Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

मोदी ने दिल्‍ली में बैठे बेटे की याद दिलाई, तो महिलाओं ने भाजपा की दीवाली मना दी

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं के कल्‍याण के लिए अनेक योजनाओं का शुभारंभ किया। चुनाव रैलियों में उन्‍होंने अपनी योजनाओं की चर्चा करते हुए महिलाओं के मर्म को स्‍नेहिल स्‍पर्श दिया

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 10 Nov 2020 4:32 PM GMT

मोदी ने दिल्‍ली में बैठे बेटे की याद दिलाई, तो महिलाओं ने भाजपा की दीवाली मना दी
X
मोदी ने दिल्‍ली में बैठे बेटे की याद दिलाई, तो महिलाओं ने भाजपा की दीवाली मना दी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अखिलेश तिवारी

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं के कल्‍याण के लिए अनेक योजनाओं का शुभारंभ किया। चुनाव रैलियों में उन्‍होंने अपनी योजनाओं की चर्चा करते हुए महिलाओं के मर्म को स्‍नेहिल स्‍पर्श दिया तो महिलाओं ने बदले में वोट से उनकी झोली भर दी। महिला मतदाताओं का कमाल है कि बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा सबसे बडा राजनीतिक दल बनता दिखाई दे रहा है। मोदी ने जिन इलाकों में रैली की वहां आधी से जयादा सीट लोगों ने भाजपा को तोहफे में दे दी हैं। चुनाव रैली में मोदी ने महिलाओं से कहा कि उनका बेटा दिल्‍ली में बैठा है वह छठ पूजा की तैयारी करें।

ये भी पढ़ें: मार्निंग वाक पर निकली महिला की दर्दनाक मौत, परिवार में पसरा मातम

प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार चुनाव के दौरान 12 रैलियों को संबोधित किया। उन्होंने 23 अक्टूबर को चुनाव प्रचार अभियान शुरू किया और 3 नवंबर को दूसरे चरण के मतदान के दिन आखिरी रैली को संबोधित किया। 23 अक्टूबर को सासाराम, गया और भागलपुर, 28 अक्टूबर को दरभंगा, मुजफ्फरपुर और पटना, 1 नवंबर को छपरा, पूर्वी चंपारण और समस्तीपुर जबकि 3 नवंबर को पश्चिम चंपारण, सहरसा और फारबिसगंज में 101 विधानसभा सीटों के लिए चुनावी रैलियों को संबोधित किया था। इन सीटों में भाजपा-जदयू गठबंधन को 60 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं। इन रैलियों की खास बात यह भी रही कि महिलाओं ने बढचढकर इनमें हिस्‍सा लिया और मोदी के समर्थन में नारे लगाए।

भाषण में मोदी ने महिलाओं से किया संवाद

छपरा की रैली में महिलाओं ने जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शंखध्‍वनि के साथ स्‍वागत किया। मैदान में हर तरफ मोदी-मोदी के नारे लगे तो महिलाओं के ह्रदय में छुपे बैठे भविष्‍य के अनजाने डर को दूर करते हुए मोदी ने कहा कि आप छठ पूजा की तैयारी करो, दिल्‍ली में आपका बेटा बैठा है। आपके राशन से लेकर आर्थिक मदद की चिंता हम कर रहे हैं। हमारी सरकार ने शौचालय बनाकर बहू-बेटियों की परेशानी का अंत किया। जब हमने लाल किला से महिलाओं की बात की थी, जब हमारा मजाक उडाया गया। लेकिन, हमारे प्रयास ने बिहार समेत पूरे देश को खुले में शौच से मुक्त किया।

बीते सालों में इस पूरे क्षेत्र में सड़क बिजली पानी जैसी सुविधा पहुंच पाई। यह सब नीतीश बाबू के नेतृत्व में हो पाया। पहले पानी से कितनी बीमारी होती थी। लेकिन यह सब दूर हुआ। अब पाइप से पानी पहुंचाने का काम शुरू हुआ। गरीबों को 55 हजार से ज्यादा पक्के घर दिए जा चुके हैं। चार लाख बहनों को गैस कनेक्शन दिया गया है। ढाई लाख किसानों के खाते में दो सौ करोड रुपये जमा कराए गए। बिहार की एक महिला मतदाता से जुडे वीडियो की चर्चा कर मोदी ने महिलाओं से सीधा संवाद करने की कोशिश की।

अपनी रैली में उन्‍होंने कहा कि वह वीडियो आपने देखा होगा जिसमें एक महिला से पूछा जाता है कि मोदी को काहे खातिर वोट देवू। तब उस गांव की महिला ने इस सवाल का एक सांस में जवाब दिया कि सारे विपक्ष की बोलती बंद कर दी। म‍हिला ने कहा कि मोदी राशन, बिजली, पेंशन, गैस दिया। उनका के वोट न देवे त का तोहरा के देव। पीएम ने कहा कि आज बिहार की बेटियां एनडीए के विरोधियों से यही पूछ रहीं हैं कि यह सब मोदी की नहीं आपकी ताकत है।

मोदी सरकार की महिला कल्‍याण योजनाएं, जिनका चला है जादू

प्रधानमंत्री महिला आवास योजना के तहत महिलाओं को सस्‍ते घर मुहैया कराए जा रहे हैं। यह योजना 31 मार्च 2022 तक चलेगी। महिलाओं के लिए इस योजना में बहुत लाभ के प्रावधान हैं। इसमें विधवा, अकेली महिला, एससी-एसटी वर्ग की महिलाएं, दिव्‍यांग, नौकरीपेश महिलाओं को प्राथमिकता दी जाती है। महिलाओं के नाम पर घर की रजिस्‍ट्री कराए जाने पर सरकार की ओर से करीब ढाई लाख रुपए की सब्सिडी मिलती है, लेकिन शर्त यह है कि घर पहला ही होना चाहिये।

ये भी पढ़ें: बेरोजगारों से ठगी: पुलिस ने किया गिरोह का भंडाफोड, सामने आई सच्चाई

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

लॉक डाउन को ध्‍यान में रखकर इस योजना की शुरुआत की गई। पीएम ने कहा कि इस योजना के माध्यम से जरूरतमंदों की हर संभव मदद करने की कोशिश की गई है. साथ ही नई गाइडलाइंस बनाते समय भी उनका पूरा ध्यान रखा गया है. पूरे देश में 32 करोड़ से ज्यादा जरूरतमंदों को 29,352 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता दी जा चुकी है. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत सरकार ने जरूरतमंदों व गरीबों की मदद के लिए 1.70 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की थी.

अब तक इस योजना के तहत सरकार की तरफ से महिलाओं, वरिष्ठ महिलाओं, किसानों और मजदूरों को पैसे मिल चुके हैं. किसानों के लिए 13,885 करोड़ रुपये प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत जारी किया गया है. अबतक लगभग 7 करोड़ किसानों के बैक अकाउंट्स में 2000 रुपये की पहली किश्त जमा की जा चुकी है. वहीं निर्माण का काम करने वाले 2.16 करोड़ कर्मचारियों के लिए 3,066 हजार करोड़ रुपये जारी किए गए हैं. इस योजना के तहह 80 करोड़ लोगों को 5 किलो अनाज नि:शुल्क दिया गया.

ये भी पढ़ें: फिर पलटा बिहार विधानसभा का चुनावी गणित, रोमांचक हुआ मुकाबला

लॉकडाउन के बाद महिलाओं की विशेष मदद

प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना के तहत लॉक डाउन के बाद महिलाओं की विशेष मदद की गई है। महिलाओं की बात करें तो सरकार की तरफ से इनके अकाउंट में 1 हजार रुपये अनुग्रह राशि के तौर पर भेजी गई है. इसमें बुजुर्ग महिलाए, विधवा महिलाए, विकलांग महिलाएं शामिल हैं. सरकार की तरफ से अबतक लगभग 20 करोड़ महिला जन धन अकाउंट्स में 500-500 रुपये प्रति व्यक्ति भेजा जा चुका है. केंद्र सरकार की तरफ से अब तक इस योजना पर 9,930 करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके हैं.

Newstrack

Newstrack

Next Story