Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बदहवास महिला-इमरजेंसी गेटः घंटों बाद भी अस्पताल का प्रशासन रहा अंजान

बिहार में कोरोना की स्थिति हर दिन बद से बदतर होती जा रही है। यहां से अस्पताल की बदहाली की तस्वीर अक्सर सामने आती रहती है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 20 July 2020 10:18 AM GMT

बदहवास महिला-इमरजेंसी गेटः घंटों बाद भी अस्पताल का प्रशासन रहा अंजान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार में कोरोना की स्थिति हर दिन बद से बदतर होती जा रही है। यहां से अस्पताल की बदहाली की तस्वीर अक्सर सामने आती रहती है। जहां मरीजों को अपना इलाज कराने के लिए काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। बिहार में कोरोना संदिग्ध मरीज अस्पताल के बाहर पड़े हुए हैं और उनके इलाज के लिए लोगों को मिन्नतें करनी पड़ रही है। वहीं अस्पताल प्रशासन अपनी जिम्मेदारी से कोसो दूर है।

यह भी पढ़ें: फिर आगे बढ़ा चीन: सीमा पर युद्ध की ललकार, इस क्षेत्र में तैनात हुए चीनी सैनिक

इमरजेंसी वार्ड के बाहर पड़ी रही महिला

ताजा मामला बिहार के सीवान जिले से सामने आया है। जहां पर एक सदर अस्पताल के बाहर इमरजेंसी वार्ड (Emergency Ward) के ठीक सामने एक महिला सुबह से पड़ी हुई थी। सुबह से लगातार तेजी बारिश भी हो रही थी, ऐसे में महिला वहां पर भीगती हुई पड़ी रही। लेकिन इसके बाद भी अस्पताल प्रशासन महिला को केवल एक मूकदर्शन बन देखता रहा।

यह भी पढ़ें: योगी के निशाने पर अब ये अपराधीः जेल से हैं बाहर, बेखौफ रहे हैं घूम

सोशल मीडिया पर खबर वायरल होने के बाद भर्ती हुई महिला

वहीं, जब सिविल सर्जन यदुवंश शर्मा से इस बारे में जानकारी लेने की कोशिश की गई तो उन्होंने साफ कर दिया कि महिला कोरोना पॉजिटिव नहीं है। उन्होंने कहा कि डीएम ने मुझे जानकारी दी गई और हमने इस मामले में तुरंत संज्ञानि लिया। वहीं जब यह खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो इसके बाद यूजर्स का दावा है कि अस्पताल प्रशासन ने महिला को भर्ती कराया है और उसका इलाज किया जा रहा है। महिला का कोरोना जांच भी कराया जाएगा।

यह भी पढ़ें: बुरे फंसे शेखावतः अब कह रहे पहले सोर्स बताओ, SOG ने मांगा नमूना

यूजर ने कराया खबर से अवगत

सुबह से जमीन पर पड़ी रही महिला को पहले तो अस्पताल प्रशासन मूकदर्शन बने देखता रहा, लेकिन जब यह खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो इसके तुरंत बाद अस्पताल ने महिला को भर्ती किया। इस मामले में एक शिबली नाम की यूजर ने ट्वीट कर कहा कि हम मेरे घर के पास एक फल विक्रेता के बच्चे को सांप काटने के बाद सरकारी अस्पताल में भर्ती कराने के लिए ले गए, जहां मैंने एक भयानक दृश्य देखा।

यह भी पढ़ें: विकास दुबे एनकाउंटरः जांच समिति में शामिल करें शीर्ष कोर्ट का रिटा. जज

वहां पर एक बुजुर्ग महिला दर्द से छटपटा रही थी और अस्पताल परिसर में खुले आसमान के नीचे फर्श पर पड़ी हुई थी। जिस पर मैंने अटेंडेंट से पूछा, उसे क्या हुआ है, उसने जवाब दिया वह कोरोना पॉजिटिव है। जिसके बाद मैंने पूछा उसका इलाज क्यों नहीं किया जा रहा? तो उन्होंने कहा कि कोई भी उसकी देखभाल करने के लिए साथ नहीं है। वह अकेली है।

खबर वायरल होने के बाद जागा अस्पताल प्रशासन

मैंने फिर कहा कि अगर कोई उसकी मदद नहीं करेगा तो वह मर जाएगी, उन्होंने कहा कि हम क्या कर सकते हैं। उसके बाद यूजर ने महिला के इलाज के लिए बिहार के स्वास्थ्य मंत्री और मुख्यमंत्री से मदद की गुहार लगाई। जिसके बाद अस्पताल प्रशासन ने महिला को भर्ती कर उसका इलाज शुरू किया।

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड बंटा दो टुकड़ों मेंः कंगना और तापसी के बहाने पैनी की जा रही धार

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story