Top

लालू आवास पर अफरातफरी: आपस में भिड़े सुरक्षाकर्मी, पत्नी राबड़ी देवी रह रहीं यहां

राबड़ी आवास में तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) से मिलने आने वाले लोगों को सचिवालय की पुलिस वहां से हटा रही थी। जिसके बाद आवास पर तैनात सुरक्षाकर्मी उग्र हो गए और उन्होंने सचिवालय की पुलिस को वहां से भगाने की कोशिश की। जिसके बाद आवास पर तैनात सुरक्षाकर्मी और सचिवालय थाने की पुलिस के बीच झड़प हो गई।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 21 Jan 2021 7:55 AM GMT

लालू आवास पर अफरातफरी: आपस में भिड़े सुरक्षाकर्मी, पत्नी राबड़ी देवी रह रहीं यहां
X
लालू आवास पर अफरातफरी: आपस में भिड़े सुरक्षाकर्मी, पत्नी राबड़ी देवी रह रहीं यहां
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बड़ी खबर बिहार (Bihar) से सामने आ रही है, यहां पर राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री और लालू प्रसाद यादव की बीवी राबड़ी देवी (Former CM Rabri Devi) के आवास पर सुरक्षाकर्मी ही आपस में भिड़ गए, जिससे मौके पर अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया। देखते देखते गाली-गलौज के साथ ही मारपीट की भी नौबत आ गई। हालांकि किसी तरह मामले को काबू किया जा सका।

क्या है पूरा मामला?

मिली जानकारी के मुताबिक, राबड़ी आवास में तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) से मिलने आने वाले लोगों को सचिवालय की पुलिस वहां से हटा रही थी। जिसके बाद आवास पर तैनात सुरक्षाकर्मी उग्र हो गए और उन्होंने सचिवालय की पुलिस को वहां से भगाने की कोशिश की। जिसके बाद आवास पर तैनात सुरक्षाकर्मी और सचिवालय थाने की पुलिस के बीच झड़प हो गई।

यह भी पढ़ें: 8वीं कक्षा तक स्कूल खुलेंगे: इस दिन से छोटे बच्चे लेंगे क्लास, सरकार ने की तैयारी

पुलिसकर्मियों और सुरक्षाकर्मियों का क्या है कहना?

राबड़ी आवास के सुरक्षाकर्मी और सचिवालय की पुलिस के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि मौके पर गाली-गलौज के साथ ही मारपीट की भी नौबत आ गई। हालांकि किसी तरह मामले को काबू में किया जा सका। इस मामले में सचिवालय थाना पुलिस ने बताया कि वह आवास से भीड़ हटाने का काम कर रहे थे, जबकि राबड़ी आवास में तैनात सुरक्षाकर्मियों का कहना है कि जो लोग तेजस्वी यादव से मिलने आते हैं, उन्हें सचिवालय पुलिस जबरन यहां से भगा देती है।

यह भी पढ़ें: मॉब लिंचिंग से कांप उठा बिहार, भड़के लोगों ने आरोपी का किया ये हाल

भोला यादव ने कहा जबरन लोगों को रोकती है पुलिस

वहीं इस मामले में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता भोला यादव ने कहा कि यहां आने वाले लोगों को नेता विरोधी दल से मिलने से जबरन रोका जाता है। जबकि ऐसा करने का हक किसी को भी नहीं है। सचिवालय थाना के पुलिसकर्मी लोगों को जबरन भगा देते हैं। पार्टी ने डीजीपी से दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने की मांग की है।

यह भी पढ़ें: नीतीश कैबिनेट का विस्तार जल्द, भाजपा और जदयू के बीच बनी सहमति

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story