बारे में क्या बातें कहते हैं मगर इस मुद्दे पर पीएम मोदी की खामोशी को हर किसी ने महसूस किया।

जंगलराज के युवराज से विकास की अपेक्षा नहीं

पीएम मोदी ने तेजस्वी यादव का नाम लिए बिना कहा कि पुराना ट्रैक रिकॉर्ड देखकर जंगलराज के युवराज से क्या अपेक्षा की जा सकती है। उन्होंने कहा कि अब समय अनुभवी लोगों का चुनने का है। हवा हवाई बातें करने वाले लोग बिहार का कभी विकास नहीं कर सकते।

सियासी जानकारों का कहना है कि मोदी ने हालांकि प्रत्यक्ष तौर पर तेजस्वी का नाम नहीं लिया मगर जंगलराज के युवराज से उनका सीधा मतलब तेजस्वी यादव से ही था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित एनडीए के अन्य नेता लालू-राबड़ी राज को जंगलराज की संज्ञा देते रहे हैं।

ये भी देखें: PCS बेटी को मिला इंसाफ: नगर पंचायत अध्यक्ष गये जेल, ऐसे हुई थी मौत 

अब लालटेन नहीं, एलईडी की जरूरत

अपनी जनसभाओं में चिराग पर हमले से परहेज करने वाले मोदी नीतीश की तारीफ में कसीदे पढ़ते जरूर दिखे। उन्होंने कहा कि पिछले डेढ़ दशक के दौरान नीतीश जी की अगुवाई में बिहार ने कुशासन से सुशासन की तरफ मजबूती से कदम बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि अटल जी कहा करते थे कि बिहार में बिजली का मतलब यह है कि वह आती कम है और जाती ज्यादा है, लेकिन अब स्थितियां पूरी तरह बदल चुकी हैं।

बिहार में लालटेन का अंधेरा पूरी तरह छंट चुका है और अब राज्य की आकांक्षा बिजली और एलईडी बल्ब की है। मोदी की ओर से लालटेन का उल्लेख किए जाने में एक बात महत्वपूर्ण यह है कि राजद का चुनाव निशान भी लालटेन ही है।

tejasvi yadav

बुनियादी सुविधाओं पर तेजी से काम

पीएम मोदी ने कहा कि पटना सहित बिहार के सभी शहरों में सड़क, पानी और सीवर जैसी बुनियादी सुविधाओं पर तेजी से काम किया जा रहा है। राज्य में आईटी हब बनने की पूरी संभावना है और पटना में आईटी की बड़ी कंपनी ने अपना ऑफिस भी खोल दिया है। राज्य के कुछ अन्य जिलों में भी आईटी कंपनियों ने अपना काम शुरू कर दिया है। इससे बिहार के नौजवानों के लिए नए अवसरों के रास्ते खुल गए हैं।

ये भी देखें: युद्ध में पीएम की पत्नी: हजारों मौतों का लेंगी बदला, दुश्मन को मारने को तैयार फौज 

हर वादे को पूरा करने में जुटा है एनडीए

पीएम मोदी ने कहा कि एनडीए सरकार का पूरा जोर इस बात पर है कि सरकारी सुविधाओं और सरकारी सेवाओं से कोई भी क्षेत्र या कोई भी व्यक्ति छूटना नहीं चाहिए। इसके लिए सरकार के स्तर पर ज्यादा से ज्यादा टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा रहा है।

मोदी ने कहा कि एनडीए की यह विशेषता है कि हमारी ओर से जो भी वादा किया जाता है उसे पूरा जरूर किया जाता है। यही कारण है कि लोग अब एनडीए का घोषणा पत्र पढ़ने लगे हैं कि सरकार की ओर से अगला कदम क्या उठाया जाएगा।

उन्होंने बिहार के लोगों से नीतीश कुमार को एक बार और मुख्यमंत्री बनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि यदि आपने एक बार फिर नीतीश कुमार को मौका दिया तो बिहार में विकास के लिए वे काम जरूर पूरे होंगे जो अभी तक अधूरे पड़े हैं।

 

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App