Top

कलयुग के श्रवण कुमार: मां के प्रति दिखाया सच्चा प्रेम, महिंद्रा भी हुए कायल

इस कलयुग के श्रवण कुमार ने अपनी मां के प्रति निस्वार्थ प्रेम दिखाते हुए अपनी नौकरी छोड़ने तक का फैसला कर लिया और अपनी मां को बजाज चेतक पर बैठा कर उन्हें तीर्थयात्रा कराने निकल पड़े।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 1 Oct 2020 11:17 AM GMT

कलयुग के श्रवण कुमार: मां के प्रति दिखाया सच्चा प्रेम, महिंद्रा भी हुए कायल
X
कलयुग के श्रवण कुमार: मां के प्रति दिखाया सच्चा प्रेम, महिंद्रा भी हुए कायल
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: आपने श्रवण कुमार की कहानी तो जरूर सुनी या पढ़ी होगी। श्रवण कुमार को एक आदर्श बेटे के रूप में जाना जाता है, जिन्होंने अपने माता-पिता की इच्छा को पूरा करने के लिए कंधे पर बिठाकर उन्हें चारों धाम के दर्शन कराए थे। लेकिन आज हम आपको आज के जमाने के श्रवण कुमार के बारे में बताने जा रहे हैं। सोशल मीडिया पर इन्हें कलियुग का 'श्रवण कुमार' नाम से पुकारा जा रहा है। जी हां, हम बात कर रहे हैं डी कृष्ण कुमार की।

मां को तीर्थ यात्रा कराने के लिए छोड़ी नौकरी

दरअसल, 39 वर्षीय डी कृष्ण कुमार ने अपनी मां को तीर्थ यात्रा कराने के लिए नौकरी छोड़ने तक का फैसला कर लिया और अपनी मां को बजाज चेतक पर बैठा कर उन्हें तीर्थयात्रा कराने निकल पड़े। अपनी मां के लिए कुमार के इस निस्वार्थ प्रेम को देख पूरा देश उनकी सराहना कर रहा है। सभी लोग उनकी कहानी सुन उनके कायल हो चुके हैं। बता दें कि डी कृष्ण कुमार बीते साल भी सुर्खियों में आए थे। तब उन्होंने अपनी 70 साल की मां को बजाज चेतक स्कूटर पर बैठा कर 57,000 किलोमीटर की यात्रा कराई थी।

यह भी पढ़ें: प्राचीन पवित्र छड़ी पहुंची बैजनाथ धाम, देश में सुख-समृद्धि, शांति के लिए विशेष पूजा-अर्चना

आनंद महिंद्रा (फोटो- सोशल मीडिया)

आनंद महिंद्रा डी कृष्ण कुमार के हुए कायल

कुमार की कहानी सोशल मीडिया पर इस वक्त खूब ज्यादा वायरल हो रही है। सभी लोग उनके कायल होते जा रहे हैं। देश के जाने-माने उद्योगपति और महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) तक भी डी कृष्ण कुमार की कहानी पहुंची, जिसके बाद उन्होंने कुमार को तोहफे में नई Mahindra KUV100 देने का फैसला किया है।

18 सितंबर 2020 को महिंद्रा कंपनी की तरफ से कुमार को एक नई Mahindra KUV100 कार दी गई। इस दौरान कुमार की मां भी वहां मौजूद रहीं। नई कार के मिलने के बाद कुमार ने अपनी मां को चामुंडेश्वरी मंदिर में प्रार्थना करने के लिए भेजा।

यह भी पढ़ें: अमीर बनी बुजुर्ग: इस मछली ने कर दिया मालामाल, मचा गया हर तरफ हल्ला

Laungi Bhuiyan लौंगी भुईंयां (फोटो- सोशल मीडिया)

लौंगी भुईंयां को तोहफे में दिया था ट्रैक्टर

बता दें कि इससे पहले आनंद महिंद्रा ने गया के लौंगी भुईंयां नाम के किसान के काम की भी सराहना की थी। जिसके बाद उन्होंने लौंगी भुईंया को एक ट्रैक्टर देने की पेशकश की थी, जिसे ट्विटर पर यूजर्स की तरफ से काफी सराहा गया। बता दें कि 70 साल के बुजुर्ग लौंगी भुईयां ने गांव वालों की मुश्किलों को दूर करने के लिए अकेले के दम पर पांच किलोमीटर लंबी नहर बना डाली है। बिहार के गया के रहने वाले लौंगी भुईयां ने अपनी तीस साल की कड़ी मेहनत से पहाड़ काट कर इतनी लंबी नहर तैयार की है।

उनको ट्रैक्टर देना मेरा सौभाग्य होगा

लौंगी भुईयां के इस निस्वार्थ कार्य को देख आनंद महिंद्रा कायल हो गए हैं। बता दें कि ट्विटर पर एक यूजर ने महिंद्रा को टैग करते हुए लिखा था कि गया के लौंगी माँझी ने 30 साल तक मेहनत कर नहर खोद दी। उन्हें एक ट्रैक्टर के सिवा अभी भी कुछ नहीं चाहिए। उन्होंने मुझसे कहा कि अगर उन्हें एक ट्रैक्टर मिल जाएगा तो उनकी काफी मदद हो जाएगी। इस ट्वीट का जवाब देते हुए आनंद महिंद्रा ने लिखा, "उनको ट्रैक्टर देना मेरा सौभाग्य होगा।"

यह भी पढ़ें: CM ने किया 62 नई योजनाओं का शिलान्यास, कहा कि सरकार दे रही स्वरोजगार

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story