Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बिहार चुनाव: तेजस्वी की इस बड़ी घोषणा से नीतीश सरकार की उड़ गई रातों की नींद

उन्होंने ये भी कहा-बिहार में 4 लाख 50 हजार रिक्तियां पहले से ही हैं। शिक्षा, स्वास्थ्य, गृह विभाग सहित अन्य विभागों में राष्ट्रीय औसत के मानकों के हिसाब से बिहार में अभी 5 लाख 50 हजार नियुक्तियों की अत्यंत आवश्यकता है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 27 Sep 2020 9:04 AM GMT

बिहार चुनाव: तेजस्वी की इस बड़ी घोषणा से नीतीश सरकार की उड़ गई रातों की नींद
X
तेजस्वी यादव ने कहा, उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार में बिहार 26वें नंबर पर है। राज्य में निवेश और उद्योग लगाने में बिहार सबसे पिछड़ा राज्य है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान कर दिया है। 10 नवंबर को चुनावी परिणाम भी आ जाएंगे। इलेक्शन की तारीखों का एलान होने के बाद से सभी पार्टियों ने चुनाव जीतने के लिए मैदान में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। सभी दलों का दावा है कि इस बार उनकी ही पार्टी की सरकार बनने जा रही है।

एक तरफ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी)-जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) गठबंधन ने सत्ता में पुन: वापसी की बात कही है तो दूसरी ओर राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव ने बिहार में परिवर्तन की बात दोहराई है।

तेजस्वी यादव ने कहा कि अगर उनकी सरकार बनती है तो पहली ही कैबिनेट बैठक में बिहार के 10 लाख युवाओं को नौकरी का आदेश देंगे।

Tejashwi And Tejpratap Yadav तेजस्वी और तेज प्रताप यादव की फोटो(सोशल मीडिया)

यह भी पढ़ें…मुख्यमंत्री को धमकी: हुआ बड़ा खुलासा, इस शख्स ने कही थी मारने की बात, ये है वजह

बिहार में 4 लाख 50 हजार रिक्तियां पहले से

उन्होंने ये भी कहा-बिहार में 4 लाख 50 हजार रिक्तियां पहले से ही हैं। शिक्षा, स्वास्थ्य, गृह विभाग सहित अन्य विभागों में राष्ट्रीय औसत के मानकों के हिसाब से बिहार में अभी 5 लाख 50 हजार नियुक्तियों की अत्यंत आवश्यकता है। तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, पहली कैबिनेट में पहली कलम से बिहार के 10 लाख युवाओं को नौकरी देंगे।

बता दें कि तेजस्वी यादव रोजगार के मुद्दे पर नीतीश सरकार पर बहुत पहले से निशाना साधते आ रहे हैं। उन्होंने मोदी सरकार पर भी युवाओं को नौकरी के नाम पर ठगने का आरोप लगाया है।

कुछ दिनों पहले ही तेजस्वी यादव ने कहा, उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार में बिहार 26वें नंबर पर है। राज्य में निवेश और उद्योग लगाने में बिहार सबसे पिछड़ा राज्य है।

उदारीकरण के बाद 15 वर्षों से सत्ता संभाल रहे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और एनडीए सरकार इन आंकड़ों पर बात क्यों नहीं करते?

यह भी पढ़ें…चीन की जाल में फंस गया ये देश, ड्रैगन ने यहां सबकुछ पर कर लिया कब्जा

Tejpratap And Tejashwi तेजस्वी और तेज प्रताप यादव की फोटो(सोशल मीडिया)

एनडीए सरकार ने किसानों को कठपुतली बना दिया

किसानों को साधते हुए कृषि बिल पर तेजस्वी यादव ने कहा, एनडीए सरकार ने अन्नदाताओं को अपने फंडदाताओं की कठपुतली बना दिया है। जितनी हड़बड़ी में किसान बिल पास करवाया गया है इससे जाहिर होता है कि इसमें कुछ गड़बड़ी है। इस सरकार को किसान की शान और किसान की जान की रत्ती भर भी चिंता ही नहीं है।

किसानों के मुद्दे पर भी तेजस्वी यादव ने एनडीए सरकार पर निशाना साधा है। कृषि बिल के खिलाफ पटना में उन्होंने ट्रैक्टर रैली निकाली जिसमें वे ट्रैक्टर चलाते दिखे। इस विरोध प्रदर्शन में आरजेडी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

यह भी पढ़ें…NCB के सवालों से डर गई थीं दीपिका, कड़ाई से पूछताछ में किया ये बड़ा खुलासा

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story