Top

लालू को याद आया ये दोस्त: लिखी भावुक चिट्ठी, इस बात के लिए मनाने में जुटे

राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव नाराज होकर राजद से इस्तीफा देने वाले वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह को मनाने में जुट गए हैं।

Shivani

ShivaniBy Shivani

Published on 10 Sep 2020 3:03 PM GMT

लालू को याद आया ये दोस्त: लिखी भावुक चिट्ठी, इस बात के लिए मनाने में जुटे
X
राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव नाराज होकर राजद से इस्तीफा देने वाले वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह को मनाने में जुट गए हैं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अंशुमान तिवारी

पटना। राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव नाराज होकर राजद से इस्तीफा देने वाले वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह को मनाने में जुट गए हैं। रघुवंश प्रसाद सिंह से पार्टी न छोड़ने की अपील करते हुए लालू ने उन्हें एक पत्र भी लिखा है। लालू की ओर से लिखी गई इस भावुक चिट्ठी में कहा गया है कि रघुवंश बाबू पहले आप स्वस्थ हो जाइए, फिर बैठकर बात करेंगे। आप एक बात पक्की समझ लीजिए कि आप कहीं नहीं जा रहे हैं।

नाराज नेता को मनाने की कवायद

लालू प्रसाद की इस चिट्ठी को नाराज राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह को मनाने की कवायद माना जा रहा है। सिंह ने गुरुवार की सुबह लालू प्रसाद यादव को 30 शब्दों की चिट्ठी लिखकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। लालू की ओर से इसी के जवाब में चिट्ठी लिखी गई है। रांची स्थित होटवार जेल के अधीक्षक की अनुमति मिलने के बाद लालू यादव का यह पत्र मीडिया को जारी किया गया है।

ये भी पढ़ेंः नेपाल बार्डर पर 600 किमी लंबाई में बनेंगी सड़कें, SSB चौकियों को जोड़ने की योजना

रघुवंश के इस्तीफे से राजद को बड़ा झटका

अपने छोटे से पत्र में रघुवंश प्रसाद सिंह ने लालू से कहा है कि मैं 32 वर्षों तक आपके पीछे खड़ा रहा है, लेकिन अब यह संभव नहीं हो पा रहा है। पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं और आम लोगों ने मुझे बड़ा स्नेह दिया। इस काम के लिए मुझे क्षमा करें। रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे को विधानसभा चुनाव से पहले राजद के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

रघुवंश प्रसाद सिंह रामा सिंह जी राजद में एंट्री के विरोध कर रहे थे इसे लेकर काफी दिनों से नाराज चल रहे थे। उनका इन दिनों एम्स में इलाज चल रहा है। इसके पहले में कोरोना संक्रमण का शिकार होने के बाद पटना स्थित एम्स में इलाज करा रहे थे।

तेज प्रताप ने की थी रघुवंश पर टिप्पणी

जानकारों का कहना है कि रघुवंश प्रसाद सिंह लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव के पूर्व में दिए गए बयान से भी नाराज थे। तेज प्रताप यादव ने कहा था कि समंदर से एक लोटा पानी निकाल लेने से कोई असर नहीं पड़ता।

ये भी पढ़ेंः भारत के लिए खतरा: खालिस्तानी आंदोलन को फिर से क्यों ज़िंदा करना चाहता है पाक?

हालांकि इस बयान को लेकर लालू यादव ने भी नाराजगी जताई थी और उन्होंने अपने बड़े बेटे को और रांची बुलाकर इस संबंध में फटकार भी लगाई थी।

समझ लीजिए कि आप कहीं नहीं जा रहे

लालू यादव की ओर से रघुवंश प्रसाद को लिखी गई चिट्ठी में कहा गया है कि आपके द्वारा कथित तौर पर लिखी गई चिट्ठी मीडिया में चलाई जा रही है। मुझे इस चिट्ठी पर विश्वास नहीं होता। मेरे और मेरे परिवार के साथ ही राजद परिवार भी आपको स्वस्थ होकर अपने बीच देखना चाहता है।

RJD on backfoot Lalu yadav writes letter to raghuvansh prasad singh after resignation

लालू यादव ने यह भी लिखा है कि तमाम वर्षों से हमने हर राजनीतिक, सामाजिक और पारिवारिक मुद्दों पर मिल बैठकर विचार किया है। आप जल्द स्वस्थ होकर लौटें तो फिर हम सब मिल बैठकर बात करेंगे मगर इसके साथ ही यह भी समझ लीजिए कि आप कहीं नहीं जा रहे हैं।

जदयू ने कसा राजद पर तंज

जनता दल यू ने रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे को लेकर राजद पर तंज कसा है। जदयू सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा कि बिहार की सम्मान की बात करने वाला राजद रघुवंश बाबू जैसी धरोहर का भी सम्मान नहीं कर सका।

ये भी पढ़ेंः भारत इतना शक्तिशाली: चीन-पाक को दहलाने की रखता ताकत, ऐसा है डिफेंस सिस्टम

उन्होंने कहा कि राजद आकंठ भ्रष्टाचार में डूबी हुई पार्टी है और ऐसी पार्टी को छोड़ने के लिए रघुवंश बाबू को सलाम किया जाना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि राजद धन की उगाही और टिकट बेचने में जुटी हुई है और ऐसी पार्टी से किसी धरोहर का सम्मान करने की उम्मीद नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि राजद ऐसी पार्टी है जिसमें किसी को सम्मान मिलेगा, यह बात सोचना भी बेमानी है।

RJD on backfoot Lalu yadav writes letter to raghuvansh prasad singh after resignation

राजद नेताओं ने साधी चुप्पी

उधर राजद का कोई भी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे पर बोलने के लिए तैयार नहीं है। रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के मोबाइल स्विच ऑफ हो गए और पार्टी के प्रवक्ताओं ने भी इस बाबत कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

ये भी पढ़ेंः जमानत के लिए गिड़गिड़ाई रिया, बोली- मैं बिल्कुल निर्दोष, जेल में मेरी जान को खतरा

माना जा रहा है कि इस मामले में लालू प्रसाद यादव के सीधे दखल के कारण कोई अन्य नेता अपनी जुबान खोलने के लिए तैयार नहीं है। उधर लालू प्रसाद यादव भी विधानसभा चुनाव से पहले रघुवंश प्रसाद सिंह को मनाने में जुट गए हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani

Shivani

Next Story