अदाणी ग्रुप ने विश्‍व के सबसे बड़े सौर ऊर्जा उत्पादक का दर्जा हासिल किया

अदाणी ग्रुप स्थिरता, विविधता और साझा मूल्यों के सिद्धांतों पर आधारित अपने सीएसआर प्रोग्राम के जरिये, तथा जलवायु संरक्षण पर जोर देने और सामुदायिक पहुंच बढ़ाने के साथ अपने व्यवसायों को जोड़ते हुए, अपने ईएसजी फुटप्रिंट बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है।

solar plant

अदाणी ग्रुप ने विश्‍व के सबसे बड़े सौर ऊर्जा उत्पादक का दर्जा हासिल किया (फोटो सोशल मीडिया)

लखनऊ/अहमदाबाद: परिचालन, निर्माणाधीन और प्रदत्त परियोजनाओं के मामले में, मेरकॉम कैपिटल द्वारा वैश्विक सौर कंपनियों की नवीनतम रैंकिंग में अदाणी ग्रुप को नम्‍बर वन वैश्विक सौर ऊर्जा उत्पादन संपत्ति के मालिक का दर्जा दिया गया है। अदाणी का अक्षय ऊर्जा पोर्टफोलियो पूरे अमेरिका के सौर उद्योग द्वारा 2019 में स्थापित कुल क्षमता से अधिक है और यह अपनी संपत्ति के जीवनकाल में 1.4 बिलियन टन से अधिक कार्बन डाइऑक्साइड को विस्थापित करेगा।

एकीकृत सौर कंपनियों में अडाणी ग्रुप

अदाणी ग्रुप दुनिया के सबसे अधिक एकीकृत सौर कंपनियों में से एक है, जो सोलर सेल और मॉड्यूल का निर्माण करता है, परियोजना विकास, निर्माण, वित्तीय संरचना आधारित उपक्रमों का संचालन करता है तथा स्वामित्व और अपने सुदृढ़ आंतरिक परिसंपत्ति प्रबंधन प्‍लेटफॉर्म के जरिये अपनी परिसंपत्तियों का परिचालन करता है।

एजीईएल के प्रगति की कहानी अक्षय ऊर्जा की वैश्विक विकास की कहानी को दर्शाती है, जो भारत के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा पेरिस में दिसम्‍बर 2015 में आयोजित सीओपी 21 इंटरनेशनल सोलर अलायंस की बैठक में किए गए साहसिक वादे के बाद साकार हुई है।

प्रधानमंत्री की दृष्‍टि अक्षय उर्जा की तरफ तेजी से बढ़ने की ओर है , जो अब इस तथ्य से साबित होता है कि भारत उन छह देशों में से एक है, और सीओपी 21 लक्ष्यों को पूरा करने की राह पर चलने वाला सबसे बड़ा देश है।

सबसे बड़ी सौर कंपनी की ओर

अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) ने 2015 में अपनी पहली सौर परियोजना की स्थापना की और 2017 में ही कंपनी ने दो सौर परियोजनाओं को पूरा कर दिया। कंपनी 2018 में पब्‍लिक लिस्‍टेड (एनएसई: ADANIGREEN) हुई।

2025 तक अक्षय ऊर्जा की 25 GWac स्थापित उत्‍पादन क्षमता हासिल करने के लक्ष्‍य के साथ, केवल 5 वर्षों की अल्‍प अवधि में ही की सबसे बड़ी सौर कंपनी होने का स्‍थान पाने के लिए अपनी उपस्थिति को तेज कर दिया है।

गौतम अदाणी कहते हैं

इस रैंकिंग के बारे में बताते हुए, अदाणी ग्रुप के अध्यक्ष गौतम अदाणी ने कहा कि “इस रैंकिंग को प्राप्त करना एक पर्यावरण हितैषी उर्जा के भविष्य के लिए आवश्यक बुनियादी ढाँचा तैयार करने की हमारी प्रतिबद्धता का सीधा परिणाम है।

gautam adani

जहां हमें दुनिया की सबसे बड़ी सोलर कंपनी का दर्जा पाने की खुशी है, वहीं हम मानते हैं कि जैसे-जैसे दुनिया डिकार्बनाइज्‍ड ऊर्जा परिदृश्य में प्रवेश करती जा रही है, हमारे लिए अभी बहुत कुछ करना शेष है।

हमारा अनुमान है कि अगले दशक में अक्षय ऊर्जा की लागत तेजी से कम होने और उद्योगों को फिर से बड़े पैमाने पर ले जाने वाली टेक्‍नोलॉजी की क्षमता के कारण पैदा हुए व्यवधान के परिणामस्वरूप कई व्यापार मॉडल प्रभावित होंगे।

उम्मीद

हम उम्मीद करते हैं कि हमारा अक्षय ऊर्जा का प्‍लेटफॉर्म हमारे मुख्य व्यवसाय के लिए नई संभावनाएं पैदा करेगा। हम मानव जाति के सामने आने वाली कुछ सबसे गंभीर समस्याओं का समाधान करने में सक्षम होंगे।

जिसमें अन्‍य कई समस्‍याओं के अलावा किफायती विकेंद्रीकृत ऊर्जा, स्वच्छ जल की उपलब्धता, एक वैकल्पिक ईंधन के रूप में ग्रीन हाइड्रोजन, और सूक्ष्म कृषि शामिल हैं।

प्रमुख उद्योगों, डेटा सेंटर प्रदाताओं, और अपने कार्बन फुटप्रिंट कम करने की सोच रखने वाली वैश्विक एकीकृत ऊर्जा कंपनियों के साथ साझेदारी करना भी हमारे विकास को गति प्रदान करेगा। एजीईएल केवल पांच साल पहले लॉन्च किया गया था, और अभी तो यह हमारी शुरुआत भर है।”

अग्रणी बना एजीईएल

एजीईएल ने 10.1 GW की परियोजनाओं की निर्माणाधीन और प्रदत्त क्षमता के संदर्भ में वैश्विक रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल किया है, जिससे यह मेगा-स्केल अक्षय ऊर्जा परियोजना स्‍थापित करने के मामले में निश्चित रूप से अग्रणी बन गया है।

इसे भी पढ़ें अडानी ग्रुप को चाहिए छह महीने, इस काम के लिए मांगा सरकार से वक्त

भारत द्वारा अधिक वैश्विक व्यापार भागीदारों को घरेलू निवेश करने के लिए आमंत्रित करने के साथ ही, एजीईएल को अपने बढ़ते अक्षय फुटप्रिंट प्राप्‍त करने की उम्‍मीद है क्योंकि कंपनियों की सहायता करने से एक साथ दो आवश्यक लक्ष्यों को पूरा करने में मदद मिलती है:

 

सबसे तेजी से बढ़ते उपभोक्ता बाजारों में से एक को हासिल करना और उनके स्थिरता (सस्‍टेनेबिलिटी) के लक्ष्यों को प्राप्त करना। अदाणी ग्रुप अपने सहयोगियों को इन दोनों उद्देश्यों को प्राप्त करने में मदद करने के लिए स्‍वयं इस मोड़ पर मौजूद है।

solar developers

ग्रुप के बारे में

अदाणी ग्रुप एक एकीकृत औद्योगिक समूह है, जो वैश्विक स्तर पर छह सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली कंपनियों का परिचालन करता है।

इन कंपनियों का कुल राजस्‍व 15 बिलियन अमेरिकी डॉलर और माके्रट कैपिटलाइजेशन ~ 30 बिलियन अमेरिकी डॉलर है। इसने पूरे भारत में विश्व स्तरीय परिवहन और उपयोगिता बुनियादी ढांचा तैयार किया है। अदाणी ग्रुप का मुख्यालय भारत के गुजरात राज्य में अहमदाबाद में स्‍थित है।

इसे भी पढ़ें अडानी ग्रुप को एयरपोर्ट सौंपने पर सियासत गरमाई, केरल ने किया विरोध

इन वर्षों में, अदाणी ग्रुप ने अपने परिवहन लॉजिस्टिक्स और ऊर्जा यूटिलिटी पोर्टफोलियो व्यवसायों में मार्केट लीडर होने के लिए भारत में बड़े पैमाने पर बुनियादी ढाँचे के विकास पर ध्यान केंद्रित किया है, जो वैश्विक मानकों के ओ एंड एम प्रथाओं के अनुरूप है। चार आईजी रेटेड व्यवसायों के साथ यह भारत में एकमात्र इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट ग्रेड जारीकर्ता है।

अदाणी ग्रुप अपनी सफलता और नेतृत्व की स्थिति का श्रेय, स्थायी विकास के लिए मार्गदर्शक सिद्धांत, ‘नेशन बिल्डिंग विथ गुडनेस’ से प्रेरित ‘राष्‍ट्र निर्माण’ के अपने मुख्य विचार को देता है। अदाणी ग्रुप स्थिरता, विविधता और साझा मूल्यों के सिद्धांतों पर आधारित अपने सीएसआर प्रोग्राम के जरिये, तथा जलवायु संरक्षण पर जोर देने और सामुदायिक पहुंच बढ़ाने के साथ अपने व्यवसायों को जोड़ते हुए, अपने ईएसजी फुटप्रिंट बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है।

अधिक जानकारी के लिए www.adani.com देखें।

ये है अदाणी ग्रीन

अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल; एनएसई: ADANIGREEN) अदाणी ग्रुप का एक हिस्सा है, जो 12 GWp से अधिक परिचालित, निर्माणाधीन और प्रदत्त सोलर पार्क वाली दुनिया की सबसे बड़ी सोलर कंपनी है।

इसे भी पढ़ें अडानी ग्रुप को मिला मुंबई एयरपोर्ट के संचालन का भी अधिकार

कंपनी यूटिलिटी-स्‍केल ग्रिड-कनेक्‍टेड सोलर एवं विंड फार्म प्रोजेक्‍ट का विकास, निर्माण, स्वामित्व, परिचालन और रखरखाव करती है। पैदा हुई बिजली निवेश-ग्रेड के समकक्षों को सप्‍लाई की जाती है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App