×

अटल पेंशन योजना में हो सकते हैं ये बड़े बदलाव, जानिए क्या होगा फायदा

सरकार की पॉपुलर अटल पेंशन योजना में आने वाले दिनों में बड़ा बदलाव हो सकता है। पेंशन फंड नियामक पीएफआरडी (PFRDA ) ने अटल पेंशन योजना में उम्रसीमा बढ़ाने की सलाह दी है। नियामक ने कहा कि इस योजना में निवेश की उम्रसीमा 60 साल होनी चाहिए, जो अभी 40 साल है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 4 Jan 2020 3:39 PM GMT

अटल पेंशन योजना में हो सकते हैं ये बड़े बदलाव, जानिए क्या होगा फायदा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: सरकार की पॉपुलर अटल पेंशन योजना में आने वाले दिनों में बड़ा बदलाव हो सकता है। पेंशन फंड नियामक पीएफआरडी (PFRDA ) ने अटल पेंशन योजना में उम्रसीमा बढ़ाने की सलाह दी है। नियामक ने कहा कि इस योजना में निवेश की उम्रसीमा 60 साल होनी चाहिए, जो अभी 40 साल है।

बता दें कि इस अटल पेंशन योजना के तहत असंगठित क्षेत्र के कर्मचारी या खुद का रोजगार चलाने वाला कोई भी कर्मचारी या व्यक्ति इसमें निवेश कर सकता है। इसमें 18 साल से 40 साल तक की उम्र तक निवेश कर सकते हैं। अब इस योजना में निवेश की उम्रसीमा 40 से 60 हो सकती है।

पीएफआरडीए नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) और अटल पेंशन योजना को रेगुलेट करता है। नियामक ने वर्तमान में हर महीनें 5000 रुपये के पेंशन की सीमा को 10000 रुपये प्रति माह भी करने की सलाह दी है।

यह भी पढ़ें...ननकाना साहिब पर हमले से भारत में आक्रोश, SGPC प्रतिनिधिमंडल जाएगा पाक

अटल पेंशन योजना के तहत गारंटीड मिनिमम पेंशन क्रमश: 1000 रुपये, 2000 रुपये, 3000 रुपये, 4000 रुपये और 5000 रुपये है जो 60 साल की उम्र के बाद मिलेगी। लेकिन यह अंशधारकों की तरफ से किए गए योगदान पर निर्भर करता है।

अगर 60 साल से पहले ही योजना से जुड़े किसी व्‍यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो फिर उसकी पत्नी इस योजना में पैसे जमा करना जारी रख सकती है और 60 साल के बाद हर महीने पेंशन पा सकती है।

यह भी पढ़ें...कोटा में बच्चों की मौत पर पायलट ने CM गहलोत को घेरा, कहा- तय हो जिम्मेदारी

दूसरा विकल्‍प यह भी है कि उस व्‍यक्ति की पत्नी अपने पति की मौत के बाद एकमुश्त रकम का दावा कर सकती है। अगर पत्नी की भी मौत हो जाती है तो एक एकमुश्त रकम उनके नॉमिनी को दे दी जाती है।

यह भी पढ़ें...ओवैसी को मिली धमकी: क्रेन से उलटा लटकाकर काटूंगा तुम्हारी दाढ़ी, जानें पूरा मामला

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पेंशन नियामक ने सरकार से यह भी कहा है कि इनकम टैक्स की धारा 80सीसीडी (1बी) के तहत टीयर-1 एनपीएस अकाउंट में टैक्स छूट की सीमा को 1 लाख रुपये कर देना चाहिए। साथ ही यह भी कहा है कि सभी कैटेगरी के सब्सक्राइबर के एनपीएस के तहत केंद्र सरकार के कर्मचारी की तरफ से 14 प्रतिशत टैक्स फ्री योगदान को बढ़ाने पर विचार किया जाना चाहिए।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story