Bihar Election: 20 अक्टूबर से CM योगी करेंगे ताबड़तोड़ रैलियां, यहां देखें पूरा शेड्यूल

देश के अंदर बिहार की गिनती एक पिछड़े और बाढ़ वाले राज्य के तौर पर की जाती है। यहां के चुनाव में रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य और कानून व्यवस्था समेत दर्जनों मुद्दें छाए हुए हैं। चुनाव नजदीक आते ही बिहार के सभी दलों के नेता इन मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रख रहे हैं और बड़े दावें भी कर रहे हैं। इस बार बिहार विधान सभा का चुनाव काफी दिलचस्प होने वाला है।

Published by Aditya Mishra Published: October 16, 2020 | 5:26 pm
Modified: October 16, 2020 | 5:33 pm
Yogi Adityanath

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की फोटो(सोशल मीडिया)

लखनऊ/पटना:  इस बार कोरोना काल में ही बिहार के अंदर विधानसभा का चुनाव होने जा रहा है। सभी दल अपने-अपने स्टार प्रचारक के साथ चुनाव प्रचार में उतरने की तैयारी कर चुके हैं।

इस बार बीजेपी जेडीयू के साथ मिलकर ये चुनाव लड़ रही है। आरजेडी के साथ इनकी लड़ाई है। माना जा रहा है कि इस बार दोनों दलों के बीच काटें की टक्कर देखने को मिलेगी।

उधर लालू यादव के दोनों बेटे तेजस्वी और तेजप्रताप सीएम नीतीश कुमार पर रोजगार, गरीबी और बाढ़ के मुद्दे पर जुबानी हमला बोल रहे हैं।

वहीं सीएम नीतीश कुमार लालू यादव और राबड़ी यादव के कार्यकाल को जंगलराज बताकर उन पर पलटवार कर रहे हैं। बिहार के चुनाव में बीजेपी पहले ही कश्मीरी आतंकवादी से लेकर जिन्ना तक की एंट्री करा चुकी है। अब खबर आ रही है कि यूपी के मुख्यमंत्री 20 अक्टूबर से चुनाव प्रचार की शुरूआत करेंगे।

पहले भी स्टार प्रचारकों की लिस्ट में आया है योगी आदित्यनाथ का नाम

सीएम योगी की छवि एक फायर ब्रांड नेता के साथ ही एक बड़े हिंदूवादी नेता के तौर पर भी है। जब से सीएम बने हैं उसके बाद से वे हर चुनाव में पार्टी की तरफ़ से स्टार प्रचारक बनाये जाते रहे हैं।

योगी देश भर में हिंदुत्व के ब्रांड माने जाते हैं। बीजेपी ने इसी फ़ार्मूले पर इस बार बिहार में उनकी चुनावी सभायें तय की है।यहां आपको ये भी बता दें कि सीएम योगी चुनाव प्रचार में उन मुद्दों को उठाते रहे हैं जिसकी वजह से सांप्रदायिक ध्रुवीकरण होता है।

ये भी पढ़ें…Twitter हुआ ठप्प: दुनियाभर में मचा बवाल, कंपनी ने जारी किया बड़ा बयान

विरोधियों पर खुल कर हमला करते हैं सीएम योगी

उनके कपड़े और हाव भाव हिंदूवादी समर्थकों को प्रभावित करते हैं। उनके बारे ऐसा कहा जाता है कि वे अपने विरोधियों पर खुल कर हमला करते हैं।

गौरतलब है कि सबसे पहले पीएम नरेन्द्र मोदी 23 अक्टूबर को सासाराम से चुनाव प्रचार का शुभारम्भ करेंगे। उससे ठीक तीन दिन पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कैमूर में पहली चुनावी रैली करेंगे।

उसी दिन वे अरवल और रोहतास में भी जन सभायें करेंगे। इन इलाक़ों में बीजेपी के बाग़ी उम्मीदवारों ने एनडीए की चिंता बढ़ा दी है। ये यूपी से सटे इलाक़े हैं।

ये भी पढ़ें…बड़ी खबर: कैबिनेट मंत्री को हुई जेल, कोर्ट ने सुनाई सजा, जानें वजह…

Nityanand and Tejaswi Yadav
बीजेपी नेता नित्यानंद राय और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव की फोटो(सोशल मीडिया)

 हिंदुत्व की पिच तैयार

बीजेपी की तरफ से इस बार लगातार ऐसे बयान दिए जा रहे हैं जो हिन्दू वोटर्स को एकजुट कर उनके पाले में ला सके। कभी जिन्ना तो कभी बिहार में आतंकी आकर बस जायेंगे।

इस तरह के बयानों से साफ है कि इस बार हिंदुत्व का मुद्दा भी बाकी के चुनावी मुद्दों में शामिल रहने वाला है।  बीजेपी तो पहले से ही सीएम योगी के लिए हिंदुत्व का पिच तैयार करने में जुटी हुई है।

केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय कह चुके हैं कि अगर बिहार में महागठबंधन की सरकार बनी तो फिर कश्मीर के आतंकवादी यहीं शरण लेंगे। वहीं सियासी जानकारों की मानें तो तेजस्वी यादव नहीं चाहते हैं कि ध्रुवीकरण हो। अगर बीजेपी इसमें कामयाब रही तो फिर नुक़सान महागठबंधन का तय है।

गौरतलब है कि यूपी का सीएम बनने के बाद योगी ने सबसे पहले बिहार का दौरा किया था। उस वक्त उन्होंने दरभंगा के राज मैदान में रैली को भी सम्बोधित किया था। जिसमें लोगों की भारी भीड़ जुटी थी। ये साल 2017 की बात है।

Narendra Modi
पीएम नरेंद्र मोदी की फोटो(सोशल मीडिया)

 जिन जगहों पर पीएम मोदी नहीं आ पाएंगे वहां पर सीएम योगी को बुलाने की मांग

उस समय सीएम योगी ने कहा था कि विदेशी मेहमानों को मुस्लिम प्रतीक नहीं हिंदुत्व से जुड़ी चीजें उपहार में दी जायेंगी। उन दिनों नीतीश कुमार लालू यादव के साथ हुआ करते थे।

गौर करने वाली बात ये भी है कि इस बार यूपी में भी उप चुनाव हो रहे हैं। जबकि सीएम योगी आदित्यनाथ की तैयारी बिहार में लगातार एक के बाद एक रैलियां करने की है।

उनकी यहां पर तकरीबन 18 रैलियाँ होगी।  यानी की एक दिन में कम से कम तीन। उहर बीजेपी की तरह ही जेडीयू के कई नेताओं ने अपने इलाक़े में सीएम योगी की रैली कराने की मांग आलाकमान से कर दी है। जहां –जहां मोदी की रैली नहीं होगी उन स्थानों पर सीएम योगी को बुलाने की बात कही जा रही है।

यहां देखें शेड्यूल

20 अक्टूबर को बिहार के कैमूर, अरवल और रोहतास में सीएम योगी की 3 चुनावी जनसभाएं रखी गई हैं। उसी दिन सीएम योगी सुबह 9 बजे बिहार के लिए लखनऊ से रवाना होंगे।  जिसके बाद पहली सभा कैमूर में 12 बजे दूसरी सभा अरवल में 2 बजे और तीसरी सभा रोहतास के विक्रम गंज में 3.15 बजे रखी गई है।

ये भी पढ़ें…चक्रवाती तूफान से तबाही: इन राज्यों में दो दिन होगी भारी बारिश, IMD का अलर्ट

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें – Newstrack App

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App